Skip to main content

वाल प्रिंटिंग मशीन पूरी जानकारी। Wall printing machine full detail in Hindi.

वाल प्रिंटिंग मशीन पूरी जानकारी। Wall printing machine full detail in Hindi.
सबसे पहले आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। हम अपनी इस साइट पर Technology ओर Education से संबंधित पोस्ट या जानकारी आपके लिए लेकर आते हैं, जिनको आप लोगों की तरफ से बहुत प्यार मिलता है। आधुनिक युग टेक्नोलॉजी का युग है, यहां हर दिन कुछ न कुछ नया देखने को मिलता है। टेक्नोलॉजी के इस दौर में घर की साज-सज्जा के लिए भी एक मशीन बाजार में आ चुकी है, जिसके द्वारा हम घर की दीवारों पर फ्लेक्स प्रिंटर की तरह ही कुछ भी छाप/प्रिंट कर सकते हैं। घर की सजावट के लिए अपनी दीवारों पर आप किसी भी तरह की फोटो बनवा सकते है, आप अपने ड्राइंग रूम को कागज से बनी या जड़ी हुई फोटो या वॉलपेपर से सजाने की बजाय दीवार पर मनचाही तस्वीर बनवा सकते हैं। आइये जान लेते हैं इस प्रिंटिंग मशीन के बारे में...
Wall Printing Machine kya hoti hai?

क्या है वाल प्रिंटिंग मशीन/What is Wall Printing Machine?
दरअसल Wall Printing Machine भी एक प्रकार का प्रिंटर ही है, जिसे किसी भी तरह की समतल दीवार पर, किसी भी प्रकार की तस्वीर बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। पुराने समय से ही लोग दीवारों पर हाथों से कारीगरी करके, बहुत सुंदर-सुंदर फूल, पौधे, पत्तियां ओर विभिन्न प्रकार की आकृतियां बनाकर घर की सजावट करते आ रहे हैं। लें आज हाथों के उसी काम को Digital मशीनों के द्वारा किया जाने लगा है। Wall Printing Machine भी बाकी प्रिंटर की तरह ही काम करता है, इसके अंदर भी Printing Head लगे होते है, उसी तरह की Ink का इस्तेमाल होता है। बस फर्क सिर्फ इतना है, की ये Portable होती है, ओर Vertically काम करने में सक्षम होती है, जिससे ये दीवार पर ऊपर नीचे जाकर प्रिंटिंग कर सके। ये Computer ऑपरेटेड, बिजली से चलने वाली मशीन होती है। ये मशीन साइज में वैसे तो छोटी ही होती है, लेकिन काम करते वक़्त इसका साइज बड़ा हो जाता है, क्योंकि इसे Move करने के लिए Horizontal ओर Vertical पाइप पर चलना पड़ता है। इन पीपर का साइज कम ज्यादा किया जा सकता है, दीवार पर बनने वाली तस्वीर की लंबाई ओर चौड़ाई के हिसाब से।

Wall Printing Machine कैसे काम करती है? 
काम करने के लिए इस मशीन को दीवार के साथ, दीवार से 2 इंच दूर नीचे जमीन पर रखी दो समांतर पाइपों पर रखा जाता है, ताकि ये तस्वीर बनाते वक्त इधर-उधर Move कर सके। इस मशीन के पीछे भी 2 खड़ी हुई स्टील की पाइप होती है, जिनका व्यास लगभग एक इंच होता है, जिन पर Printer Head लगे होते हैं, ओर यही प्रिंटर हेड उन खड़ी हुई पाइपों पर ऊपर नीचे होकर Printing करते हैं। इस मशीन में Color Ink का इस्तेमाल होता है, इसके साथ चार Ink Tank होते हैं, जिनके अंदर से चार अलग-अलग पाइप Head पर लगे नोजल/Nozzle तक इंक/रंग को लेकर जाती है। यह मशीन CMYK होती है। इसमे C/Cyan, M/Magenta, Y/Yellow ओर K/Black कलर होते है, जो मिलकर किसी भी प्रकार का कलर बना सकते हैं। इस मशीन को चलाने के लिए एक Specific Computer सॉफ्टवेयर होता है, जो इस Machine को Direction देता है। किसी भी तरह की तस्वीर को दीवार पर प्रिंट करवाने से पहले उस तस्वीर को कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से Modify किया जाता है, इसके लिए Photoshop, Corel Draw या अन्य किसी Designing सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल आप कर सकते हैं।

Wall Printing Machine Price:
इस तरह की मशीन की शुरुआती कीमत 5 से 10 लाख, ओर कुछ मशीनों की कीमत 17 से 20 लाख तक हैै,  यह मशीन अपने शुरुआती दौर में है, हो सकता है आने वाले समय में इनकी कीमत कम हो जाये। Brand ओर Model के अनुसार इनकी कीमत कम या ज्यादा हो सकती है। इसकी कीमत की सही जानकारी के लिए आप www.indiamart.com पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इस मशीन से प्रिंट करने के लिए कैसी दीवार होनी चाहिए?
1. इसके लिए आपकी दीवार Smooth ओर Flat होनी चाहिए। ये Ruff दीवार पर काम नहीं करेगी।
2. दीवार पर Wall Putty होनी चाहिए, जिससे आपकी तस्वीर ओर ज्यादा खूबशूरत दिखेगी।
3. दीवार पर अगर Color सफेद होगा तो आपकी तस्वीर ओर ज्यादा सुंदर लगेगी।
4. दीवार नमी युक्त न हो, हमेशा सुखी और खुश्क दीवार पर ही इस मशीन से तस्वीर बनवाएं।

#Wall Printing Machine, #Wall Printer, #Flex Printer, #Diwar Printing Machine, #Diwar Par Digital Tasvir Kaise Bnayen.

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 
Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…