लिनक्स कर्नेल क्या है/What is Linux kernel? in Hindi - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, March 12, 2020

लिनक्स कर्नेल क्या है/What is Linux kernel? in Hindi

लिनक्स कर्नेल क्या है/What is Linux kernel? in Hindi
Kernel किसी भी Operating System का मुख्य भाग होता है, ये वो भाग होता है, जो Hardware से काफी हद तक डायरेक्ट इंटरैक्ट/Interact करता है। इसमें हर हार्डवेयर के लिए एक विशेष सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है, जिसे Driver कहा जाता है।
What is Kernel?

चलिए मैं आपको बिलकुल आसान शब्दों में समझा देता हूँ, आपने Desktop कंप्यूटर को तो देखा ही होगा जिसमें काफी सारे Hardware Component लगे होते हैं, जैसे की RAM, Processor, GPU और भी बहुत से कॉम्पोनेन्ट होते हैं, थी उसी तरह मोबाइल के अंदर भी बिलकुल उसी तरह के Hardware होते हैं, अब इन सभी Hardware को किर्यान्विन्त करने के लिए हमें एक ऐसे Resources या Application की जरुरत पड़ती है जो सभी चीजों को सही ढंग से काम करने दे, और User, Software और Hardware के बिच एक Bridge बना दे।  

आप इसे इस तरह भी समझ सकते हैं, की अगर आपको एक Latter टाइप करना है, आप इसके लिए MS Word को Open करेंगे या किसी दूसरी Application का इस्तेमाल करेंगे, अब लिखने के लिए इस एप्लीकेशन को एक Keyboard की जरुरत होगी जिससे हम लिख पाएंगे। लेकिन ये तब होगा जा हमारे पास उस एप्लीकेशन और कीबॉर्ड हार्डवेयर को Access देने की Authority होगी। अगर हम लिखे गए डॉक्यूमेंट को Save करना चाहते हैं तो इसके लिए भी हमें HDD को इस्तेमाल करने के एप्लीकेशन को Authority की जरुरत होगी, और और अगर हम उस Document को प्रिंट करना चाहते हैं तो Application को Printer Hardware के इस्तेमाल की Authority की जरुरत होगी, ताकि वो प्रिंटर का पूरी तरह से इस्तेमाल कर सके। इन सभी चीजों को कण्ट्रोल काने के लिए जो Authority है, जिसे हम परमिशन भी कह सकते हैं। ये सब कुछ Kernel के द्वारा ही संभव होता है। Kernel एक सॉफ्टवेयर है जो Operating System का हिस्सा होता है। कर्नेल का काम Application और Hardware के बिच तारतम्य बिठाना होता है। यानि जो भी आदेश User एप्लीकेशन के द्वारा हार्डवेयर को दे तो हार्डवेयर उसका पालन करे। कर्नेल हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच में ब्रिज की तरह काम करता है,एवं एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को जिस हार्डवेयर की आवश्यकता होती है, वो कर्नेल को Request करते है, और कर्नेल उस सॉफ्टवेयर को उसके Request के हिसाब से उन हार्डवेयर को इस्तेमाल करने की अनुमति देता है। 

तो दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।


Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma

हमारे द्वारा लिखित और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

1 comment:

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot