LS Home Tech: ZERO Movie Review जीरो फ़िल्म रिव्यु
You can search your text here....

Saturday, December 22, 2018

ZERO Movie Review जीरो फ़िल्म रिव्यु

दोस्तो ZERO हिंदी मूवी सिनेमा में आ चुकी है ओर आज हम इसी फ़िल्म की समीक्षा करेंगे।

फ़िल्म की लंबाई : 2 घंटे 44 मिनट

कलाकार : शाहरुख खान,सलमान खान,अनुष्का शर्मा,कटरीना कैफ

निर्देशक : आनंद एल. रॉय

फ़िल्म टाइप : रोमांस ड्रामा

फ़िल्म समीक्षा

कहानी
बउआ सिंह (शाहरुख खान) मेरठ का रहने वाला एक ऐसा शख्स है जो वर्टिकली चैलेंज्ड यानी बोना है, लेकिन वह दिल का बेहद अच्छा इंसान है। उसे आफिया (अनुष्का शर्मा) नाम की एक वैज्ञानिक लड़की से प्यार हो जाता है। आफिया सेरेब्रल पाल्सी डिजीज से पीड़ित है। दोनों की यह अनूठी प्रेम कहानी भारत से शुरू होकर अमेरिका पहुंच जाती है और वहां से अंतरिक्ष। इस प्रेम कहानी के सफर में बउआ और आफिया की ज़िंदगी में कई मुश्किलें आती हैं।
Zero movie download


समीक्षा 
एक अच्छे कॉन्सेप्ट के लिए जरूरी होता है कि उसका निर्माण भी उतनी ही कुशलता से किया जाए, लेकिन हर अच्छी कहानी को वह डायरेक्शन नहीं मिलता है, जिसकी वह हकदार है। 'जीरो' की कहानी बेहद दिलचस्प है और इसका कॉन्सेप्ट भी उतना ही प्रेरणादायक है। मेरठ से लेकर मंगल तक की इस कहानी को विज्ञान, ग्रहों के बीच के सफर और अविश्वसनीय प्यार जैसे विचारों के साथ पब्लिक के सामने परोसा गया है, लेकिन ऐसा करने के चक्कर में यह फिल्म कई जगह मात खा जाती है। ओर कहीं न कहीं डायरेक्शन की कमी दिखाई दे ही जाती है।
एक साथ कई विचारो और भावों को दिखाने के चक्कर में 'ज़ीरो' किसी एक के साथ भी न्याय नहीं कर पाती। हालांकि कुछ सीन बेहद दमदार है,वहॉं कुछ सीन स्क्रीन से ऐसे गायब हो जाते हैं जैसे कोई जादू कर रहा हो।
फिल्म में शाहरुख खान और जीशान आयुब के बीच कुछ कॉमेडी सीन्स हैं और वे जानदार भी हैं। फिल्म के गाने 'मेरे नाम तू' को शाहरुख ने अपने डांस से मस्त और एंटरटेनिंग बना दिया है। कुल मिलाकर, यह फिल्म आपको अच्छी तो लगेगी, लेकिन अगर सिर्फ मनोरंजन के तौर पर इस फिल्म को देखने का प्लान है तो कोई फायदा नहीं क्योंकि मनोरंजन का तत्व फिल्म की कहानी से गायब है।
ZERO full movie free download


सबसे अच्छी बात यह है कि फिल्म के इन किरदारों ने अपने फिजिकल चैलेंजेस को अपने स्वभाव और मिज़ाज पर हावी नहीं होने दिया है। शाहरुख खान तो रोमांस के बादशाह हैं ही और उन्होंने फिल्म में अपना रोमांटिक किरदार पर्फेक्शन के साथ निभाया है। बौने के किरदार में शाहरुख खान जमे हैं। कटरीना कैफ का रोल भी बेहद छोटा है, लेकिन उन्होंने भी अपने किरदार से पब्लिक को इंप्रैस किया है। जहां तक अनुष्का शर्मा के किरदार की बात है तो उसमें काफी संभावनाएं थीं और उसे और भी जानदार बनाया जा सकता था। अनुष्का ने सेरेब्रल पाल्सी से पीड़ित का किरदार निभाने के लिए जो व्यावहारिक चित्रण किया, वह कुछ खास नहीं लगा। अनुष्का ने अपने रोल के साथ नया नही किया ऐसा इस फ़िल्म को देखने के बाद आपको लगेगा। जो कि फ़िल्म की सफलता पर प्रश्नचिन्ह लगाती है।

फ़िल्म समीक्षक रेटिंग : 3/5
दर्शक रेटिंग : 2.5/5

My Facebook :  Lee.Sharma

No comments:

Post a Comment