ANM और GNM कोर्स क्या होता है? जानिए विस्तार से। ANM and GNM nursing course detail. - LS Home Tech

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, February 24, 2019

ANM और GNM कोर्स क्या होता है? जानिए विस्तार से। ANM and GNM nursing course detail.

दोस्तों नमस्कार 
आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं मेडिकल लाइन से सम्बंधित कोर्स  ANM और GNM कोर्स के बारे में। इस कोर्स को करने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए, क्या इसके लिए महिला और पुरुष दोनों अप्लाई कर सकते है? कहाँ से आप ये कोर्स कर सकते हैं, आपको पूरी जानकारी इसी आर्टिकल में दी जाएगी, कृपया इसे अंत तक पढ़ें। आप हमारी इस वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से सम्बंधित या किसी भी अच्छी जॉब के लिए पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

ANM और GNM कोर्स क्या होता है? जानिए विस्तार से। ANM and GNM nursing course detail.

आइये पहले जान लेते हैं ANM और GNM का काम क्या होता है?
इन दोनों का काम लगभग समान ही होता है। ANM  इनका मुख्य काम मैडिकल उपकरणों का रखरखाव इत्यादि होता है, वहीँ GNM का मुख्य काम किसी भी अस्पताल या संस्था में मरीजों की सेवा करना होता है। इन्हे स्टाफ नर्स भी बोला जाता है। नर्सिंग हेल्थकेयर सेक्टर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अस्पतालों, डिस्पेंसरीज़, एनजीओ आदि इन जैसे स्वास्थ्य संगठनों के सुचारू कामकाज को सुचारु रूप से चलने के लिए इन्ही की ज़िम्मेदारी होती है। किसी मरीज की सेवा करना सबसे बड़ा धर्म होता है, और यही धर्म नर्सिंग क्षेत्र में स्टाफ नर्स भी निभाता/निभाती है। 

मेडिकल नर्सिंग लाइन में दो डिप्लोमा कोर्स मुख्यता करवाए जाते हैं जिसके बारे में आज हम बाते कर रहे हैं, ANM(Auxiliary Nurse Midwifery) हिंदी में इसे सहायक नर्स मिडवाइफ और GNM(General Nursing and Midwifery), सामान्य नर्स मिडवाइफइरी बोला जाता है। दोनों मेडिकल कोर्सों में बहुत कुछ समानतायें भी हैं वहीँ कुछ विभिन्ताएं भी हैं। आइये जान लेते हैं विस्तार से -

ANM/Auxiliary Nurse Midwifery/सहायक नर्स मिडवाइफ।
ANM/सहायक नर्स मिडवाइफ के इस डिप्लोमा कोर्स में स्टूडेंट को इलाज के दौरान काम में आने वाली चीजों जैसे मेडिकल उपकरण का रखरखाब और उनको प्रयोग करने की जानकारी दी जाती है। ANM कोर्स सिर्फ लड़कियां ही कर सकती हैं। लड़कों के लिए ये डिप्लोमा कोर्स नहीं है। ANM  डिप्लोमा कोर्स 2 साल का होता है। 

ANM कोर्स के लिए योग्यता।

  • कोर्स करने के लिए आपकी की उम्र कम से कम 17 और अधिकतम उम्र 35 साल होनी चाहिए। 
  • केवल लड़कियां ही इस डिप्लोमा कोर्स को कर सकती हैं। 
  • सामान्य वर्ग के लिए 12 वीं कक्षा साइंस विषय में 50% अंकों के साथ पास की होनी चाहिए।
  • Sc/St उम्मीदवारों के लिए 40%, 45% अंकों के साथ साइंस विषय में 12 वीं कक्षा पास की होनी चाहिए। 
  • आवेदनकर्ता का मेडिकल फिट होना जरुरी है। 


सैलेरी : ANM/सहायक नर्स मिडवाइफ के कोर्स करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट सेक्टर के हॉस्पिटल से अपनी शुरुआत कर सकते है। इसमें आपकी शुरुआती सैलेरी लगभग 15000 रूपये से शुरू होकर एक्सपेरिएंस के हिसाब से काफी बढ़ सकती है। 


GNM/General Nursing and Midwifery/सामान्य नर्स मिडवाइफरी। 
मेडिकल क्षेत्र में नर्स बनने के लिए जीएनएम 3 साल का कोर्स होता है, इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपको रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट मिल जाता है जिसके बाद आप रजिस्टर्ड नर्स बन जाते हैं। ये कोर्स लड़का और लड़की दोनों ही कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप सरकारी मेडिकल जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं, और बहुत से सरकारी हॉस्पिटल या सरकारी संस्थान या गैर-सरकारी संस्था स्थाई या संविदा पर पर भी नर्सिंग की Vacancy निकालते हैं, जिनमे भी आप नौकरी पा सकते हैं।

GNM कोर्स के लिए योग्यता। 

  • इस कोर्स को लड़का और लड़की दोनों ही कर सकते हैं। 
  • कोर्स करने के लिए आपकी की उम्र कम से कम 17 और अधिकतम उम्र 30 साल होनी चाहिए। 
  • छात्र PCB (फिजिक्स, कैमेस्ट्री, बायोलॉजी) से 12 वीं पास होना चाहिए और उसके अंग्रेजी में कम से कम 40 नंबर होना जरूरी है। 
  • आपको मेडिकली फिट होने चाहिए। 
सैलरी : एक स्टाफ नर्स की सैलरी औसतन 2,30,000 प्रति वर्ष के लगभग होती है। सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में स्टाफ नर्स की बहुत डिमांड और वैल्यू होती है, शुरुआत में आपकी सैलेरी 15000 से 20000 रूपये महीना तक हो सकती है।  


कहाँ पर काम कर सकते हैं आप?
इस कैरियर में असीमित नौकरी के अवसर हैं, ANM और GNM डिग्री धारकों के लिए व्यापक रोजगार के अवसर हैं। आपको ये पाठ्यक्रम नर्सिंग क्षेत्र में अपना कैरियर चुनने का अवसर प्रदान करता हैं। ANM और GNM कोर्स की सफलतापूर्वक समाप्ति के बाद, आपके लिए एक उच्च अध्ययन विकल्प और साथ ही कैरियर की संभावनाएं भी बहुत हैं। सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में नर्स आसानी से रोजगार प्राप्त कर सकते हैं। अधिकतर इस कोर्स को करने के बाद सरकारी और निजी अस्पतालों, नर्सिंग होम, रूरल हेल्थ सेण्टर , ओल्ड आगे होम, गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम, अनाथालयों,  अस्पताल और सशस्त्र बलों जैसे क्षेत्रों में काम कर सकते हैं। आप शिक्षा संस्थानों, नर्सिंग ट्यूटर, आईसीयू नर्स और संक्रमण नियंत्रण नर्स में भी काम कर सकते हैं। इस क्षेत्र में रोजगार की अपर सम्भावनाएं हैं, इसको करने के बाद अच्छा करियर बना सकते हैं।  


दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।


No comments:

Post a Comment

Advertisement

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Advertisement

Contact Form

Name

Email *

Message *

Wikipedia

Search results

Post Top Ad