LS Home Tech: कुसुम योजना क्या है? इससे किसानों को क्या लाभ होगा। KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan.
You can search your text here....

Sunday, March 17, 2019

कुसुम योजना क्या है? इससे किसानों को क्या लाभ होगा। KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan.

कुसुम/KUSUM योजना क्या है?
दोस्तो नमस्कार आपका हमारे वेब पोर्टल पर बहुत स्वागत है। आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई कुसुम योजना के बारे में। केंद्र सरकार ने किसान उर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (कुसुम/KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan mahabhiyan) योजना बिजली संकट से जूझ रहे इलाकों को ध्यान में रख शुरू की है। इस योजना के तहत देशभर में सिंचाई के लिए इस्तेमाल होने वाले सभी डीजल/बिजली के पंप को सोलर ऊर्जा से चलाने की योजना है। कुसुम योजना का एलान केंद्र सरकार के आम बजट 2018-19 में किया गया था। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुसुम योजना की घोषणा की थी।


KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan.

KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan mahabhiyan
आइये जाने क्या है कुसुम/KUSUM योजना का उद्देश्य? किसानों को क्या 
हमारे देश के बहुत से ऐसे हिस्से हैं जहाँ पानी की बहुत किल्लत है, इसी कारण में किसानों को सिंचाई में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। बहुत सी ऐसी जगहें भी हैं जहाँ बहुत अधिक या बहुत कम बारिश की वजह से किसानों की फसलें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। भारत सरकार की इस योजना के जरिये किसान अपनी जमीन में सौर ऊर्जा उपकरण और पंप लगाकर अपने खेतों की सिंचाई कर सकते हैं। इस योजना की मदद से किसान अपनी भूमि पर सोलर पैनल लगाकर इससे बनने वाली बिजली का उपयोग खेती के लिए टूबवैल चलाने में कर सकते हैं। सात ही किसान की जमीन पर बनने वाली बिजली से हमारे देश के गांव में बिजली की आपूर्ति भी शुरू की जा सकती है। 


कुसुम योजना के लिए क्या तैयारी है सरकार की?
इस योजना के तहत साल 2022 तक देश में तीन करोड़ सिंचाई पंप को बिजली या डीजल की जगह सौर ऊर्जा से चलाने की कोशिश की जा रही है। सरकार द्वारा निर्धारित बजट के हिसाब से कुसुम योजना पर कुल 1.40 लाख करोड़ रुपये की लागत अनुमानित है। इस योजना पर आने वाले कुल खर्च में से केंद्र सरकार 48 हजार करोड़ रुपये का योगदान करेगी, जबकि इतनी ही राशि राज्य सरकार भी मुहैया करवाएगी। किसानों को कुसुम योजना के तहत सोलर पंप की कुल लागत का सिर्फ 10 फीसदी खर्च ही उठाना होगा यानि इस पर किसान को 90% अनुदान मिलेगा। कुसुम योजना के लिए तक़रीबन 45 हजार करोड़ रुपये का इंतजाम बैंक लोन के माध्यम से किया जाएगा। 


KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan.

कुसुम के पहले चरण में किसानों के डीजल पंप बदले जाएंगे। 
इस योजना के पहले चरण में किसानों के सिर्फ उन्ही सिंचाई पंप को शामिल किया जाएगा जो अभी डीजल से चल रहे हैं। सरकार के एक शुरुआती अनुमान के मुताबिक इस तरह के 17.5 लाख सिंचाई पंप को सौर ऊर्जा से चलाने की व्यवस्था की जाएगी। कुसुम योजना को क्रियांविंत हो जाने के बाद डीजल की खपत बहुत कम हो जाएगी, जो हमारी अर्थववस्था के लिए बहुत ही लाभदायक होगा। 



कुसुम योजना के फायदे क्या होंगे? 
  • भारत सरकार की कुसुम योजना किसानों को दो तरह से फायदा पहुंचाएगी। एक तो उन्हें सिंचाई के लिए सोलर पैनल से फ्री बिजली मिलेगी और दूसरा अगर वह अतिरिक्त बिजली बना कर ग्रिड/Grid को भेजते हैं तो उसके बदले उन्हें कमाई भी होगी। 
  • यदि किसी किसान के पास बंजर भूमि है तो वह उसका इस्तेमाल सौर ऊर्जा उत्पादन के लिए कर सकता है।  इससे उन्हें बंजर जमीन से भी अच्छी आमदनी होने लगेगी। 
  • सौर ऊर्जा उपकरण स्थापित करने के लिए किसानों को केवल 10% राशि का भुगतान करना होगा। 
  • केंद्र सरकार किसानों को बैंक खाते में सब्सिडी की रकम देगी। 
  • सौर ऊर्जा के लिए प्लांट बंजर भूमि पर लगाये जायेंगे। 
  • कुसुम योजना में बैंक किसानों को लोन के रूप में 30% रकम देंगे। 
  • कुसुम योजना के अगले चरण में सरकार किसानों को उनके खेतों के ऊपर या खेतों की मेड़ पर सोलर पैनल लगा कर सौर ऊर्जा बनाने की छूट देगी। इस योजना के तहत 10,000 मेगावाट के सोलर एनर्जी प्लांट किसानों की बंजर भूमि पर लगाये जायेंगे। 
KUSUM/Kisan Urja Suraksha Utthan Mahabhiyan.

कुसुम योजना का लक्ष्य?
  1. सरकार का मानना है कि अगर देश के सभी सिंचाई पंप में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल होने लगे तो न सिर्फ बिजली की बचत होगी बल्कि 28 हजार मेगावाट अतिरिक्त बिजली का उत्पादन भी संभव होगा। 
  2. कुसुम योजना के तहत केंद्र सरकार पहले चरण में देश भर में 27.5 लाख सोलर पंप-सेट मुफ्त दे रही है। यह योजना इस साल जुलाई 2018 से शुरू हो चुकी है। 
  3. जिन इलाके में बिजली ग्रिड/Power grid नहीं है वहां कुसुम योजना के तहत किसानों को 17.5 लाख सौर पंप सेट दिए जाएंगे। इसके अलावा जिन जगहों पर बिजली ग्रिड है, वहां किसानों को 10 लाख पंप सेट दिए जाएंगे। 
इस योजना से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप इसकी वेबसाइट KUSUM URJA https://kusum.online पर जाकर ले सकते हैं।  

अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें। हमारी नई पोस्ट पढ़ने के लिए हमे सब्सक्राइब भी करें। 







No comments:

Post a Comment