Skip to main content

कंप्यूटर की आवश्यकता ओर महत्व क्या है? What is the need and importance of computers?

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम कंप्यूटर की आवश्यकता ओर उसके महत्व की जानकारी आपके लिए लाये हैं। कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।
कंप्यूटर की आवश्यकता ओर महत्व क्या है? What is the need and importance of computers?

What is the need and importance of computers?
कंप्यूटर की आवश्यकता।Need of Computer    
आधुनिक समय में विज्ञान और तकनिकी की अकल्पनीय खोजों ने मानव जीवन में एक क्रांति सी ला दी है। आज विज्ञान/Science का युग है। और इसी युग की सबसे बड़ी उपलब्धि है कंप्यूटर। कंप्यूटर टेक्नोलॉजी जिसने मानव जीवन को बदल कर रख दिया है। इसके आलावा भी कंप्यूटर ने लगभग सभी क्षेत्रों में अपना बहुमूलय योगदान दिया है। शिक्षा, चिकित्सा, अंतरिक्ष, मनोरंजन, यातायात, संचार माध्यम सभी में कंप्यूटर अपनी उपयोगिता सिद्ध कर चूका है। सबसे ज्यादा शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर का योगदान रहा है। आजकल लगभग सभी स्कूल और कालेजों में कंप्यूटर विषय को अनिवार्य कर दिया गया है। आप किसी भी छोटे से गावं से लेकर किसी भी बड़े शहर में कंप्यूटर शिक्षा देने वाली संस्थाओं की बढ़ती संख्या से ही इस बात का अंदाज़ा लगा सकते हैं। इस प्रकार हम देखते हैं कि आधुनिक युग में कंप्यूटर मानव जीवन के हर क्षेत्र में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से शामिल है। विज्ञान का यह अद्‌भुत उपहार हमारे जीवन में रच-बस गया है। कंप्यूटर आज की आवश्यकता है। कंप्यूटर अपने शुरुआती दौर में अवश्य ही एक विशिष्ट जनसमूह तक सीमित था, लेकिन टेक्नोलॉजी में हुए अद्भुत विकास के कारण आज कंप्यूटर जन-जन तक अपनी पहुँच बना चूका है।  

तकनिकी विकास परिणामस्वरूप आज कंप्यूटर हजारों मध्यवर्गीय लोगों की आवश्यकता बन गया है, और साथ ही काम करने का जरिया भी बन गया है। हमारे देश में जहाँ आम जन के लिए बेरोजगारी व आर्थिक संकट के घने बादल हैं, ऐसे माहौल में निसंदेह कंप्यूटर का विस्तार थोड़ा और समय लेगा, लेकिन जिस प्रकार इसकी आवश्यकता बढ़ रही है, अथवा जिस तीव्रगति से हर जगह कंप्यूटरीकरण हो रहा है, उसे देखते हुए यह अनुमान लगाया जा सकता है कि बहुत जल्दी ही कंप्यूटर आम जन तक अपनी जगह बना लेगा। 


कम्यूटर का महत्व। Importance of Computer  


ऑफिस और बिजनेस/Business में। 
आजकल किसी भी बिज़नेस के लिए कम्प्युटर की काफी अहम भूमिका होती है। इसका कारण ये है की माइक्रोकम्प्युटर/Microcomputer सस्ते होने के साथ ही काम को बहुत तीव्रता से करते हैं, इसलिए छोटी-छोटी कंपनीयाँ भी कम्प्युटर इस्तेमाल करती है। वेतन की गणना, स्टॉक मार्केट, मार्केटिंग, उत्पाद का आयात-निर्यात आदि सभी काम कम्प्युटर की मदद से ही किए जाते हैं। बिज़नेस की जानकारी, लेटर/Letter, इन्वाइस/Invoice सभी ईमेल/Email की मदद से कम्प्युटर से ही भेजे जाते है। कम्प्युटर का इस्तेमाल किसी भी सरकारी या प्राइवेट ऑफिस के मैनेजर, क्लर्क और प्रशाशनिक विभाग/Administrative Departmentआदि सभी के द्वारा हर संस्था में रोजाना के काम के लिए किया जाता है। कंप्यूटर के होने से जन,धन और समय की बचत होती है। कार्यालयों में कंप्यूटर के माध्यम से काम करना अत्यंत सरल एवं सहज हो गया है। अब कार्यालय संबंधी सभी महत्वपूर्ण Data/आंकडों व तथ्यों को  कंप्यूटर फाइल में सुरक्षित रखा जाता है, जिससे समय और जगह की काफी बचत होती है। ऐसे अनेक काम हैं जिनमें कई व्यक्तियों की आवश्यकता होती थी, लेकिन अब वही काम एक कंप्यूटर के माध्यम से बहुत कम समय में ही संपन्न हो जाता है। यही कारण है कि अब प्रत्येक सरकारी तथा गैर-सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर का उपयोग अनिवार्य हो गया है। सभी व्यापारिक सूचनाएँ इसमें दर्ज होती हैं जिससे व्यापार करना सरल हो गया है।

सुलभ पठन-पाठन क्रिया। 
कंप्यूटर के माध्यम से पठन-पाठन की क्रिया में बहुत सुधार हुआ है। आजकल ऐसी बहुत सारी ऑनलाइन शिक्षा देने वाली संस्थाएं है जो इंटरनेट के माध्यम से व्यक्ति को घर बैठे ज्ञान दे रही हैं। प्रबंधन/Management, कानून/Law व रिसर्च/Research में संलग्न विद्यार्थियों के लिए कंप्यूटर एक वरदान सिद्ध हो रहा है। आधुनिक जमने में पुस्तकों के प्रकाशन में भी कंप्यूटरों की अनिवार्य भूमिका हो गई है। जो जानकारी आप अभी पढ़ रहे हैं  कंप्यूटर के द्वारा ही आप तक पहुंची है और इसे लिखने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया गया है। 

संचार के क्षेत्र में। 
जब से कंप्यूटर आया है तब से संचार के क्षेत्र में एक अद्भुत क्रांति सी आ गई है। अब हम ई-मेल के माध्यम से हजारों मील दूर बैठे अपने संबंधी अथवा मित्र को कोई भी सन्देश चंद सेकंडों में भेज या प्राप्त कर सकते हैं। इंटरनेट के असीमित विस्तार के कारण आज इंटरनेट के माध्यम से मनुष्य हर प्रकार की जानकारी का आदान-प्रदान दुनिया के किसी भी कोने से करने में सक्षम है। इंटरनेट की एक अलग ही दुनिया है जिसे हम आभाषी दुनिया भी कह सकते हैं। इंटरनेट न केवल सूचनाओं के आदान-प्रदान को संभव बनाता है, बल्कि व्यक्ति को उसके निजी समय या अवकाश के अनुसार किसी भी नवीनतम जानकारी को हासिल करने का सुनहरा अवसर भी प्रदान करता है।

मेडिकल के क्षेत्र में
कम्प्युटर की मदद से काफी बिमारियों के उपचार में आसानी हो गयी है। डॉक्टर नई-नई तकनीक इस्तेमाल करके आजकल मरीजों का इलाज़ बड़ी आसानी से कर देते हैं। किसी हॉस्पिटल और क्लीनिक में कम्प्युटर का इस्तेमाल किसी भी बीमारी की जांच के लिए, रोगी के रिकॉर्ड, डॉक्टर की समय सारणी, नर्स आदि की जानकारी, दवाइयों की खरीद और बाकी के उपकरणों का सारा लेखा-जोखा रखने के काम में लेते हैं। काफी तरह के उपकरण कम्प्युटर की मदद से डॉक्टरों को मरीज़ों के उपचार के काम में आते हैं। मेडिकल लैबोरेटरी में तो सारा काम ही आजकल कंप्यूटर पर निर्भर करता है। मेडिकल रिसर्च के क्षेत्र में भी कम्प्युटर का भरपूर इस्तेमाल किया जा रहा है।

यातायात के क्षेत्र। 
यातायात के क्षेत्र में भी कंप्यूटर की विशेष उपयोगिता है। ऑनलाइन टिकट प्रणाली, हवाई मार्गों का निर्धारण एवं नियंत्रण, छोटे-बड़े शहरों में लाइट सिग्नल प्रणाली आदि कंप्यूटर से ही चलाई जाती है। 

अंतरिक्ष अनुसन्धान में। 
भारत की सबसे बड़ी अंतरिक्ष संस्था इसरो/ISRO और अमेरिका किस सबसे बड़ी संस्था नासा/NASA कंप्यूटर तकनीक से ही अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में सबसे आगे है। वहीँ मौसम संबंधी जानकारी, भूकंप मापन, मुद्रण आदि में कंप्यूटर का विशेष योगदान है

वैसे देखा जाये तो कंप्यूटर के कार्यक्षेत्र बहुत सारे हैं जिनका जिक्र हम अगर यहाँ करेंगे तो हमारी ये पोस्ट बहुत लम्बी हो जाएगी, इसलिए हमने आज की इस पोस्ट में उन्ही क्षेत्रों का जिक्र किया है जो प्रमुखता से आजकल कंप्यूटर का इस्तेमाल कर रहे हैं। अगले लेख में हम कंप्यूटर के इस्तेमाल के और क्षेत्रों का विस्तार से वर्णन करेंगे। 


तो दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे द्वारा लिखित और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…