LS Home Tech: वेब डिजाइनिंग क्‍या है? What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development क्या है?
You can search your text here....

Monday, February 11, 2019

वेब डिजाइनिंग क्‍या है? What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development क्या है?

दोस्तों नमस्कार 
हमारी ब्लॉगिंग वेबसाइट पर आपका बहुत स्वागत है, हमारी इस वेबसाइट पर हम टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं। आइये आज के हमारे इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है "Web Designing" के बारे में। आज हर एक काम डिजिटल तरीके से वेब डिजाइनिंग के माध्यम से हम कर पा रहे हैं, जो भी काम हम ऑनलाइन या इंटरनेट के माध्यम से करते हैं सारा वेब डिजाइनिंग द्वारा क्रिएट किये गए सॉफ्टवेयरों या एप्लीकेशन द्वारा ही होता है। 


What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development

How to be an IAS officer            How to be an IPS officer           What is web development ?
आइये जान ले Web Designing क्‍या है?
जब हम इंटरनेट पर यूज़ होने वाले किसी भी सॉफ्टवेयर या एप्प को बनाते हैं या फिर हम ऑनलाइन यूज़ के लिए कोई भी वेबसाइट बनाते हैं तो इनको बनाने या डेवेलोप करने के काम को ही वेब डिजाइनिंग कहा जाता है। 
जैसे कि एक बिल्‍डर का काम बिल्‍डिंग बनाना होता है, उसी तरह से Web Designer का काम website को बनाना होता है। आजकल जो भी मोबाइल एप्प या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर जिनको हम ऑनलाइन प्रयोग करते हैं जैसे फेसबुक, गूगल, व्हाट्सप्प और बहुत सारे ऑनलाइन गेम इत्यादि सारे काम वेब डिजाइनिंग के द्वारा ही बनते हैं। वेब डिजाइनिंग सिखने के लिए आपको आपको क्या-क्या सिखने की आवश्यकता होती है, पूरी डिटेल में जानेंगे कृपया आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 



Web Designing के दो प्रमुख भाग होते है -
Front End Web Design/Development  
Back End Web Design /Development 
What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development

Front End Web Design/Development क्या है?
Front End Web Design/Development उस हिस्से को बोला जाता है जिसको यूजर किसी भी डेस्कटॉप या मोबिल की डिस्प्ले स्क्रीन पर देखता है यानि उसके सामने का भाग जो वेबसाइट या एप्प के खुलते ही हमारे सामने होता है। जब हम किसी भी Website को खोलते है तो हमारे सामने जो भी बना आता है वो सब Front End designer का काम होता है। Front End Web Designing से हमारा मकसद सिर्फ website को सुन्‍दर बनाना ही नही होता, web designing के द्वारा हमें ये भी ध्‍यान रखना होता है कि कौन सी चीज कहॉं जुडे जिससे हमारी website पर आने वाले visitor को कोई दिक्‍कत ना हो।

साधारण शब्दों में अगर बात की जाये तो फ्रंट एन्ड वेब डिजाइनिंग का काम होता है की जो हम बना रहे हैं वो देखने वालों को ज्यादा आकर्षित करे। अर्थात उस पोर्टल की साज-सज्जा करना या उस पर जिंतने भी पोरशन बने हो वो सुव्यस्थित तरीके से बनाये गए हो ताकि देखने में और ज्यादा आकर्षक लगे। अगर हम इसको एक उदहारण के तौर पर कार से तुलना करे तो Front End designer का काम कार को बाहर से सुन्‍दर बनाना है, कार के इंजन से उसका कोई मतलब नही है, कार के अन्‍दर की बैटरी कैसी हो इंजन कैसा हो वो सब Back End Developer का काम है।

How to be an IAS officer            How to be an IPS officer           What is web development ?
Back End Web Design /Development क्या है? 
Back End Developer का काम यूजर को नही दिखता, लेकिन बिना अच्छे बैक एन्ड के बढिया वेबसाइट या एप्प नही बन सकती। एक Web Developer website या App के दिमाग को बनाता है, आजकल आपको पता ही है की कोई भी जॉब के लिए ऑनलाइन आवदेन किये जाते हैं या ऑनलाइन ही फॉर्म भरे जाते हैं। जैसे किसी भी website पर अगर कोई फार्म भरेगा तो कैंडिडेट की डिटेल किसके पास पहुँचना चाहिये, या कहाँ पर उनका सारा डाटा स्टोर होना चाहिए, ये सारा काम एक Back End Web Designer /Developer का ही होता है। 
What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development

एक Web Designer बनने के लिये क्‍या सीखना पड़ता है ?
आपको अच्‍छा Web Designer बनने के लिये Front End Web Designing और Back End Web Development दोनो की जानकारी होनी चाहिये। वेब डिजाइनिंग कोर्स के लिए आप किसी भी यूनिवर्सिटी से या कॉलेज से या फिर किसी भी प्राइवेट संसथान से वेब डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हैं, इसके लिए आपको 12 वीं पास होना चाहिए। इस कोर्स में आपको बहुत सी चीजें सीखनी पड़ती है अगर आप थोड़े क्रिएटिव भी हैं तो ये आपके लिए बहुत अच्छ करियर बन सकता है। 

Front End Design के‍ लिये क्‍या सीखे ?

HTML(Hyper Text Markup Language)
HTML का मतलब होता है Hyper Text Markup Language. HTML एक बेसिक markup language है जिसका प्रयोग Website का ढा़चा बनाने के लिये होता है। या आसान शब्दों में कहें तो  HTML एक भाषा है जो कि Code के रूप में लिखी जाती है। HTML सीखन बहुत ही आसान है। एक बार HTML सीख ली तो आप एक सरल सी Static website बना सकते है। HTML सिखने में आसान और इंटरस्टिंग भी है जिसको आप बिलकुल आसानी से महज 15 दिन में ही सिख सकते हैं। 

Photoshop की Basics जानकारी होनी चाहिए। 
अगर आप एक अच्छी वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आपको फोटोशॉप सॉफ्टवेयर का भी ज्ञान होना चाहिए ताकि आप खुद अपने हिसाब से वेबसाइट या एप्प का फ्रंट एन्ड बना सकें। जैसे हम घर बनवाने के लिये पहले किसी आर्किटेक्ट से नक्‍शा बनवाते है, ठीक उसी तरह Website design करने से पहले हमारे पास एक विचार होना चाहिये कि आपके द्वारा बनाई जाने वाली app या website कैसी दिखेगी। कई लोग पूरी website का design बहुत बारिकी से Photoshop पर बनाते है, लेकिन जो experts है वो Photoshop को सिर्फ एक blueprint या temples बनाने के लिये प्रयोग करते है। आजकल आपको इंटरनेट पर बहुत सी ऑनलाइन टेम्पलेट्स मिल जाती है। 


CSS (Cascading Style Sheet)
CSS का मतलब है Cascading Style Sheet. HTML हमारी website को structure देने के काम आता है। वहीँ  दूसरी ओर CSS हमारे HTML से बने structure को design देने के काम में आती है, ये हमारे design को Style देने के काम आती है। इसके द्वारा आप वेबसाइट में स्टाइल के साथ स्ट्रक्चरल डाटा भी एक्सीक्यूट कर सकते हैं।
JavaScript 
जावा स्क्रिप्ट भी एक कोडन लैंग्वेज है जो हाई लेवल लैंग्वेज है। ज्यादातर वेबसाइट या एप्प बनाने में इसका प्रयोग किया जाता है। इसको सिखने के बाद आप पूरी तरह से programming/web designing करना शुरू कर देते है। HTML/CSS हमारी website को तो बना देती है, लेकिन उसके फ्रंट एन्ड को और ज्यादा interactive बनाने के लिये Java Script का प्रयोग होता है। जावा स्क्रिप्ट के द्वारा आप वेबसाइट में विभिन्न प्रकार के ड्राप डाउन लिस्ट या रोटेटिंग इमेज फ्लोटिंग टेक्स्ट या कई और प्रकार के वेबसाइट मूवमेंट डाल सकते हैं। 

HTML और CSS और JAVA  मिलकर एक बहुत अच्‍छी Static Website बना सकते है। स्टैटिक वेबसाइट वो होती है जिनमे हम कोई आईडी पासवर्ड नहीं डाल सकते, सिर्फ देख और पढ़ सकते हैं या कुछ डाउनलोड भी कर सकते हैं। अगर आपने सिर्फ Photoshop, HTML और CSS और JAVA  सीख लिया तो आप किसी IT company मे नौकरी पा सकते हैं, और एक अच्‍छी Website बना सकते है।
What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development


Back End Web Design /Development के लिये क्‍या सीखें?
जैसा की हम ऊपर बात कर चुके हैं HTML/CSS/JS से आप static website बना सकते है, जिसमे  हम Database Entry, Login, Register जैसे features नही बना सकते। किसी भी वेबसाइट या एप्प में एडवांस फीचर जैसे लॉगिन या पासवर्ड या फॉर डेटाबेस एंट्री स्टोर के लिए आपको क्या-क्या सीखना होगा उनका विवरण हम निचे पढ़ेंगे।  

PHP(Hypertext Preprocessor)
PHP जो की ओपन सोर्स Server Side Scripting Language है। अगर आप यूज़ करना चाहें तो Back End पर बहुत सी भाषायें चल सकती है, लेकिन शुरू में PHP सीखना सबसे आसान है। PHP बहुत ही Powerful है और इससे हर Feature Perform हो सकता है। Facebook PHP प्लेटफार्म पर ही बनायी गयी थी। PHP सीखना इसलिये भी फायदेमंद है क्‍योकि इससे हम कम पैसो में ही website बना सकते है। इससे हम WordPress पर web site design करना भी सीख सकते है, दुनिया की सबसे ज्‍यादा website और blogs WordPress पर बने है।
DataBase
देखिये जब हम किसी भी वेबसाइट या एप्लीकेशन पर अपना ID और Password या Login डालते हैं तो वो डाटा कहाँ जाकर सेव या स्टोर रहे, उसके लिए आपको डाटाबेस का भी ज्ञान होना जरुरी है। मान लीजिये हम Facebook पर ID बनाते है या Google पर ID बनाते है। तो ये सारा data जहॉं store होता है उसे हम Data Base कहते है। सबसे ज्‍यादा प्रयोग होने वाला Data MySQL है, इसे सीखने के बाद आप अपनी website पर लोगो का डाटा भी store करवा सकते हैं। MySQL जैसे data base मे कुछ भी store करवाने के लिये PHP जैसी भाषाओ का प्रयोग हो रहा है। बैक एन्ड डेवलपर बनने के लिए इसे सीखना बहुत जरुरी है। 
What is Web Designing? Front and Back End Web Design/Development


Web Designing एक ऐसा हुनर है, जिसकी आज भी बहुत मांग है पर आने वाले समय में बहुत भारी मांग रहेगी। आपको Expert level पर जाने के लिये बहुत मेहनत करनी होगी। ऊपर बताई गयी सभी चीजों के इस्तेमाल को सीखकर आप एक अच्छे वेब डेवलपर बन सकते हैं। आपके पास इतना हुनर होने के बाद आप Internet पर Freelance काम करके बहुत पैसा कमा सकते हो। या किसी अच्‍छी company मे नौकरी भी कर अच्छी सैलेरी भी पा सकते हो।


दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें कमेंट सकते है।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma




No comments:

Post a Comment