LS Home Tech: कंप्यूटर स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार की होती है? Difference between HDD, SSD and SSHD.
You can search your text here....

Friday, March 1, 2019

कंप्यूटर स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार की होती है? Difference between HDD, SSD and SSHD.

दोस्तों नमस्कार आपका हमारे वेब पोर्टल पर बहुत स्वागत है , हम अपने इस वेब पोर्टल पर टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से रिलेटेड आर्टिकल पोस्ट करते हैं, जिसके तहत आज हम आपके लिए लेकर आये हैं की कंप्यूटर में प्रयोग की जाने वाली स्टोरेज डिवाइस कितने प्रकार की होती हैं और इनमे क्या-क्या अंतर होता है। यहाँ आज हम बात करेंगे HDD/हार्ड-ड्राइव डिस्क, SSD/सॉलिड स्टेट ड्राइव और SSHD/सॉलिड स्टेट हार्ड-ड्राइव की। 



आजकल कंप्यूटर में मुख्यत: दो प्रकार की स्टोरेज डिवाइस यूज़ की जाती है, एक होती है HDD हार्ड डिस्क ड्राइव और दूसरी है SSD/सॉलिड स्टेट ड्राइव। साथ ही एक ड्राइव इन दोनों को मिलकर भी बनाई गई है जिसको हम SSHD/सॉलिड स्टेट हार्ड-ड्राइव कहते हैं। 

HDD/हार्ड-ड्राइव डिस्क क्या है?
HDD जो एक मैकेनिकल डिवाइस होती है, और जब से कंप्यूटर का विकास हुआ है हम इसे ही स्टोरेज के लिए प्रयोग करते आ रहे हैं।  HDD  के अंदर मूविंग प्लेट्स होती है, इन्ही प्लेट्स पर डाटा स्टोर किया जाता है, और इनको प्लॉटर्स बोला जाता है। HDD के अन्दर ऐसी बहुत सारे प्लॉटर्स होते है, और इसमें एक Revolving Head भी होता है जिसकी मदद से डेटा इन प्लॉटर्स में से रीड भी किया जाता है और राइट भी किया जाता है। 

HDD/हार्ड-ड्राइव डिस्क के फायदे। 
HDD बहुत ही सस्ती होती है और ज्यादा कैपेसिटी की HDD बहुत आसानी से आपको अपने नजदीक किसी भी छोटी कंप्यूटर शॉप पर मिल जाती है। 

HDD/हार्ड-ड्राइव डिस्क के नुकसान। 
ये आकर में बड़ी और वजन में भारी होती है, इसकी Data Read और Write की स्पीड कम होती है, पावर ज्यादा कंज्यूम करती है। क्योंकि ये एक मेकनिकल डिवाइस और इसके अंदर Moving पार्ट्स होते हैं इसलिए 5-6 साल बाद इसके दिक्कत आने लग जाती है। 

SSD/सॉलिड स्टेट ड्राइव क्या होती है?
SSD एक तरह से चिप या मेमोरी कार्ड जैसी ही होती है, और इसका काम भी वही होता है, इसमें कोई भी मूविंग पार्ट नहीं होता, जो मेमोरी कार्ड आप मोबाइल के लिए प्रयोग करते हैं ये उसी का बड़ा रूप होता है, और इसे कंप्यूटर में स्टोरेज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। ये HDD से ज्यादा टिकाऊ तो होता है पर साथ ही महंगा भी बहुत होता है। 

SSD/सॉलिड स्टेट ड्राइव के फायदे।
सबसे बड़ी खूबी इसकी यही होती है की इसमें आपके कंप्यूटर की प्रोसेसिंग स्पीड बहुत ज्यादा रहती है। इसमें डाटा को ज्यादा तेज़ी से read और write किया जा सकता है। ये Power का बहुत कम इस्तेमाल करती है, साथ ही इसका साइज ज्यादा बड़ा नहीं होता और वजन भी बहुत कम होता है। मुख्य बात इसमें कोई मूविंग पार्ट्स न होने के कारण ये जल्दी खराब भी नहीं होती। 

SSD/सॉलिड स्टेट ड्राइव के नुकसान। 
HDD के मुकाबले ये बहुत ही महंगी होती है, और ज्यादा कैपेसिटी की SSD बहुत कम मिलती है। नार्मल मार्केट में ये आसानी से नहीं मिलती। 

आइये अब जान लें SSHD क्या है?
SSHD/सॉलिड स्टेट हार्ड-ड्राइव इन दोनों का मिश्रण/Combination है, जो दोनों को मिला कर बनाई गई है। इसे Hybrid भी कहा जाता है, जैसे 500GB HDD और साथ में 32GB SSD आपको ऑप्शन में मिल जायेंगे। आजकल आपको ये हर नए लेपटॉप में देखने को मिल जाएगी। हाँ लैपटॉप में आपको इसका साइज काफी छोटा मिलेगा ताकि इसके अंदर आप सिर्फ विंडो ही इनस्टॉल कर सकें। ज्यादा बड़ा साइज लेने के लिए आपको इसके अलग से पैसे चुकाने होंगे। यदि आप एक नया लैपटॉप लेना चाहते है, तो कोशिश करें कि उसमें SSD हो और अगर आपके पास पुराना कंप्यूटर या लैपटॉप है, जिसकी स्पीड बहुत कम है तो आप उसमें SSHD या SSD लगा कर उसकी स्पीड बड़ा सकते है। ये करने के बाद आपके कंप्यूटर की स्पीड बहुत ज्यादा हो जाएगी। 



दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।




No comments:

Post a Comment