LS Home Tech: पीएचडी/PhD. क्या है? पीएचडी करने के लिए योग्यता। PHD
You can search your text here....

Saturday, April 13, 2019

पीएचडी/PhD. क्या है? पीएचडी करने के लिए योग्यता। PHD

दोस्तो नमस्कार हमारे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है, हम अपने इस वेब पोर्टल पर Technology ओर Education से संबंधित आर्टिकल लिखते है। आज के इस लेख में हम आपके लिए लेकर आये हैं पीएचडी से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी, अगर आप भी करना चाहते हैं पीएचडी तो पोस्ट आपके बहुत काम की है। कृपया इसे पूरा पढ़ें, साथ ही अन्य जानकारी के लिए आप हमारी दूसरी पोस्ट भी पढ़ सकते हैं।

पीएचडी/PhD यानी डॉक्टर ऑफ़ फिलोसोफी/Doctor of Philosophy जिसे हम शोर्ट और सामान्यतः Ph.D या फिर PhD भी कहते है। पीएचडी भारतीय शिक्षा प्रणाली का एक उच्च स्तर का डिग्री कोर्स है जो की पुरे 3 साल का होता है (इसका मुख्य कोर्स टाइम 3 साल होता है तथा 6 साल के अंदर तक आप अपने थीसिस जमा करवा सकते हैं)। इस कोर्स को पूरा करने के बाद अर्थात पीएचडी की डिग्री पूरी करने के बाद आपके नाम के आगे डॉo/Dr. लग जाता है। पीएचडी एक डॉक्टरेट डिग्री/Doctorate Degree है। अगर आपको किसी भी बड़े कॉलेज में प्रोफेसर या लेक्चरर बनना है, तो ऐसे में आपके पास ये डिग्री होनी ही चाहिए तभी आप एक प्रोफेसर बन सकते है। ऐसा जरूरी नही है कि आप प्रोफेसर या लेक्चरर बने, आप चाहे तो किसी विषय पर रिसर्च या फिर एनालिसिस भी कर सकते है। किसी भी विषय से पीएचडी करने के लिए आपके पास उस विषय का बहुत ही अनुभव होना चाहिए। उस विषय से इस कोर्स को करने के बाद आपके पास उस विषय का ओर ज्यादा ज्ञान होगा। यानि आप उस विषय के एक्सपर्ट कहलायेंगे। पीएचडी आप तभी कर सकते हैं जब आपने किसी भी विषय से मास्टर डिग्री/Post graduation degree (MA. M.Phil.) पूरी कर रखी हो।

कुछ ध्यान देने योग्य बातें। 
पीएचडी कोर्स करने से पहले आपको ये बाते ध्यान में रखनी होगी कि जिस भी विषय में आपको इंटरेस्ट हो या जिस विषय मे आप माहिर हों, या जिस भी विषय में आपने 12वीं पास की है। उसी विषय में ग्रेजुएशन पूरी करे साथ ही मास्टर डिग्री भी उसी विषय में पूरी करे। अगर आप एक ही विषय को लगातार पढ़ेंगे तो वो विषय आपके लिए पीएचडी करने के लिए बहुत फायदेमंद रहेगा। मान लीजिए आपने 12वीं हिंदी-इंग्लिश के साथ संस्कृत और भूगोल से की है, तो आपको ग्रेजुएशन/बीए भी संस्कृत और भूगोल विषयों में करनी चाहिए, उसके बाद आपको मास्टर डिग्री में संस्कृत या भूगोल इन दोनों विषयों में से एक विषय का चुनाव करना होगा, या आप चाहें तो दोनों विषयों से भी मास्टर डिग्री कर सकते हैं।

पीएचडी लिए योग्यता क्या चाहिए /Eligibility Criteria for Ph.D. Course
इसके लिए आपने कोई भी मास्टर डिग्री (MA. M.Phil.) पूरी की होनी चाहिए।
मास्टर डिग्री में आपके कम से कम 55% या 60% नंबर होने चाहिए।
पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम के लिए नंबर परसेंटेज अलग-अलग विश्वविधालयों में अलग-अलग होती है।
ये भी पढ़ें :


पीएचडी कोर्स करने के फायदे /Advantage of Ph.D. Course
  • पीएचडी करने के बाद आप अपने फील्ड में एक्सपर्ट कहलायेंगे।
  • पीएचडी भारतीय शिक्षा प्रणाली की सबसे उच्च डिग्री है।
  • पीएचडी करने के बाद आप किसी भी कॉलेज में जिस विषय से आपने पीएचडी की है उस विषय के प्रोफेसर बन सकते हैं।
  • पीएचडी करने के बाद आप किसी विषय पर रिसर्च या एनालिसिस भी कर सकते हैं।
  • पीएचडी करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉo/Dr. लगा सकते हैं।
  • पीएचडी करने के बाद किसी भी पोजीशन के लिए जॉब में अप्लाई कर सकते हैं।
  • पीएचडी करने के बाद आप क्रिएटर ऑफ़ इनफार्मेशन भी बन जाते हैं।
  • पीएचडी करने के बाद आप उस विषय के सर्वज्ञाता बन जाते हैं। आपको उस विषय में सब कुछ ज्ञान हो जायेगा की क्या सही है और क्या गलत है।



पीएचडी/Ph.D. सम्पूर्ण जानकारी। शैक्षणिक योग्यता। 

12वीं पूरी करें। 
देखिये 10वीं कक्षा तक आप किसी भी विषय का चुनाव खुद नहीं कर सकते, 11वीं और 12वीं में आप स्वतंत्र विषयों का चुनाव कर सकते हैं, इसलिए पीएचडी के लिए 11वीं और 12वीं को ही पहला कदम माना जाता है। अब जिस भी विषय में आपकी रुची है उसी सब्जेक्ट को चुने।  किसी भी विषय पर फोकस करें जिसमे आपकी रूचि ज्यादा हो ताकि आपको आगे जाके फायदा हो, और कोशिश करें की 12वी आप अच्छे नंबर से पास करे और कम से कम 60% या इससे अधिक नंबर लाएं। 

ग्रेजुएशन पूरी करे। 
जैसे ही आपकी 12वीं कक्षा पास हो आप आगे की पढाई/ग्रेजुएशन/Bachelor Level के लिए किसी अच्छे कॉलेज में अप्लाई करें। आप ग्रेजुएशन रेगुलर करें तो सबसे बेस्ट रहेगा। ग्रेजुएशन में भी आपको अपने पसंदीदा विषय पर विशेष ध्यान देना होगा। 3 साल ग्रेजुएशन डिग्री की पढाई पूरी करें। इसमें आपको जिस भी फील्ड में एक्सपर्ट बनना है उस विषय को अच्छे से पढ़े और ज्यादा से ज्यादा नंबर लाएं। 


पोस्ट ग्रेजुएशन/मास्टर डिग्री पूरी करे। 
जैसे ही आपकी ग्रेजुएशन पास हो आप आगे की पढाई/पोस्ट ग्रेजुएशन/Master Level के लिए किसी अच्छे कॉलेज/विश्विधालय में अप्लाई करें। इसमें ध्यान रहे की जिस विषय में आपने बैचलर/ग्रेजुएशन डिग्री/Bachelor Degree पूरी की है, उसी विषय में मास्टर डिग्री/Master Degree भी पूरी करें। इसके बाद ही आपको PhD में ज्यादा फायदा होगा। साथ ही ये भी कोशिश करें की मास्टर और बैचलर डिग्री में आपके कम से कम 60% नंबर हो ताकि आपको आगे PhD एंट्रेंस एग्जाम के लिए कोई दिक्कत न हो। 

UGC NET के लिए अप्लाई कर टेस्ट और क्लियर करें। 
आपकी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी हो जाने के बाद आपको PhD के लिए UGC NET को क्लियर करना होगा। कुछ साल पहले तक PhD के लिए ये टेस्ट देना अनिवार्य नहीं था। लेकिन अब PhD करने के लिए इस टेस्ट को क्लियर करना अनिवार्य कर दिया गया है। 
UGC (University Grant Commission)
NET  (National Eligibility Test)

PhD एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करें और पढ़ें। 
जैसे ही आपका NET/National Eligibility Test क्लियर हो जाये, इसके बाद आप पीएचडी की पढाई के लिए अपने लिए उप युक्त कॉलेज/विश्विधालय चुन सकते हैं। इसके लिए आपको उस विश्विधालय के एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होगा। हर विश्विधालय/यूनिवर्सिटी/University पीएचडी एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करती है। पीएचडी के लिए तो आपको इस एग्जाम को भी क्लियर करना होगा, तभी आपको पीएचडी में एडमिशन मिलेगा। 


PhD के लिए फीस। 
दोस्तों पीएचडी के लिए कोई तय फीस नहीं है, अलग-अलग कॉलेज/विश्विधालय में अलग-अलग Fee Structure होता है। अगर आप किसी सरकारी कॉलेज/विश्विधालय से ये कोर्स करते हैं तो आपकी फीस बहुत कम लगती है, अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज/विश्विधालय से पीएचडी करते हैं तो आपको ज्यादा फीस देनी होगी। 
हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें।





No comments:

Post a Comment