सीपीयू/CPU क्या है, इसके काम और यूनिट की विस्तृत जानकारी। CPU Functions and unit full details in Hindi - LS Home Tech

Home Top Ad

Sunday, December 22, 2019

सीपीयू/CPU क्या है, इसके काम और यूनिट की विस्तृत जानकारी। CPU Functions and unit full details in Hindi

दोस्तों नमस्कार, हमारे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है, हम अपने इस पोर्टल पर Technology और Education से जुड़े आर्टिकल/पोस्ट लिखते हैं जो आपके बहुत काम के होते हैं। आप हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए पेज के दाईं/Right तरफ जहाँ आपको आर्टिकल की लिस्ट मिलेगी वहां से हमारे सभी आर्टिकल पढ़ सकते हैं। आज का जो हमारा विषय है वो कंप्यूटर टेक्नोलॉजी से ही जुड़ा हुआ है जिसमे हम जानेंगे CPU से जुडी हुई हर एक जानकारी के बारे में।  

CPU Functions and unit full details in Hindi

जब भी आप कोई नया कंप्यूटर या लैपटॉप खरीद रहे हो तो दुकानदार की और से आपको सबसे पहले सीपीयू/CPU के बारे में ही पूछा जाता है की आपको कोनसा सीपीयू/CPU चाहिए। इसलिए आप सभी का कंप्यूटर खरीदने से पहले ये जान लेना बेहद जरुरी है की सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते है। सीपीयू/CPU को उनकी गति/Speed के आधार पर कोर/Core के हिसाब से अलग-अलग केटेगरी में बांटा गया है। आप अपने काम के हिसाब से सीपीयू/CPU का चुनाव कर सकते हैं। दुनिया में कंप्यूटर प्रोसेसर निर्माता दो ही मुख्य कंपनियां हैं जो सीपीयू/CPU का निर्माण करती है एक है Intel और दूसरी है AMD .  



क्या होता है सीपीयू/CPU?

दरअसल सीपीयू/CPU कंप्यूटर को चलाने के लिए एक छोटा सा पुर्जा होता है। जिसे कंप्यूटर का मस्तिष्क/दिमाग कहा जाता है। सीपीयू/CPU का पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट/Central Processing Unit है। ये कंप्यूटर के अंदर मदरबोर्ड/Motherboard पर लगाया जाता है। सीपीयू/CPU का काम बिलकुल हमारे Brain यानि दिमाग जैसा ही होता है। जैसे हमारे शरीर में हमारा मस्तिष्क हमारे सारे प्रक्रियाओं/Functions को Control करता है, ठीक वैसे ही एक कंप्यूटर में भी सीपीयू/CPU उसके भीतर और बाहर हो रहे सभी फंक्शन्स को नियंत्रित करता है। इसकी इसी खासियत की वजह से इसे Brain of Computer कहा जाता है। सीपीयू/CPU को Processor, Central Processor, या Microprocessor इत्यादि नामों से भी जाना जाता है। सीपीयू/CPU को हिंदी में केंद्रीय प्रचालन तंत्र/केंद्रीय संसाधन एकक या केंद्रीय प्रसंस्करण इकाई कहा जाता है। जितनी ज्यादा CPU की Capacity होगी उतनी ही ज्यादा जल्दी से ये अपने Applications को Run कर सकते हैं। 


सीपीयू/CPU का काम क्या है?
अब बात करते हैं इसके काम की तो कंप्यूटर पर जो काम होता है वो इसे से शुरु होता है और इसी से ख़त्म होता है। कंप्यूटर के चलने से लेकर उसके बंद होने तक सारा काम यही करता है। सीपीयू/CPUका बेसिक काम होता है Fetch, Decode और Execute करना। सीपीयू/CPU Software और Hardware में आपसी सामंजस्य बिठाकर आपके काम को सरल करता है। यह आपके द्वारा दिए गए सभी इंस्ट्रक्शंस को पढता है और उन्हें Execute करता है। सीपीयू/CPU सभी प्रकार के Data Processing Operations करता है। 


सीपीयू/CPU कैसे करता है काम?

फेच/Fetch

इसमें सीपीयू/CPU द्वारा Instruction को Receive किया जाता है। Instruction यानि Series of Numbers एक प्रकार का बाइनरी कोड/Binary Code जिसे की RAM से CPU तक Pass किया जाता है। प्रत्येक Instruction किसी Operation का एक छोटा सा ही भाग होता है, इसलिए CPU को ये पता होना चाहिए की अगला कोन सा Instruction आ रहा है। Current Instruction Address को Program Counter/PC के द्वारा रखा जाता है। उसके बाद PC और Instructions को Instruction Register/IR में स्थापित किया जाता है। इस प्रक्रिया के पूरा होने के पश्चात PC length को बढाया जाता है जिससे उसे Next Instruction’s Address पर Reference किया जा सके। 

डिकोड/Decode

IR में जब सभी Instruction को Fetch और Store कर लिया जाता है, उसके बाद सीपीयू/CPU उस Instruction's को एक ऐसी Circuit में Pass कर देता है जिसे की Instruction Decoder कहते हैं। उसके बाद ये Pass किये गए उन Instruction's को कन्वर्ट करके आगे Action के लिए भेज देता है।  

एक्सीक्यूट/Execute

किसी भी डाटा को प्रोसेस करने का ये आखिर का चरण होता है, इसमें Decoded Instructions को Complete होने के लिए CPU के Relevant Parts पर भेजा जाता है। उसके बाद प्राप्त Results को CPU Register में Write किया जाता है, जहाँ पर उन्हें later Instructions के द्वारा Reference किया जा सकता है। इन सभी प्रक्रियों के  बाद आपको आपका सही Result सीपीयू/CPU के द्वारा मिलता है। 

सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते हैं? Types of CPU in Hindi

सिंगल कोर/Single Core CPU

सिंगल कोर/Single core CPU पुराने ज़माने के सभी कंप्यूटर में लगते थे या जिनके पास आज भी पुराने कंप्यूटर मौजूद हैं उनमे आज भी हैं। कंप्यूटर में सबसे पहले सिंगल कोर/Single core CPU का ही प्रयोग किया गया था इस Processor द्वारा एक समय में एक ही Operation किया जा सकता था। सिंगल कोर प्रोसेसर Multi-Tasking के लिए सही विकल्प नहीं थे। इनमे जब भी User एक से ज्यादा Application run करता था तभी इनकी Performance बहुत ही धीमी हो जाती थी। इन प्रोसेसर की Clock-Speed बहुत ही कम होती थी। और किसी भी CPU की फंक्शन गति उसकी Clock-Speed के ऊपर ही निर्भर करती है। Single core CPU में Processor को Different sets of Data Streams में Switch Back और Forth करना होता है। 


डुएल कोर/Dual Core CPU
डुएल कोर/Dual Core CPU असल में Single CPU ही होता है, लेकिन इसमें दो Cores होते हैं। इसी कारण ये CPU दो CPU की तरह Function करता है। डुएल कोर/Dual Core CPU बड़े ही आराम से Multitasking को Manage कर सकता है वो भी efficiently के साथ। इस प्रोसेसर की Clock-Speed भी लगभग दुगनी हो जाती है जिसके कारण मल्टीटास्किंग आसान हो जाती है। Dual Core का ज्यादा Advantage लेने के लिए दोनों सीपीयू Operating system और जो Programs उसमें Run कर रहा है, दोनों में एक Special Code या Script का लिखा होना बहुत ही जरुरी है। इस कोड को SMT/Simultaneous Multi-Threading Technology कहा जाता है।  

क्वॉड कोर/Quad Core CPU

क्वॉड कोर/Quad Core CPU चार Single कोर CPU के बराबर काम करता है, क्यूंकि इसमें चार कोर एक साथ काम करती है। जिस पार्ककर से एक डुएल कोर/Dual Core CPU Work load को दो कोर में बाँट देता है ठीक उसी प्रकार से यह वर्क लोड को चार कोर में बाँट देता है। इसका मतलब ये नहीं है की ये किसी एक या Application की स्पीड को चार गुना कर देगा, ये सिर्फ Multitasking वर्क को ही जल्दी करेगा। जब एक साथ कंप्यूटर पर बहुत सारे काम करने हो तब इस प्रकार के सीपीयू का इस्तेमाल करते हैं जैसे - Video Editing, Designing, Game इत्यादि। 


हैक्सा कोर/ Hexa Core CPU 
हैक्सा कोर/ Hexa Core CPU में क्वॉड कोर/Quad Core के मुकाबले छः Cores होते हैं। इसलिए इसके काम करने की Speed और ज्यादा तेज होगी और मल्टीटास्किंग के लिए भी ज्यादा उपुक्त रहेगा। 

ओक्टा कोर/Octa Core CPU 

ओक्टा कोर/Octa Core CPU में आठ Cores होते हैं, जो मल्टीटास्किंग की गति को एक अलग ही स्तर तक ले जाते हैं। 

डेका कोर/Deca Core CPU 


जैसे जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हो रहा है आये दिन CPU में कुछ नया जुड़ रहा है, डेका कोर/Deca Core CPU इसमें दश Cores होते हैं, यह अब तक का सबसे Powerful CPU है जो, जो बड़े और लम्बे Project की Rendering या 3D, VFX मॉडलिंग के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है। 

आइये जानते है की CPU के कंपोनेंट्स के बारे में, और वो क्या काम करते हैं।  इसके तीन मूल कंपोनेंट्स/यूनिट  होते हैं। 

  • Memory या Storage Unit
  • Control Unit
  • ALU/Arithmetic Logic Unit

1. Memory या Storage Unit
इसकी यह यूनिट Computer System के Data और Instructions के साथ इनके Intermediate परिणाम को Store करते हैं। जरुरत पड़ने पर यह Unit दुसरे सभी यूनिट को Information भी प्रदान करती हैं। इसे Internal Storage Unit, Main Memory, Primary Storage या RAM/Random Access Memory भी कहा जाता है। इस यूनिट का साइज इसकी सSpeed, Power और Capability पर निर्भर करता है। Primary और Secondary मेमोरी ये दोनों ऐसी मेमोरी होती हैं जो कंप्यूटर के अंदर मौजूद होती हैं।

Memory Unit के Functions. 

  1. यह प्रोसेसिंग के वक़्त जरुरी सभी Data और Instructions को स्टोर करती हैं। 
  2. यह सभी Intermediate Results of Processing को Store करती है। 
  3. सभी Inputs और Outputs को Main Memory के द्वारा Transmit किया जाता है। 


2. Control Unit
यह Unit कंप्यूटर के सभी Parts के Operations को कण्ट्रोल करती है। लेकिन यह Actual Data Processing Operations नहीं करती। यह डाटा और इंस्ट्रक्शंस के Transfer को कण्ट्रोल करने के काम में आता है। यह कंप्यूटर के डाटा और इंस्ट्रक्शंस को दूसरे Units में Transfer करने के लिए किया।

Control Unit के Functions 

  1.  यह Computer की सभी यूनिट को Manage और Coordinate करने के लिए किया जाता है। 
  2. यह मेमोरी से Instructions को प्राप्त करता है, उन इंस्ट्रक्शंस को Interpret करता है, और उन Operation को कंप्यूटर तक Direct करने के लिए इस्तमाल किया जाता है। 
  3. यह कंप्यूटर के सभी Input/Output डिवाइस के साथ संचार/Communication करता है। 
  4. यह यूनिट कोई भी चीज़ Process नहीं करता और न ही कोई Data स्टोर करता है। 

3. ALU/Arithmetic Logic Unit
Arithmetic Logic Unit में दो Subsections होते हैं जिन्हें Arithmetic Section और Logic Section कहते हैं।

Arithmetic Section
Arithmetic Section कंप्यूटर के अंदर होने वाली सभी Arithmetic ऑपरेशन जैसे की Addition, Subtraction, Multiplication और Division आदि गणितीय ऑपरेशन्स को क्रियान्वित करती है।

Logic Section
Logic Section कंप्यूटर के अंदर होने वाले सभी Logical Operations जैसे की Comparing, Selecting, Matching और Merging of Dataको Perform करती है।


तो दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।



Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma



No comments:

Post a Comment

About Me

My photo
This is Sunil Sharma working in IT industry.

Archive

Featured Post

कंप्यूटर बेसिक जानकारी। Basic Computer Knowledge in Hindi

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website  LSHOMETECH  पर आपका स्वागत है, हम अपने इस  Portal  पर  Technology  और  Education  से सम्बंधित आर्टि...