सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें How to become a Software Engineer पूरी जानकारी - LS Home Tech

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, January 14, 2019

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें How to become a Software Engineer पूरी जानकारी

नमस्कार दोस्तो
                     आज के जमाने मे वैसे तो बहुत सारी टेक्निकल जॉब हमारे सामने है, लेकिन उन्ही में से एक जॉब होती है सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer)  की, आज के इस आर्टिकल में हम इसी जॉब के बारे में सारी बातें जानेंगे, की कैसे आप एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं, आपको क्या क्या पढ़ाई करनी होगी, आपको नोकरी कहाँ मिल सकती है, या फिर आप अपना खुद का बिज़नेस भी स्टार्ट कर सकते हैं, सॉफ्टवेयर या एप्प डेवलपमेंट का, इसके बारे में भी हम डिटेल में जानेंगे।

Software engineer

आज के जमाने मे टेक्नोलॉजी इतनी बढ़ गई है कि हर कोई कंप्यूटर इंटरनेट और मोबाइल का मुरीद हो गया है, यानी इन चीजों के बिना हमारे बहुत से कार्य नही होते। आज आप कहीं भी चले जाएं किसी आफिस, कंपनी, या फिर आपको घर बैठे कुछ खरीददारी करनी हो तो सब आप कर सकते हैं। ये सभी काम जो हम कंप्यूटर और इंटरनेट या मोबाइल से करते हैं, उनके पीछे या उन प्रोग्राम को बनाने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer)  का हाथ होता है।
वैसे तो ये भी कंप्यूटर इंजीनियर ही होते हैं, लेकिन कंप्यूटर इंजीनियरिंग की भी दो केटेगरी होती है, एक होत है सॉफ्टवेयर इंजीनियर ओर दूसरा होता है हार्डवेयर इंजीनियर। हार्डवेयर इंजीनियर के विषय मे हम अपने किसी ओर अर्टिकलर में बात करेंगे। इस आर्टिकल में हम बात करेंगे सिर्फ सॉफ्टवेयर इंजीनियर से संबंधित।

प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer)  बनने के लिए आपकी क्या योग्यता होनी चाहिए अर्थात आपको एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए क्या-क्या पढ़ाई करनी पड़ती है, इस बारे में जानेंगे। ये कोर्स करने के बाद आपको कहाँ पर नोकरी मिल सकती है, ओर अगर आप एक अच्छे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन जाते हैं तो आपकी सेलरी क्या हो सकती है।

आज के इस टेक्नोलॉजी के ज़माने में सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) एक बहुत ही महत्वपूर्ण इंजीनियरिंग जॉब है। वर्तमान समय में किसी भी डिपोर्टमेंट में बिना कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के कुछ भी काम नहीं हो रहा है। इसलिए दिनों-दिन सॉफ्टवेयर इंजीनियर की मांग बढ़ रही है। इंजीनियरिंग क्षेत्र में बाकि इंजीनियर्स की तुलना में टेक्निकल इंजीनियर-सॉफ्टवेयर इंजीनियर को सबसे बुद्धिमान इंजीनियर (Intelligent engineer)माना जाता है, ओर ये सच भी है क्योंकि एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बाद आपकी बहुत माथापच्ची करनी पड़ती है। छोटी से छोटी बात पर भी बहुत गौर करना पड़ता है, इसमे किसी बात को आप इग्नोर नही कर सकते। एक सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी की बात करे तो उसकी सैलेरीसे भी ज्यादा उसकी सैलरी एक IAS ऑफिसर के बराबर होती है, आपका जितना अनुभव होगा तो आप लाखों में सैलरी प्राप्त कर सकते है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर का काम क्या होता है?
किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल सॉफ्टवेयर को बनाना, सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग करना, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, मोबाइल एप्प बनाना, फ्रीलांसिंग करना आदि कई कार्य होते हैं, जो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर कर सकता है। अगर आप चाहें तो फ्रीलांसिंग कर अपना खुद का बिज़नेस भी खड़ा कर सकते हैं।

एक ताजा शोध के अनुसार पता चला है की ज्यादातर सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) किसी कम्पनी में या सरकारी विभाग में काम न करते हुए खुद का सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट या एप्प डेवलपमेंट का काम करते है। शुरुआत में वो भी कम्पनी में या सरकारी डिपोर्टमेंट में जॉब करते है, लेकिन कुछ समय बाद वो जॉब मुक्त होकर खुद का बिजनेस करते है। इसकी को फ्रीलांसिंग कार्य कहा जाता है। इसमें आपके ऊपर किसी का दबाव नही होता।

आपकी सैलरी कितनी हो सकती है?
शुरुआत में आपकी सैलरी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर (Salaries of software engineers)कम से कम 25,000 से 35,000 ₹ तक हो सकती है, लेकिन जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ते जाता है वैसे-वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ते जाती है। हमारे देश मे बहुत सारी ऐसी कंपनियां है जो आपको जॉब दे सकती हैं।
आज हमारे देश में बहुत सारी  सॉफ्टवेयर कंपनियां (Software companies) कार्यरत है, उसमे सबसे अधिक बंगलौर शहर में है, जिसकी संख्या बहुत अधिक है, दिल्ली, गुरुग्राम को भी सॉफ्टवेयर कंपनियों के हब के रूप में जाना जाता है।

खास बात भारतीय सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की
आज के समय में हमारे देश में भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर को अच्छी सैलरी दी जाती है लेकिन फिर भी हमारे देश के अधिकतर सॉफ्टवेयर इंजीनियर विदेशों में नौकरी करते है। एक शोध के अनुसार पता चला है की, अमेरिका में 35 से 40 प्रतिशत इंजीनियर भारत के है, माइक्रोसॉफ्ट, गूगल, फेसबुक दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी है इसमें काम करने वाले 30 से 45 प्रतिशत कर्मचारी भारतीय है। इंटेल, आयबीएम, नासा, इस सब कंपनियों में भी हमारे देश के सॉफ्टवेयर इंजीनियर बड़ी संख्या में नोकरी कर रहे है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) कैसे बने 
अगर आप एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते है तो आपका कंप्यूटर, मोबाइल, इंटरनेट इन सभी टेक्नोलॉजी (Technology) में इंट्रेस्ट होना बहुत जरुरी है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software engineer) बनने के लिए आको बहुत मेहनत करनी पड़ती है, कोई ऐसे ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन जाता, एक कलेक्टर बनने के लिए जितनी पढाई आपको करनी पड़ती है उससे भी कही अधिक इस पेशे के लिए आपको पढाई करनी पड़ती है।
इसके लिए असपको कंप्यूटर की बाइनरी लैंग्वेज को सीखना ओर समझना पड़ता है। ओर साथ ही आपकी इंग्लिश (English) और गणित (Mathematics) बहुत ही स्ट्रोंग होनी चाहिए, क्योंकि कंप्यूटर की सभी कोडिंग इंग्लिश में होती है। यहाँ कोडिंग, लैंग्वेज और प्रोग्रामिंग की परीक्षा होती है, जिसको साधारण लोग नही समझ पाते है। यहां पर आपको एक-एक बिंदु का ध्यान रखना पड़ता है, यहाँ पर तो … की जगह ,,, यह हो गया तो पूरा प्रोग्राम (Program) ख़राब हो सकता है। इसलिए सबसे पहले इसकी लैंग्वेज (Language) को समझना पड़ता है, उसके बाद फिर आगे बढ़ना होता है।
कंप्यूटर लैंग्वेज कोनसी होती है?
  • C++
  • C Language
  • Java
  • Php
  • .Net
  • Html
  • JavaScript
  • Python
  • Sql
  • C#
  • Ruby

सॉफ्टवेयर इंजिनीरिंग में अथवा सॉफ्टवेयर बनाने के लिए इन सभी लैंग्वेज का प्रयोग किया जाता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए भी इन लैंग्वेज को समझना ओर सीखना पड़ता है। यदि आप इन लैंग्वेज को समझने में असफल रहे तो आप एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर कभी नहीं बन पाएंगे।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपकी शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification to become a Software Engineer)
  • IT : Information Technology
  • BCA : Bachelor of Computer Application
  • B.Tech : Bachelor of  Technology
  • Cs Diploma : Computer Science Diploma

कक्षा 12 के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में अपना कदम रखने के लिए इन कौरसों में आप जा सकते है, यह सभी बैचलर कोर्सेस है। इन कोर्सेस में आपको कंप्यूटर टेक्नोलॉजी से सबंधित सभी आवश्यक जानकारी से परिचित कराया जाता है, जैसे (Language, coding, programming, designing) इत्यादि। इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री प्राप्त करने के बाद आप इसमें MCA, MCS या M.Tech करके मास्टर डिग्री भी प्राप्त कर सकते है। सॉफ्टवेयर दुनिया एक ऐसी दुनिया है जिसमे आप जितना सीखेंगे उतना ही कम है। इसलिए लगे रहिये मेहनत कीजिये आपको आपकी मंजिल मिल जाएगी (Never Stop Learn फॉरएवर) सीखते रहो और ज्ञान को बढ़ाते रहें।

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमरी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 


Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

6 comments:

About Me

My photo
दोस्तो नमस्कार मैं सुनिल/ली. शर्मा हमारे इस वेब पोर्टल का Technical Author और Founder हूँ। मेरा इस वेबसाइट को चलाने का मकसद है कि मैं लोगों को कंप्यूटर और आधुनिक जमाने की डिजिटल टेक्नोलॉजी के बारे में हर प्रकार की जानकारी दूँ, ताकि लोग आधुनिक तकनिकी के बारे में और ज्यादा जान सकें, मैं आप सभी से भी प्रार्थना करूँगा की आप लोग भी हमारे इस मुहीम से जुड़ें और अन्य दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ हमारे आर्टिकल शेयर करें। मैं YouTube पर भी एक चैनल चलाता हूँ जहाँ पर आप किसी भी प्रकार के कंप्यूटर के सामान्य सॉफ्टवेयर से लेकर एडवांस लेवल के 3D सॉफ्टवेयर को सिख सकते हैं।

Featured Post

आधुनिक जीवन और कंप्यूटर शिक्षा। Modern Life and Computer Education.

दोस्तों सबसे पहले तो आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार, जैसा की आप सभी को पता ही होगा की हम अपनी इस वेबसाइट पर Technology और Education से ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Follow Us Here

Post Top Ad

Your Ad Spot