LS Home Tech: March 2019
You can search your text here....

Sunday, March 31, 2019

आधार कार्ड पैन कार्ड से लिंक करवाना क्यों जरूरी हो गया है? why PAN Card and Aadhaar Card link is necessary.

नमस्कार आपका हमारे वेब पोर्टल पर बहुत स्वागत है, हमारे इस पोर्टल पर आप Technology और Education से सम्बंधित जानकारी पा सकते हैं। आज के इस लेख में हम आपके लिए लाये हैं आधार कार्ड और पैन कार्ड से सम्बंधित जानकारी दोनों को आपस में लिंक करवाने हेतु। आइये जान लेते हैं की क्या है आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक प्रक्रिया। अगर किसी ने अभी तक अपने पैन/PAN/Personal Account Number को आधार/AADHAAR से लिंक नहीं कराया है तो 31 मार्च 2019 तक आपके पास मौका है। अगर अभी भी आप अपने पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक नहीं कराते हैं, तो बाद में आपको कराना ही पड़ेगा, लेकिन ये बात जरूर ध्यान रखें की इस बीच आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। अगर किसी ने अपने पैन/PAN को आधार/AADHAAR से लिंक नहीं कराया तो उनको इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। इनमे आपको बैंक अकाउंट/Bank account तक के प्रभावित होने का खतरा है। हालांकि पैन/PAN और आधार को लिंक कराना काफी आसान हो गया है। लोग चाहें तो इसे एक सामान्य एसएमएस/SMS/Short Messaging Service भेज कर भी करा सकते हैं। आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंकिंग/PAN Card-Aadhaar Card linking के लिए सुप्रीम कोर्ट/Supreme court भी आदेश दे चुका है।  
why PAN Card and Aadhaar Card link is necessary.
Link you Aadhaar card and PAN Card 
ये भी पढ़ें :

आइये जान लेते हैं क्या हो सकते हैं नुकसान 31 मार्च 2019 तक अगर किसी ने अपने पैन नम्बर/PAN को आधार/AADHAAR से लिंक नहीं कराया तो। 
  1. पैन/PAN) नहीं रह जाएगा किसी काम का। 
  2. इनकम टैक्स रिफंड/Income Tax Refund भी नहीं मिलेगा।
  3. इस पैन/PAN) से नहीं हो पाएगा डाटा सर्च। 
  4. बड़े वित्तीय लेनदेन/Financial transaction नहीं कर पाएंगे। 
  5. बैंक अकाउंट हो जाएगा प्रभावित। 
  6. बैंक 20 फीसदी के हिसाब से काटेंगे टीडीएस/TDS। 
  7. इस 20 फीसदी के हिसाब से कटे टीडीएस/TDS पर नहीं मिलेगी टैक्स/tax छूट। 
  8. इनकम टैक्स रिटर्न/income tax return नहीं हो पाएगा फाइल। 
  9. किसी भी तरह का लोन/loan लेने में आएगी दिक्कत। 
  10. वाहन/Vehicle नहीं खरीद पाएंगे। 


आइये अब जान लेते हैं की ये कुछ नुकसान आपको कैसे हो सकते हैं अगर आपने आधार कार्ड और पैन कार्ड को लिंक नहीं करवाया तो। 

आइये समझें कैसे होंगे ये नुकसान : जैसा की आप सभी को पता होगाकी पैन/PAN CARD सभी के बैंक अकाउंट में जुड़ा हुआ है। अगर अब भी आपने 31 मार्च 2019 तक अपने पैन PAN को आधार से लिंक नहीं कराया तो आपका पैन इनवैलिड/invalid हो जाएगा। जैसे ही पैन इनवैलिड होगा, इसका असर सीधे आपके बैंक खाते पर भी पड़ेगा। बैंक खाते/Bank account में जुड़ा पैन नंबर बेकार हो जाएगा, और इसके बाद बैंक ऐसे खातों को बिना पैन का मान कर ही treat करेगा। अगर आपका टीडीएस/TDS कटता है तो बिना पैन के यह 20% की दर से कटने लगेगा। इस टीडीएस/TDS पर आप इनकम टैक्स/Income tax की राहत भी नहीं ले पाएंगे । इसके अलावा भी बैंक/Bank किसी भी तरह के Loan और बड़े वित्तीय लेनदेन के लिए पैन और इनकम टैक्स रिटर्न/income tax return की स्लीप मांगते हैं। अगर ये नहीं होगा तो आप लोन/loan नहीं नहीं ले पाएंगे। साथ ही बिना लोन के कोई भी वाहन खरीदना भी कठिन हो जाएगा।


आइये जान लें किन-किन तरीकों से आप आधार कार्ड और पैन कार्ड को आपसे में लिंक कर सकते हैं। 

किसी भी बैंक में जाकर जहाँ आपका खाता/Account  हो। पैन और आधार को लिंक करवा सकते हैं। इसके लिए आपको अपने बैंक में आधार कार्ड की फोटो कॉपी जमा करवानी होगी। 
आजकल लगभग सभी के पास मोबाइल फोन/mobile phone है, और ये काम मोबाइल फोन से ही 3 तरीकों से किया जा सकता है। पहला है एप/App के माध्यम से और दूसरा है एसएमएस/SMS भेज कर और तीसरा है इनकम टेक्स विभाग की वेबसाइट पर जाकर। 
अगर आपके अपने  बैंक की App को इस्तेमाल करने का तरीका आता है तो भी आप इसके द्वारा आधार कार्ड और पैन कार्ड को खुद लिंक कर सकते हैं। 
आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंकिंग के लिए दोनों में नाम और उम्र का विवरण एकसा होना चाहिए पैन/PAN तभी Aadhaar से लिंक कराया जा सकेगा। अगर इन विवरण में कुछ अंतर है तो पैन और की लिकिंग नहीं हो सकती है। ऐसे में आपको पहले पैन या आधार कार्ड में करेक्शन(जरूरी बदलाव) कराना होगा।


अगर दोनों आधार कार्ड और पैन कार्ड का विवरण एकसा हैं तो ऐसे कराएं लिंक सबसे पहले अपने मोबाइल फोन में Link Aadhaar to PAN card नाम का एप डाउनलोड (download) करें। ये एप/App बिलकुल फ्री है। एप डाउनलोड करने के बाद खोलेंगे तो होमपेज पर Link Aadhaar With Pan Card का बटन दिखाई देगा। अब इस ऑप्शन को खोलें। इसके बाद अपना विवरण भरना होगा। इस विवरण में पैन/PAN का नबंर डालना है और उसके बाद आधार नबंर/Aadhaar Number। इसके बाद ये करना होगा इसके बाद आपको एक कैप्चा कोड/captcha code  भरना होगा। इसके लिए Enter the code as in above image लिखा दिखाई देगा। इस कैप्चा कोड को भरने के बाद लिंक आधार/Link Aadhaar बटन को दबाएं। इसके बाद मोबाइल पर आधार पैन लिकिंग प्रोससे कंप्लीट सक्सेस्स्फुल्ली/Aadhaar PAN Linking Is Completed successfully लिखकर आएगा। इसका मतलब होता है कि आपका पैन PAN Card और आधार/Aadhaar card आपस में लिंक हो चुके हैं।


एसएमएस/SMS के माध्यम से लिंकिंग करने का तरीका :  आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक कराने का दूसरा और सबसे आसान तरीका है एसएमएस/SMS के माध्यम से। इसके लिए मोबाइल फोने के मैसेज बॉक्स को खोलें और एक मैसेज टाइप करें जैसे की हम आगे बता रहे हैं। मैसेज इस तरह से लिखें - "UIDPAN----स्पेस----12 अंक का आधार नंबर----स्पेस----10 अंक का पैन नंबर" इस उदहारण से समझें जैसे - UIDPAN 123456789234 ABDDE0125R। ये सब लिखने के बाद इस मैसेज को 567678 या 56161 नबंर पर भेज दें। जैसे ही एसएमएस/SMS आप भेजेंगे, आपका आधार और पैन स्वत लिंक हो जाएगा।


इनकम टैक्स विभाग/Income Tax Department की वेबसाइट पर जाकर भी आप आधार कार्ड और पैन कार्ड को लिंक करवा सकते है। इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जाकर करना क्या है आइये सिख लें, इस वेबसाइट को आप इस लिंक पर क्लीक करके खोल सकते हैं Income Tax Website इस वेबसाइट पर जाकर आप कुछ ही मिनटों में यह काम आसानी से कर सकते हैं। आप इस वेबसाइट पर जाकर ये भी पता कर सकते है की आपका आधार कार्ड और पैन कार्ड लिंक है भी या नहीं। 


हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।



Friday, March 29, 2019

जीआरई परीक्षा/GRE Exam क्या होती है? सम्पूर्ण जानकारी। योग्यता, आवेदन, सिलेबस।

आज के इस आर्टिकल में जीआरई परीक्षा/GRE Exam योग्यता, आवेदन, सिलेबस, पैटर्न, परिणाम आदि संम्पूर्ण प्रक्रिया पर विस्तार से प्रकाश दाल रहे हैं, इस आर्टिकल में आपको इस परीक्षा से सम्बंधित लगभग हर सवाल का जवाब मिल जायेगा। कृपया पोस्ट को पूरा पढ़ें।  IELTS की जानकारी यहाँ पढ़ें।
what is GRE exam? GMAT

जीआरई परीक्षा/GRE Exam/Graduate Record Examination एक स्नातक रिकार्ड परीक्षा, जो की एक अंतरराष्ट्रीय मानकीकृत परीक्षा है, यह संयुक्त राज्य अमेरिका/USA में स्नातक स्कूलों में प्रवेश के लिए आवश्यक है। जीआरई परीक्षा/GRE Exam शिक्षा परीक्षण सेवाओं (ETS) द्वारा आयोजित की जाती है। GRE Exam सालाना तीन बार ऑफ़लाइन/offline मोड में और पूरे वर्ष ऑनलाइन/Online मोड में आयोजित किया जाता है।
यह परीक्षा उम्मीदवारों के मौखिक तर्क, विश्लेषणात्मक लेखन, मात्रात्मक तर्क, और महत्वपूर्ण सोच कौशल व बुद्धि का आकलन करती है। कोई भी उम्मीदवार इस परीक्षा को 12 महीने की अवधि में अधिकतम पांच बार ले सकता है। जीआरई परीक्षा/GRE Exam का स्कोर 5 साल तक वैध होता है। इस परीक्षा के लिए दुनिया भर से उम्मीदवारों द्वारा भाग लिया जाता है। जीआरई परीक्षा/GRE Exam में मौखिक तर्क, विश्लेषणात्मक लेखन व मात्रात्मक तर्क पर प्रश्न शामिल किये जाते हैं। जीआरई विषय परीक्षा अध्ययन के विशेष क्षेत्र में कैंडिडेट के ज्ञान का आकलन करती है।


जीआरई परीक्षा आवेदन संबधी कुछ समान्य जानकारी। 
परीक्षा का नाम/Exam Name = स्नातक रिकार्ड परीक्षा /जीआरई/Graduate Record Examination (GRE
परीक्षा का संचालन/Conducting Body = शिक्षा परीक्षण सेवाएं /ईटीएस/Education Testing Services /ETS
आधिकारिक वेबसाइट/Official Website www.ets.org/gre
परीक्षा स्तर/Exam Level/अंतर्राष्ट्रीय स्तर/International level
आवेदन शुल्क/Application fee = $ 205 to $ 230
आवेदन का तरीका/Mode of Application = ऑनलाइन और ऑफ़लाइन/Online and Offline
परीक्षा का तरीका/Mode of Exam = कंप्यूटर अनुकूली परीक्षण/Computer adaptive test
जीआरई हेल्पलाइन/GRE Helpline = 1-60 9-771-7670, 1-866-473-4373

कैसे करे आवेदन और जीआरई परीक्षा शुल्क/GRE Exam fee क्या होगा?
इसके लिए कैंडिडेट को इसकी आधिकारिक वेबसाइट GRE Website  या फोन के माध्यम से ऑनलाइन जीआरई परीक्षा/GRE Exam के लिए पंजीकरण कर सकते हैं। आप ई-मेल द्वारा भी जीआरई जनरल टेस्ट प्राधिकरण वाउचर का भी अनुरोध कर सकते हैं। आपका पंजीकरण पसंदीदा परीक्षा तिथि से कम से कम 2 व्यावसायिक दिन पहले किया जाना चाहिए। एक कैंडिडेट पंजीकरण कर रहे क्षेत्र के आधार पर जीआरई पंजीकरण शुल्क यूएस/US $ 205 से $ 230 के बीच होता है। यूएस/US डॉलर में पंजीकरण और अन्य सर्विसेज के लिए जीआरई शुल्क का भुगतान किया जाना होता है। यदि यह उपलब्ध नहीं है, तो शुल्क का भुगतान समकक्ष/समान मूल्य की स्थानीय मुद्रा में भी किया जा सकता है। 

ये भी पढ़ें :
जीआरई परीक्षा सामान्य जानकारी जो आपको पता होनी चाहिए। 
  1. जीआरई जनरल टेस्ट अमेरिका के विश्वविद्यालयों और दुनिया भर के अन्य देशों के विभिन्न क्षेत्रों में परा-स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले कैंडिडेट के लिए है। 
  2. जीआरई परीक्षा को हर 21 दिनों में एक बार और 12 महीने की अवधि में 5 लिया जा सकता है। 
  3. यह ऑनलाइन और ऑफ़लाइन मोड दोनों में 160 से अधिक देशों में 1000 से अधिक केंद्रों में उपलब्ध है।
  4. ऑनलाइन और ऑफ़लाइन मोड दोनों में स्लॉट पहले-सह-प्रथम-सेवा के आधार पर भरे जाते हैं। 
  5. जीआरई कंप्यूटर-डिलीवरी परीक्षण की अवधि 3 घंटे और 45 मिनट है और जीआरई पेपर-डिलीवरी परीक्षण 3 घंटे और 30 मिनट है। 
    what is GRE exam? GMAT
जीआरई परीक्षा/GRE Exam विषय परीक्षण/Subject Test। 
  1. जीआरई विषय परीक्षण/Subject Test एक विशिष्ट क्षेत्र में ज्ञान का परीक्षण करने के लिए है, प्रत्येक विषय के लिए एक अलग पेपर होते है। 
  2. जीआरई विषय परीक्षण सितंबर/September, अक्टूबर/October और अप्रैल/April में सालाना तीन बार पेपर-डिलीवर प्रारूप में उपलब्ध होता है।
  3. जीआरई विषय परीक्षा/Subject Test में जीव विज्ञान के माध्यम से छह विषयों का परीक्षण किया जाता है, रसायन विज्ञान/Chemistry, अंग्रेजी में साहित्य/English literature, अंक शास्त्र, भौतिक विज्ञान, और मनोविज्ञान। 6 विषयों में से प्रत्येक के लिए परीक्षा की अवधि 2 घंटे और 50 मिनट है। 

बिजनेस स्कूल हेतु जीआरई परीक्षा/GRE Exam

  1. जीआरई परीक्षा/GRE Exam स्कोर दुनिया भर के हजारों बिजनेस स्कूलों द्वारा स्वीकार किया जाता है, जिसमें हार्वर्ड बिजनेस स्कूल, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, एचईसी पेरिस, लंदन बिजनेस स्कूल और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय/Oxfoard university जैसे आईवी लीग शामिल हैं। 
  2. जीआरई जनरल टेस्ट ओवरटाइम सीखा मानकों पर अभ्यर्थियों का आकलन करता है, इसलिए, जीमैट/GMET की तुलना में जीआरई पर यह आसान स्कोर है। 
  3. जीआरई जीमैट या किसी अन्य इंटरनेशनल मैनेजमेंट प्रवेश परीक्षा से कम लागत है, जो उम्मीदवारों को समान योग्यता पर मापता है। 

लॉ/LAW  स्कूल हेतु जीआरई परीक्षा/GRE Exam

  1. वर्तमान समय में कानून का अभ्यास करना उम्मीदवारों के लिए सबसे आकर्षक करियर ऑप्शन है। जेडीई/JDE कार्यक्रम के लिए कई कानून विद्यालयों में प्रवेश के लिए जीआरई जनरल टेस्ट को मान्यता दी गई है। 
  2. जुरीस डॉक्टर/JD  कानून में एक प्रवेश प्रोफेशनल डिग्री है, यह मूल रूप से स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम है और इसका उपयोग यूएस, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, हांगकांग और सिंगापुर में कानून का अभ्यास करने वाले के लिए किया जाता है। 


जीआरई परीक्षा के लिए तय योग्यता/Eligibility for GRE Exam

  1. जीआरई परीक्षा (GRE Exam) के लिए एकमात्र पात्रता आवश्यकता आपकी पहचान साबित करने के लिए आवश्यक दस्तावेज होते हैं। भारत में आपको एक वैध पासपोर्ट की आवश्यकता होगी, जिसमे आपको अपना मूल पासपोर्ट (फोटोकॉपी/प्रतिलिपि नहीं) प्राप्त करना होगा, जिसमे स्पष्ट रूप से आपका पूरा नाम, फोटो और हस्ताक्षर दिखाता हो। 
  2. इस योग्यता आवश्यकता के अलावा, ईटीएस/ETS  कोई आयु, योग्यता, समय से संबंधित पूर्व-आवश्यकताएं निर्धारित नहीं करता है, हालांकि, विश्वविद्यालयों द्वारा निर्धारित योग्यता मानदंडों की एक श्रृंखला होगी जो जीआरई/GRE स्कोर स्वीकार करते हैं। उनके प्रत्येक कार्यक्रम के लिए, उनके पास न्यूनतम आयु, अनुभव और योग्यता से संबंधित हो सकते हैं। 
  3. पासपोर्ट के आलावा कोई अन्य दस्तावेज (जन्म प्रमाण पत्र, अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि) को वैकल्पिक पहचान प्रमाण के रूप में उपयोग नहीं किया जा सकता है, वे इसके बारे में बहुत सख्त हैं। 

जीआरई परीक्षा/GRE Exam ऑनलाइन मोड/Online Mode 

  1. मास्टरकार्ड, एमएईएक्स, वीआरए, डिस्कवर, चीन यूनियनपे, डायनर्स क्लब, या जेसीबी क्रेडिट/डेबिट कार्ड का उपयोग कर जीआरई आवेदन शुल्क ऑनलाइन भुगतान किया जा सकता है। 
  2. आवेदन शुल्क सीधे बैंक खाते से ट्रांफर भी किया जा सकता है, बशर्ते यह एक यूएस बैंक/US Bank  है। 
  3. यूएस/US  बैंक खातों के खिलाफ केवल ई-चेक के माध्यम से ही भुगतान किया जा सकता है। 
  4. यदि आपके पास पेपैल/PayPal खाता है, तो पेपैल का उपयोग करके भी इसका भुगतान किया जा सकता है। 

जीआरई परीक्षा/GRE Exam ऑफ़लाइन मोड/Offline Mode 

  1. इसमें पंजीकरण/registration  फॉर्म के साथ ईटीएस को भेजे गए केवल मनी ऑर्डर या पेपर चेक ही स्वीकार्य हैं। 
  2. आवेदन शुल्क का नकद भुगतान/cash payment की अनुमति नहीं है। 

जीआरई परीक्षा विषय परीक्षण (GRE Exam Subject Testing)

  1. प्रत्येक विषय परीक्षण की समय सिमा 2 घंटे और 50 मिनट होती है। 
  2. इसमें अलग-अलग छ: विषय परीक्षण हैं - जीवविज्ञान, रसायन विज्ञान, अंग्रेजी में साहित्य, गणित, भौतिकी और मनोविज्ञान है। 
  3. मनोविज्ञान में मनोविज्ञान के क्षेत्र में स्नातक स्तर पर दिए गए पाठ्यक्रमों के ज्ञान से 205 एकाधिक प्रकार के प्रश्न शामिल होते हैं। 
  4. अंग्रेजी में साहित्य में कविता, नाटक, जीवनी, निबंध, लघु कहानी, उपन्यास, आलोचना, साहित्यिक सिद्धांत और अंग्रेजी भाषा का इतिहास पर लगभग 230 प्रश्न शामिल होते हैं। 
  5. जीव-विज्ञान परीक्षण में तीन प्रमुख क्षेत्रों से 190 पांच ऑप्शन वाले प्रश्न होते हैं। जिसमे सेलुलर और आण्विक जीवविज्ञान, जीवंत जीवविज्ञान, पारिस्थितिकी और विकास होते हैं  
  6. रसायन परीक्षण में चार क्षेत्रों से लगभग 130 एकाधिक विकल्प प्रश्न होते हैं, जिसमें रसायन शास्त्र पारंपरिक रूप से विभाजित किया गया है। 
  7. गणित परीक्षण स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों से 66 एकाधिक ऑप्शन प्रश्नों से बना है। 
  8. भौतिकी परीक्षण में भौतिक विज्ञान के मौलिक सिद्धांतों और ऐसे सिद्धांतों को लागू करने की उनकी क्षमता की उम्मीदवार की स्पष्टता का आकलन करने के उद्देश्य से 100 पांच ऑप्शन वाले प्रश्न होते हैं। 
जीआरई पंजीकरण को फिर से स्थापित और रद्द करना/Reinstate and cancel GRE Exam Registration

  1. अभ्यर्थियों के पास जीआरई के लिए चुनी गई परीक्षा तिथि को फिर से निर्धारित या रद्द करने का विकल्प मौजूद होता है। 
  2. यदि आप अपना केंद्र बदलना चाहते हैं या परीक्षण को फिर से निर्धारित करना चाहते हैं, तो इसके लिए अतिरिक्त शुल्क ($50) हैं। 
  3. यदि उम्मीदवार दिए गए दिशानिर्देशों का उचित पालन नहीं करते हैं, तो पूर्ण टेस्ट शुल्क जब्त कर लिया जाएगा।
  4. कैंडिडेट को इसके लिए उन्हें लागू होने पर अतिरिक्त रद्दीकरण या पुन: निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा। 
  5. पुनर्वितरण/Reinstate या रद्दीकरण/Rejection  परीक्षण तिथि से कम से कम चार दिन पहले किया जाना चाहिए।
  6. परीक्षण शुल्क और पंजीकरण जीआरई, जीएलई टेस्ट और जीआरई सबजेक्ट टेस्ट के बीच आदान-प्रदान नहीं किया जा सकता है। 
    what is GRE exam? GMAT

ध्यान दें :  कैंडिडेट उपरोक्त प्रक्रिया के बाद परीक्षण केंद्र में बदलाव का अनुरोध कर सकते हैं। परीक्षण केंद्र की पसंद केवल तभी स्वीकार की जाएगी जब चयनित केंद्र में कोई सीट मौजूद होगी। वैकल्पिक रूप से, एक उम्मीदवार पुष्टिकरण ई-मेल के साथ परीक्षण दिवस पर पसंदीदा परीक्षण केंद्र को रिपोर्ट भी कर सकता है।  यदि केंद्र उम्मीदवार को समायोजित कर सकता है, और परीक्षण उपलब्ध है तो इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं होगा। 

अन्य जानकारी हमारे अगले आर्टिकल में पढ़ें...............................................



हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।


Thursday, March 28, 2019

इनफार्मेशन ऑफिसर पद क्या होता है। इस नोकरी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? Role of an Information Officer

दोस्तो नमस्कार हमारे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है, आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं इनफार्मेशन ऑफिसर/Information Officer की जॉब ओर उनके कार्यों से संबंधित जानकारी। कृपया पूरी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। Information Officer का पद केंद्र व राज्य सरकार के जन-संपर्क से जुड़े विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों, शैक्षणिक संस्थानों, सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों आदि से सम्बंधित होता है। Information Officer की नियुक्ति संबंधित संगठन के अंतर्गत सूचना एवं जन-संपर्क कार्यों को निपटाने के लिए किया जाता है। Information Officer का पद संबंधित विभाग की रिक्ति के अनुसार द्वितीय श्रेणी का होता है, यानि ये B ग्रेड की जॉब श्रेणी। इनका कार्य होता है कि वह संबंधित विभाग या संगठन में जन-संपर्क या सूचना के अधिकार से जुड़े कार्यों का संचरण करे। किसी भी संगठन या संस्थान की छवि आम जनमानस में कैसी बनती है, क्या संदेश नागरिकों नागरिकों तक पहुंचाना है, इसे लोगों तक पहुंचाने के लिए क्या-क्या माध्यम होने चाहिए इत्यादि सभी जिम्मेदारियां एक Information Officer  की ही होती है। कई संगठनों में Information Officer का पद पब्लिक रिलेशन ऑफिसर के साथ-साथ होता है, जिसके तहत प्रेस-मीडिया/Press-Media से जुड़े कार्यों को भी निपटाने की जिम्मेदारी भी इनकी की ही होती है।
ये भी पढ़ें :


इनफार्मेशन ऑफिसर पद क्या होता है

Information Officer की भूमिका संबंधित किसी भी विभाग में जन-संपर्क से जुड़े कार्यों, सूचना के अधिकार के पालन को सुनिश्चित करने के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण होती है। Information Officer बनने के लिए जरूरी स्किल्स में से एक जरूरी स्किल्स ये भी है कि आपको सूचना के अधिकार के कानूनों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, इसमें आपको ये भी ध्यान रखना पड़ता है की संगठन की छवि को आम जनता में किस प्रकार बनाना है, और साथ प्रेस और मीडिया के कार्यों को कैसे पूरी करना है, इन सभी में आपको सक्षम होना चाहिए।

Information Officer बनने के लिए योग्यता। 
Information Officer बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी विषय में स्नातक/ग्रेजुएशन उत्तीर्ण होना चाहिए, तथा साथ ही किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से जन-संपर्क में एक वर्षीय डिप्लोमा या दो वर्षीय डिग्री भी की भी की हुई होनी चाहिए। Information Officer बनने के लिए आपकी अंग्रेजी भाषा और कंप्यूटर अप्लीकेशन/Computer Application पर अच्छी पकड़ होना भी अनिवार्य है।


Information Officer पद के लिए चयन प्रक्रिया।
Information Officer के पद पर उम्मीदवारों का चयन आमतौर पर शैक्षणिक रिकॉर्ड, लिखित परीक्षा और व्यक्तिगत इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है। इस इंटरव्यू में विधिक-क्षेत्र से संबंधित प्रावधानों, सवालों, पूर्व कार्य अनुभव, सामान्य ज्ञान और समसामयिकी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। 

Information Officer बनने के लिए आयु सीमा।
Information Officer बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार की उम्र 21 साल से 35 साल के बीच हो। हालांकि, कुछ संस्थानों में अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष या अधिक भी हो सकती है। आरक्षित श्रेणी/Reserve catagory   के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा सरकार के नियमानुसार छूट भी दी जाती है।



Information Officer की सैलरी।
Information Officer के पद पर छठें वेतन आयोग के Pay-Band के अनुरूप रु. 9300-34800 + Grade Pay 4300 सैलरी दी जाती है। यदि Information Officer के पद पर संविदा के आधार पर भर्ती की जाती है, तो आमतौर पर 50,000 रूपये प्रति माह तक वेतन दिया जाता है। वहीं, राज्य सरकारों के विभागों एवं संस्थानों में वेतनमान संबंधित राज्य के समकक्ष स्तर पर निर्धारित वेतनमान के अनुसार दिया जाता है जो कि हर राज्य के अनुसार उनका वेतनमान अलग-अलग होता है।
इनफार्मेशन ऑफिसर पद क्या होता है

Information Officer  की नौकरी कहां मिलेगी। 
Information Officer  का पद केंद्र और राज्य सरकार के जन-संपर्क से जुड़े विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों, शैक्षणिक संस्थानों, सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों, आदि में होने के कारण इस पद के लिए रिक्तियां समय-समय पर इन्हीं संस्थानों में निकलती रहती हैं। इन सभी रिक्तियों/खली पदों के बारे में भारत सरकार के प्रकाशन विभाग से प्रकाशित होने वाले रोजगार समाचार, दैनिक समाचार पत्रों एवं सरकारी नौकरी की जानकारी देने वाले पोर्टल्स या मोबाइल अप्लीकेशन के माध्यम से आप जानकारी प्राप्त हैं। 



हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।







Wednesday, March 27, 2019

एसएससी सीजीएल जॉब क्या है? एसएससी डेस्क जॉब। SSC CGL job, SSC desk job.

दोस्तों नमस्कार आपको हमारे इस वेब पोर्टल पर Technology और Education से सम्बंधित लेख पढ़ने को मिलेंगे, साथ ही हम ऐसे आर्टिकल भी लिखते हैं जो आम आदमी के लिए काम के होते है, आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं एसएससी सीजीएल जॉब से सम्बंधित। SSC CGL Job क्या होती है? SSC/Staff Selection Commission CGL/Combined Graduate Level


एसएससी सीजीएल जॉब क्या है?

SSC CGL क्या है? 
SSC CGL ग्रेजुएशन लेवल की परीक्षा होती है, और इसे केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में रिक्त पदों की भर्ती के लिए आयोजित किया जाता है। इसमें आपको फिल्ड जॉब या डेस्क जॉब का ऑप्शन मिल जाता है। 
SSC/Staff Selection Commission CGL/Combined Graduate Level SSC CGL की फुल फॉर्म होती है।  स्नातक या ग्रेजुएट अभ्यर्थी इस लेवल की परीक्षा दे सकता है। यदि कोई व्यक्ति ग्रेजुएट नहीं है तो वह SSC CGL में आवेदन नहीं कर सकता। और कोई व्यक्ति ग्रेजुएट है और वह SSC CGL मैं सरकारी नौकरी पाना चाहता है, तो वह इस पोस्ट पर आवेदन कर सकता है। आपकी स्नातक/ग्रेजुएट डिग्री एक मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी की होनी चाहिए। जब SSC CGL की वैकेंसी निकलेगी तभी वो लोग ग्रेजुएट लेवल वाले आवेदन कर सकते हैं, और अपना आवेदन पात्र जमा कर सकते हैं। बाद में वो लोग SSC CGL का एग्जाम भी दे सकते हैं। SSC CGL केंद्रीय सरकार और उनके विभिन्न विभागों में रिक्त पदों की भर्ती के लिए स्नातक स्तर पर जरूरत अनुसार भर्ती की जाती है और यह परीक्षा राष्ट्रीय स्तर पर होती है।


ये भी पढ़ें :
फील्ड जॉब/Field Job और डेस्क जॉब/Job Desk में क्या अंतर है?
फील्ड जॉब वो होती है जिसमे आपको किसी एक या अधिक एरिया में घूमना पड़ता है, किसी भी विभागीय कामों से सम्बंधित, वहीँ जॉब/Job Desk में आपको किसी भी स्थाई ऑफिस में बैठकर काम करना होता है। 

SSC CGL एग्जाम के लिए योग्यता। 
आपने स्नातक/ग्रेजुएट डिग्री की होनी चाहिए। 
सामान्य वर्ग के लिए उम्र 18 से 27 वर्ष के बिच में होनी चाहिए। 
रिज़र्व केटेगरी के लिए अलग से उम्र की छुट दी जाती है। 



SSC CGL के लिए आवेदन। 
समय समय पर SSC की वेबसाइट पर इनके लिए आवेदन मांगे जाते हैं। SSC CGL में आवेदन करने के लिए के लिए SSC की आधिकारिक Website पर जाकर आप ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई कर सकते हैं। आप इस लिंक पर क्लीक करके भी सीधे ही इनकी वेबसाइट पर जा सकते हैं - Click here  SSC Website  SSC CGL की वेबसाइट ओपन कर इस पर आपको फॉर्म को सही जानकारी के साथ भरना  पड़ेगा जिसमें आपको अपने फोटोग्राफ और Sign ऑनलाइन Fill करने होंगे, और जो एप्लीकेशन की फीस है, उसको भी डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग से जमा कराना होगा। कुछ दिन बाद आपको इसकी वेबसाइट पर  Admit Card  मिल जाएगा जिससे आप परीक्षा में बैठ सकते हैं।  



इस परीक्षा के लिए एग्जाम पैटर्न कैसा होता है, और इसमें किस तरह से एग्जाम पैटर्न आता है। इसके बारे में हम आपको जानकारी दे रहे हैं, SSC CGL एग्जाम पैटर्न की पूरी जानकारी निम्न है। SSC CGL परीक्षा में किसी भी प्रकार का कोई इंटरव्यू नही होता, सीधे आपके द्वारा दी गई परीक्षा के अंकों से आपका आकलन किया जाता है। 
SSC CGL एग्जाम को चार भागों में बांटा गया है। 
Combined Graduate Level ( Tier 1 )
Combined Graduate Level (Tier-2)
Descriptive Test (Tier-3)
Skills Test



आइये यहाँ जान लेते हैं की किस किस भाग में किस तरह के प्रश्न आते हैं। 

Combined Graduate Level ( Tier 1 )
General Intelligence and Reasoning 25 प्रश्न 50 अंक
Quantitative Aptitude                         25 प्रश्न 50 अंक
English Comprehension                         25 प्रश्न 50 अंक
General Awareness                                 25 प्रश्न 50 अंक

कुल प्रश्नों की संख्या = 100 अंक = 200 
इसके लिए आपको 1 घंटे का समय मिलता है। 

Combined Graduate Level (Tier-2)
Quantitative Ability                      100 प्रश्न 200 अंक
General English                              100 प्रश्न 200 अंक

कुल प्रश्नों की संख्या = 200 अंक = 400 
इसके लिए आपको 1 घंटे का समय मिलता है।

Descriptive Test (Tier-3)
इस भाग के अंतर्गत आपसे निबंध और पत्र लिखने के लिए कहा जाता है। इसके लिए आपको पेपर और पेन दिया जाएगा। ये 100 नम्बर का पेपर होता है। जो हिंदी और English दोनों भाषा में होता है।  इस भाग के लिए भी आपको 1 घंटे का समय मिलता है।

Skills Test
SSC CGL में पोस्ट के लिए भर्ती में स्किल टेस्ट/Skills Test लिया जाता है, जैसे कंप्यूटर की टाइपिंग की स्पीड और कंप्यूटर की नॉलेज के बारे में पूरी जानकारी आपको होनी चाहिए। सभी पदों के लिए कंप्यूटर टेस्ट का प्रयोग कम होता है कुछ पदों के लिए इसका Test लिया जाता है। फिर भी आपकी कंप्यूटर की अच्छी नॉलेज के साथ टाइपिंग स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए। 



SSC CGL ग्रेजुएशन लेवल पदों पर सैलेरी/तनख्वाह सम्बन्धी जानकारी।  
सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के बाद इनकी सैलेरी निम्न होगी। 
  • मिनिमम बेसिक सैलेरी होगी 18,000 रूपये से शुरू और अधिकतम 2,50,000 तक हो सकती है। 
  • छटे वेतन आयोग के समय जो बेसिक सैलेरी(Salary+Grade Pay) था, उसको 2.57 से गुणा करके बेसिक सैलेरी की गणना की जाएगी। 
  • HRA, DA जैसे भत्तों को बढाने का फैसला एक अलग कमेटी करेगी।  
  • तीन प्रतिशत इन्क्रीमेंट रेट को बरकरार रखा गया है। इंक्रेमेंट की दो तारीख तय की गयी है। 
  • Central Government Employs Group Insurance Scheme (CGEGIS) में बदलाव की सिफारिश को स्वीकार नहीं किया गया है, आगे भी कुछ बदलाव होने तक Deduction का पुराना रेट ही लागु रहेगा। 
    एसएससी सीजीएल जॉब क्या है?

हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।






Monday, March 25, 2019

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना क्या है, इसका लाभ कौन-कौन उठा सकता है? Pardhanmantri sharmyogi mandhan pension yojana.

दोस्तों नमस्कार आपको हमारे इस वेब पोर्टल पर Technology और Education से सम्बंधित लेख पढ़ने को मिलेंगे, साथ ही हम ऐसे आर्टिकल भी लिखते हैं जो आम आदमी के लिए काम के होते है किसी भी सरकारी योजना से सम्बंधित। आज हम भारत सरकार द्वारा जारी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना के बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे। इस योजना के तहत आप 3,000 रुपये पेंशन कैसे पा सकते हैं, इस पैंशन को पाने के लिए सरकार द्वारा क्या नियम और शर्ते रखी गई है। 


Pardhanmantri sharmyogi mandhan pension yojana.

केंद्र सरकार ने बजट 2019 में "प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना" की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को मासिक 3,000 रुपये का पेंशन देना है। यह योजना 15 फरवरी 2019 से शुरू भी हो चुकी है। आपको इस योजना का फायदा उठाने के लिए कितनी रकम/पूंजी का योगदान करना होगा ये आपकी आयु के हिसाब से तय होगा किया जायेगा। इस योजना के लाभार्थी की रकम के बराबर ही सरकार उनके खाते में अपनी तरफ से करेगी योगदान। 



प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना का फायदा कोन उठा पायेगा। 
असंगठित क्षेत्र(जो लोग खुली दिहाड़ी-मजदूरी करते हैं, या अपना कोई खुला काम करते हैं) में काम करने वाले श्रमिकों के लिए बजट 2019 में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन (PM-SYM) पेंशन स्कीम की घोषणा की गई थी। इस स्कीम को अपनाने वाले लोगों के 60 साल के होने पर उन्हें 3,000 रुपये पेंशन दी जाएगी। किसी कारण अगर पेंशन लेने वाले व्यक्ति की मौत हो जाती है, तो रकम/पूंजी उनके जीवनसाथी/पत्नी को भी मिलने का प्रावधान किया गया है। इस योजना के तहत लाभार्थी अपने खाते में जितने का योगदान करेगा ये जितनी पूंजी जमा करवाएगा, सरकार भी उसके खाते में अपनी तरफ से उतनी ही रकम का योगदान करेगी। इस योजना का फायदा उठाने के लिए निम्नांकित शर्तें पूरी करनी होगी, तभी आप इस योजना का फायदा उठा सकेंगे।
  • आप किसी भी असंगठित क्षेत्र में काम करते हों।
  • आपकी आयु 18 साल से 40 साल के बीच होनी चाहिए।
  • आपकी मासिक आय 15,000 रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
किसी भी संगठित क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति या कर्मचारी भविष्य निधि (EPF), नैशनल पेंशन स्कीम (NPS) या राज्य कर्मचारी बीमा निगम (ESIC) के सदस्य या आयकर का भुगतान करने वाले लोग इस स्कीम के लिए योग्य नहीं हैं।



इस योजना में पंजीकरण के लिए आपके पास निम्न दस्तावेज होने चाहिए।
  • आधार कार्ड/राशन कार्ड/पहचान पत्र इत्यादि 
  • बचत खाता/जन-धन खाता, आईएफएससी/IFSC कोड सहित 
  • मोबाइल नंबर
प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए पंजीकरण कैसे करवाएं। 
यदि आप भी प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के तहत खाता खोलने के इच्छुक हैं, तो यहाँ हम आपको बताने जा रहे हैं कि आपको करना क्या है। खाता खोलने की पूरी जानकारी आपको  EPF/इपीएफ की वेबसाइट और कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) से भी प्राप्त हो जाएगी। यहीं से आप इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण भी करवा सकते हैं। 
  1. इस स्कीम के तहत आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी सीएससी/CSC केंद्र जाना पड़ेगा। आप अपने साथ आधार कार्ड, बैंक का पासबुक और मोबाइल फोन ले जाना न भूलें। आप यह सुनिश्चित कर लें कि आपके बचत खाता/बैंक पासबुक पर आईएफएससी/IFSC कोड अंकित होना चाहिए।
  2. वैसे तो आजकल हर गाँव/शहर में CSC मौजूद है, फिर भी आपको इनके बारे में और जानकारी लेनी हो तो आप ईपीएफ/EPF इंडिया की वेबसाइट पर आप अपने नजदीकी सीएससी सेण्टर का पता लगा सकते हैं। इसके अलावा, एलआईसी/LIC  के ब्रांच ऑफिस, ईएसआईसी/ESIC , ईपीएफओ/EPFO या केंद्र तथा राज्य सरकार के लेबर ऑफिस जाकर भी अपने नजदीकी सीएससी सेंटर का पता लगा सकते हैं।
  3. कॉमन सेंटर पर आपको ऑटो-डेबिट फैसिलिटी के लिए सहमति/Agreement फॉर्म के साथ-साथ स्व-प्रमाणित फॉर्म जमा करना होगा। दोनों ही फॉर्म आपको सीएससी/CSC पर मिल जाएंगे। सीएससी पर मिले फॉर्म में आपको आपके आधार कार्ड और बैंक पासबुक पर अंकित जानकारी को भरना होगा। जब फॉर्म पर आपका  पूरा विवरण वेरिफाई हो जायेगा, तब आपके मोबाइल पर एक वन टाअम पासवर्ड/OTP आएगा। इसको डालने के बाद आपका फार्म पूरा हो जायेगा। 
  4. सीएससी केंद्र पर पंजीकरण पूरा होने पर योजना के तहत एक ऑनलाइन पेंशन नंबर जेनरेट होगा। सीएससी आपको पेंशन स्कीम कार्ड का एक प्रिंट आउट देगी। पेंशन स्कीम कार्ड में आपका नाम, पेंशन शुरू होने की तारीख, मासिक पेंशन राशि, पेंशन अकाउंट नंबर सहित कई और जानकारियां अंकित होंगी।

इसके लिए आपको कितनी रकम जमा करवानी होगी।
इसके लिए आपको कितनी रकम जमा करनी है, ये आपकी आयु से तय होगा, इसमें जो राशि तय होगी, वही आपको 60 साल का होने तक अदा करनी होगी। पहले सब्सक्रिप्शन/subscription  अमाउंट/पूंजी  को छोड़कर तमाम रकम आपके बचत खाते से मासिक आधार पर कटेगी। आपको पहला सब्सक्रिप्शन नकद में जमा कराना होगा। इसके बाद आपके 60 साल का होने तक रकम खाते से अपने आप कटती जाएगी। इसके लिए आपके कहते में तय रकम मौजूद होनी चाहिए। 


Pardhanmantri sharmyogi mandhan pension yojana.

हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।




Sunday, March 24, 2019

इन गद्दारों के कारण हुई भगत सिंह, राजगुरु ओर सुखदेव को फांसी।

दोस्तों आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ देश के उन गद्दारों की कहानी जिन्होंने भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त के खिलाफ कोर्ट में गवाही दी थी, जिसके बाद इन वीरों को फांसी की सजा हुआ थी। ज्यादातर लोगों को नहीं पता है कि भगत सिंह के खिलाफ विरुद्ध गवाही देने वाले दो प्रमुख व्यक्ति कौन थे, वैसे तो इस गवाही में और नाम भी शामिल हैं पर आज हम इन्ही दो गद्दारों की जिक्र करेंगे। जब दिल्ली में भगत सिंह पर अंग्रेजों की अदालत में असेंबली में बम फेंकने का मुकद्दमा चला था। तब भगत सिंह और उनके साथी बटुकेश्वर दत्त के खिलाफ शोभा सिंह और शादी लाल ने गवाही दी थी। 


आज़ादी के दीवानों क विरुद्ध ये लोग गवाह थे ।
1. शोभा सिंह/Shobha Singh
2. शादी लाल /Shadi LAl
3. दिवान चन्द फ़ोगाट/Diwan Chand Fogat
4. जीवन लाल/Jivan Lal

भगत सिंह, राजगुरु ओर सुखदेव



इस दोनों गद्दारों को अंग्रेजों को तरफ से अपने देश से की गई इस गद्दारी का इनाम भी मिला था। इन दोनों को अंग्रेजों की और से न सिर्फ सर की उपाधि दी गई बल्कि और भी कई दूसरे फायदे मिले थे।
  • शोभा सिंह को दिल्ली में बेशुमार दौलत और करोड़ों के सरकारी निर्माण कार्यों के ठेके मिले, आज कनॉट प्लेस में शोभा सिंह स्कूल में कतार लगती है बच्चो को प्रवेश नहीं मिलता है। 
  • शादी लाल को बागपत के नजदीक ब्रिटिश हुकूमत की और से अपार संपत्ति मिली थी। आज भी श्यामली में शादी लाल के वंशजों के पास चीनी मिल और शराब के कारखाने है।
  • शादीलाल और शोभा सिंह, भारतीय जनता कि नजरों मे सदा घृणा के पात्र थे और घृणा के पात्र हैं और हमेशा घृणा के पात्र ही रहेंगे। 
  • गवाही के बाद शादी लाल को गांव वालों का ऐसा तिरस्कार झेलना पड़ा था कि उसके मरने पर किसी भी दुकानदार ने उसके लिए अपनी दुकान से कफन का कपड़ा तक नहीं दिया था।
  • शादी लाल के लड़के उसका कफ़न दिल्ली से खरीद कर लाए तब जाकर उसका अंतिम संस्कार हो पाया था।
  • शोभा सिंह बहुत खुशनसीब रहा। उसे और उसके पिता सुजान सिंह (जिसके नाम पर आज पंजाब में कोट सुजान सिंह गांव और दिल्ली में सुजान सिंह पार्क है) को राजधानी दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में हजारों एकड़ जमीन मिली और खूब पैसा भी मिला था।
  • शोभा सिंह के बेटे खुशवंत सिंह/Khushwant Singh है, जिहोने शौकिया तौर पर पत्रकारिता शुरु की थी, बाद में वो एक लेखक भी बन गए थे। इन्होने बड़ी-बड़ी हस्तियों से संबंध बनाना शुरु कर दिया और अपने संपर्कों का इस्तेमाल कर अपने पिता को एक देशभक्त, दूरद्रष्टा और निर्माता साबित करने की भरसक कोशिश की। 
  • आज दिल्ली के कनॉट प्लेस/Connaught Place के पास बाराखंबा रोड पर जिस स्कूल को मॉडर्न स्कूल कहते हैं, वह शोभा सिंह की जमीन पर ही है और उसे "शोभा सिंह स्कूल/Shobha Singh School" के नाम से जाना जाता था।
  • खुशवंत सिंह ने खुद को इतिहासकार भी साबित करने की भी कोशिश की और कई घटनाओं की अपने ढंग से व्याख्या भी की है।
  • खुशवंत सिंह ने खुद भी माना है कि उनके पिता शोभा सिंह 8 अप्रैल 1929 को उस वक्त सेंट्रल असेंबली मे मौजूद थे जहां भगत सिंह और उनके साथियों ने धुएं वाला बम फेंका था।
  • बकौल खुशवंत सिह, बाद में शोभा सिंह ने यह गवाही दी, शोभा सिंह 1978 तक जिंदा रहा और दिल्ली की हर छोटे बड़े आयोजन में वह बाकायदा आमंत्रित अतिथि की हैसियत से जाता था। हालांकि उसको कई जगह पर अपमानित भी होना पड़ा लेकिन उसने या उसके परिवार ने कभी इसकी फिक्र नहीं की।
  • खुशवंत सिंह का ट्रस्ट हर साल शोभा सिंह मेमोरियल लेक्चर का आयोजन भी करवाता है जिसमे बड़े-बड़े नेता और लेखक अपने विचार रखने आते हैं, और बहुत से लोग ऐसे आते हैं जो बिना शोभा सिंह की असलियत जाने (य़ा फिर जानबूझ कर अनजाने में ) उस गद्दार की तस्वीर पर फूल माला चढ़ा देते हैं। 

नोट : जानकारी इंटरनेट पर मिले तथ्यों पर आधारित है। हम इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करते। 

हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।