LS Home Tech: कंप्यूटर की उपयोगिता और महत्व, Computer utility and importance

Thursday, January 10, 2019

कंप्यूटर की उपयोगिता और महत्व, Computer utility and importance

नमस्कार 
            आइये आज के लेख में हम बात करेंगे आधुनिक तकनीकी संसार के बादशाह के बारे में जिसने आने के बाद पूरी दुनिया को ही बदलकर रख दिया है। हाँ आज हम बात करेंगे कंप्यूटर और उसकी उपयोगिता के बारे में। 
Computer and importance

आधुनिक युग में विज्ञान और तकनीक की अद्‌भुत खोजों ने मनुष्य के जीवन में एक क्रांति ला दी है। आज का युग विज्ञान का युग है। कंप्यूटर मनुष्य द्वारा की गई विज्ञान की इन्हीं अद्‌भुत खोजों में से एक है, जिसने मानव जीवन को लगभग सभी क्षेत्रों में प्रभावित किया है।आज के युग को यदि हम कंप्यूटर का युग कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। शिक्षा मनोरंजन, चिकित्सा, यातायात, संचार आदि सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर ने अपनी उपयोगिता सिद्‌ध की है। शिक्षा के क्षेत्र में कंप्यूटर अत्यंत उपयोगी सिद्‌ध हो रहे हैं। विद्‌यालयों में धीरे-धीरे कंप्यूटर विषय अनिवार्य हो रहा है। छोटे शहरों एवं महानगरों में कंप्यूटर की शिक्षा प्रदान करने वाले स्कूलों, शिक्षण संस्थानों आदि की बढ़ती संख्या कंप्यूटर की लोकप्रियता का साक्षात प्रमाण है।

आज से कुछ साल पहले तक कंप्यूटर को  सुख सुविधा का साधन माना जाता था। लेकिन तकनीक में लगातार सुधार और विकास होते रहते के कारण, Computer शताब्दी का सबसे महत्वपूर्ण उपयोगी उपकरण बन गया है। आज के युग में जहां भी हम देखें, सभी काम कंप्यूटर के द्वारा ही किए जाते हैं। इसलिए हम कह सकते हैं कि हमारे  वर्तमान जीवन शैली में कंप्यूटर सिस्टम पूरी तरह से रस बस  गया है कि किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश करना बहुत ही मुश्किल है। जिसने Computer के बारे में नहीं सुना होगा।

कंप्यूटर के आविष्कार ने बहुतों के सपनों को साकार किया है यहाँ तक कि हम अपने जीवन की कल्पना बिना कंप्यूटर के नहीं कर सकते। सामान्यत: ये एक ऐसा डिवाइस है जिसका इस्तेमाल कई सारे उद्देश्यों के लिये किया जाता है जैसे- सूचनाओ को सुरक्षित रखना, ई-मेल, मैसेजिंग, सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग, गणना, डेटा प्रौसेसिंग आदि। डेस्कटॉप कंप्यूटर को कार्य करने के लिये सीपीयू, यूपीएस, कीबोर्ड, और MOUSE की जरुरत पड़ती है जबकि लैपटॉप में ये सबकुछ उसके अंदर ही मौजूद रहता है। बड़ी मेमोरी के साथ ये एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कोई भी डेटा को सुरक्षित रख सकता है। 21वीं सदी में कंप्यूटर की आधुनिक दुनिया में हम लोग जी रहे है।
इससे पहले की पीढ़ीयों के कंप्यूटर बेहद सीमित कार्य करते थे, जबकि आधुनिक समय के कंप्यूटर ढ़ेर सारे कार्यों को अंजाम दे सकता है। 

चार्ल्स बेबेज ने 1822 में  पहला मेकैनिकल कंप्यूटर बनाया था, जो आज के जमाने के कंप्यूटर से बहुत अलग था। कंप्यूटर के आविष्कार का लक्ष्य था एक ऐसी मशीन को उत्पन्न करना जो बहुत तेजी से गणितीय गणना कर सके। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान दुश्मनों के हथियारों की गति और दिशा का अनुमान तथा उनकी सही स्थिति का पता लगाना था। आज के कंप्यूटर कृत्रिम बुद्धिमत्ता तकनीक से युक्त है जो जीवन के हर क्षेत्र में मदद करते है।

नई पीढ़ी का कंप्यूटर अत्यधिक उन्नत होते है अर्थात छोटे, हल्के, तेज, और बहुत शक्तिशाली। आज के दिनों में इसका इस्तेमाल हर व्यवसाय में हो रहा है, जैसे- परीक्षा, मौसम की भविष्यवाणी, शिक्षा, विज्ञान, खरीदारी, ट्रैफिक नियंत्रण, उच्च स्तर की प्रोग्रामिंग, रेलवे टिकट बुकिंग, मेडिकल क्षेत्र, व्यापार आदि। इंटरनेट के साथ ये सूचना तकनीक का मुख्य आधार है और इसने साबित किया कि आज के समय में कुछ भी असंभव नहीं है। इंसानों के लिये कंप्यूटर के सैकड़ों फायदे है तो साइबर अपराध, अश्लील वेबसाइट, जैसे नुकसान भी शामिल है जिसकी पहुँच हमारे बच्चों और विद्यार्थीयों तक आसानी से हो जाती है। कुछ उपायों के द्वारा हम इसके नकारात्मक प्रभावों से बच सकते है।

आज मनुष्य की कंप्यूटर तकनीक पर अत्यधिक निर्भरता बढ़ती जा रही है। कोई भी अपने जीवन की कल्पना बिना कंप्यूटर के नहीं कर सकता, क्योंकि इसने हर जगह अपने पैर पसार लिये है और लोग इसके आदि बन चुके है। ये किसी भी दर्जे के विद्यार्थी के लिए फायदेमंद है। वो इसका इस्तेमाल प्रोजेक्ट बनाने के लिये, कविता सीखने के लिये, कहाँनियों के लिये, परीक्षा संबंधी नोट्स डाउनलोड करने के लिये, सूचना इकट्ठा करना आदि के लिये बेहद कम समय में कर सकते है। ये विद्यार्थीयों के कौशल विकास में बढ़ौतरी के साथ नौकरी पाने में सहायक भी होता है।

कंप्यूटर के माध्यम से पठन-पाठन का स्तर भी बेहतरीन हुआ है। आजकल अनेक ऐसे संसथान खोले जा रहे हैं जहाँ इंटरनेट के माध्यम से व्यक्ति घर बैठे ज्ञान प्राप्त कर सकता है। प्रबंधन, कानून व रिसर्च में संलग्न विद्‌यार्थियों के लिए कंप्यूटर एक वरदान सिद्‌ध हो रहा है। पुस्तकों के प्रकाशन में भी कंप्यूटरों की अनिवार्य भूमिका हो गई है।

प्राइवेट हो या सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर के माध्यम से कार्य करना अत्यंत सहज एवं सरल हो गया है। अब कार्यालय संबंधी सभी महत्वपूर्ण आंकडों व तथ्यों को ‘फाइल’ में सुरक्षित रखा जाता है जिससे समय की काफी बचत होती है। अनेक कार्य जिनमें कई व्यक्तियों की आवश्यकता होती थी, अब वही कार्य एक कंप्यूटर के माध्यम से बहुत कम समय में ही संपन्न हो जाता है, यही कारण है कि अब प्रत्येक सरकारी तथा गैर-सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर का उपयोग अनिवार्य हो गया है। सभी व्यापारिक सूचनाएँ इसमें दर्ज होती हैं जिससे व्यापार करना सरल हो गया है।

कंप्यूटर के द्‌वारा संचार के क्षेत्र में एक क्रांति सी आ गई है। ‘ई-मेल’ के माध्यम से हजारों मील बैठे अपने संबंधी अथवा मित्र से लोग बहुत ही कम खर्च तथा समय से अपने संदेश भेज सकते हैं तथा ग्रहण कर सकते हैं। ‘इंटरनेट’ के माध्यम से मनुष्य हर प्रकार की जानकारी का आदान-प्रदान विश्व के किसी भी कोने से करने में सक्षम है। वास्तविक रूप में इंटरनेट का विस्तार असीमित है तथा इसने हमे इतना करीब ला दिया है, मानो पूरी दुनिया हमारे सामने है।

कंप्यूटर के कुछ महत्वपूर्ण  उपयोग इस प्रकार हैं।
  • जटिल  गणितीय समीकरण को हल करने के लिए।
  • उम्दा किस्म के आर्किटेक्चर डिज़ाइन करने में। 
  • गणितीय रिपोर्ट की सारणी के प्रिंट को बहुत कम समय में प्राप्त करने के लिए।
  • रोगी के शरीर की आंतरिक स्थिति को देखने और रोग की पहचान करने के लिए।
  • एयर ट्रेवल, शिपिंग रूट्स और  मौसम संबंधी जानकारी प्राप्त करने के लिए।
  • वायुयान, जहाज, कार, पुल, बिल्डिंग, मोटर साइकिल और कोई दूसरी जटिल मशीनों की डिजाइनिंग के लिए।
  • रॉकेट और मिसाइल को उनके उड़ान रास्तों पर कंट्रोल करने के लिए।
  • हैवी ड्यूटी मशीन और उपकरणों की ऑटोमेटिक कंट्रोलिंग के लिए।
  • विभिन्न  इंडस्ट्रीज जैसे: केमिकल, आयल रिफाइनरी, स्टील, आदि  को कंट्रोल करने के लिए।
  • आधुनिक बहुमंजिली इमारतों और संवेदनशील उद्योगों में तापमान को ऑटोमेटिक रूप से कंट्रोल करने के लिए।
  • रोबोट द्वारा स्वचालित कार्य करने के लिए।
  • न्यूक्लियर रिएक्टर की कार्यप्रणाली की मॉनिटरिंग कंट्रोलिंग के लिए।
  • अधिक मात्रा  में बनने वाली रिपोर्ट के लिए।
  • किताबें, मैगज़ीन,अख़बार आदि के उत्पादन व प्रकाशन के लिए।
  • बीमा कंपनी में रिकॉर्ड सुरक्षित रखने के लिए।
  • विभिन्न कार्यों को संचालित करने के लिए।
  • रेलवे, एयरलाइंस और बसों में सीट रिजर्वेशन के लिए।
  • एयरपोर्ट पर ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए।
  • टेलीफोन एक्सचेंज में एक्सचेंज  ट्रैफिक को नियंत्रित करने के लिए।
  • शिक्षण संस्थानों में शिक्षण कार्य प्रणाली को उत्कृष्ट बनाने के लिए।
  • बड़ी आकार की लाइब्रेरी को संचालित करने के लिए।
  • अपराधियों का पता लगाने के लिए।
इस प्रकार हम देखते हैं कि आधुनिक युग में कंप्यूटर मनुष्य के जीवन के हर क्षेत्र से प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से जुड़ा हुआ है। विज्ञान के इस अद्‌भुत उपहार को नकराना संभव नहीं है। यह आज हमारी आवश्यकता है। प्रारंभ में अवश्य ही यह एक विशिष्ट जनसमूह तक सीमित था, परंतु सरकार के सकारात्मक रुख के कारण यह धीरे-धीरे विस्तृत रूप ले रहा है। जिसके परिणामस्वरूप यह हजारों मध्यवर्गीय लोगों की आवश्यकता बन गया है। हमारे देश में जहाँ बेरोजगारी व आर्थिक संकट के घने बादल हैं, ऐसे वातावरण में निसंदेह कंप्यूटर का विस्तार समय लेगा। परंतु जिस प्रकार इसकी आवश्यकता बढ़ रही है अथवा जिस तीव्रगति से कंप्यूटरीकरण हो रहा है, उसे देखते हुए यह अनुमान लगाया जा सकता है कि बहुत शीघ्र ही यह दूरदर्शन की भाँति सभी घरों में अपनी जगह बना लेगा।

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमरी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 


Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

No comments:

Post a Comment

Popular Posts