वेब डिजाइनिंग और वेब डेवेलपमेंटमें क्या अंतर है? What is The difference between Web Designing And Web Development? - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, February 4, 2020

वेब डिजाइनिंग और वेब डेवेलपमेंटमें क्या अंतर है? What is The difference between Web Designing And Web Development?

वेब डिजाइनिंग और वेब डेवेलपमेंटमें क्या अंतर है? 
What is The Difference between Web Designing And Web Development?
 Web Designing And Web Development

Web Designing और Web Development दोनों एक दूसरे के पूरक हैं, किसी भी वेब पेज के निर्माण के लिए दोनों चीजों की आवश्यकता होती है। Web Designing का काम किसी भी वेब पेज का पूरा स्ट्रक्चर तैयार करना होता है जिसके अंतर्गत वेबसाइट के लिए प्लानिंग/Planning और Virtualization जैसी चीजें शामिल होती हैं।
Web development में किसी भी Websites के Actual Interface का निर्माण किया जाता है। इस Interface को HTML, CSS, JavaScript जैसी कंप्यूटर भाषा/Language का उपयोग करके Front-End Developers द्वारा बनाया जाता है। Web designing में आपको HTML, CSS और JavaScript जैसी कंप्यूटर की Programming Language सीखनी होती है। जब Web Designer वेबसाइट के Design को तैयार कर देते है, उसके बाद Web Developer  Programming language का इस्तेमाल करके उस वेबसाइट को क्रियाशील बनाते है। किसी भी Website के Layout और अन्य दृश्य माध्यम/Visual Elements को बनाने के लिए वेब डिजाइनर Adobe Photoshop, Sketch, Illustrator और Corel Draw जैसे Software का इस्तेमाल करते हैं। Web Designer को हमेशा नए design trend के साथ बने रहने की आवश्यकता होती है। यह Design Consistency बनाये रखने के लिए भी बहुत जरुरी होता है। 

अब बात करते है कि Web Development क्या होता है। Web Development का सारा काम Web Developer का होता है। वेब डेवलपर के काम के अंतर्गत Client, Server और Database से सम्बंधित काम होता है। यानि कि हम ये कह सकते हैं की एक Web Developer का काम किसी वेबसाइट की इंटरनेट पर काम करने की क्षमता को विकसित करना होता है, और उस वेबसाइट के बैक-एन्ड को मैनेज करना होता है। Web Development में आपको PHP, Python, C, .NET और Ruby जैसी Computer Programming Language का ज्ञान होना जरुरी होता है। वेब डेवलप्मेंट के अंतर्गत किसी भी वेबसाइट पर आ रहे ट्रैफिक/Traffic का सारा रिकॉर्ड जिसमें उनके द्वारा अपलोड/Upload या डाउनलोड/Download किये जाने के पीछे के सोर्स पर काम किया जाता है।

तो दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।


Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma

हमारे द्वारा लिखित और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :


No comments:

Post a Comment

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot