Web Server, Web Browser, Search Engine, URL, HTTP, HTML क्या है? - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, March 5, 2020

Web Server, Web Browser, Search Engine, URL, HTTP, HTML क्या है?

दोस्तों नमस्कार, हमरे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है। आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए इंटरनेट पर प्रयोग होने वाले सभी Application System की जानकारी लेकर आये हैं, जिनके माध्यम से हम Internet को अपने Computer या Mobile पर Access कर पाते हैं। इसमें आपकी उन सभी तकनीकों के बारे में बताएंगे जिनके कारण Internet का इस्तेमाल काफी सरल बन गया है।
What is Internet

URL क्या होता है? What is URL?
इंटरनेट पर किसी भी Web Address को खोलने के लिए हमें किसी भी Browser के Address Bar में Domain Name के साथ एंटर करना होता है, जब हमारा पेज खुल जाता है, तब आप उस पेज के डोमेन को Browser के Address Bar से कॉपी करेंगे तो वो URL/Uniform Resources Locator बन जाता है। जैसे-https://www.lshometech.com जैसे ही आप इस URL को एड्रेस बार में एंटर करते हैं, तो ये इस एड्रेस को Server के IP Address में बदल देता है, और आपके सामने उचित पेज लाने के लिए Request करता है।

> Web Server क्या होता है? What is a Web Server?
Web Server एक ऐसी तकनीक होती है, जो हमें Web Page और Website को उपलब्ध कराने में और Internet Surfing में हमारी मदद करता है। Web Server हमें जरुरी वेबपेज और वेबसाइट से से Connect करता है। जब भी हम इंटरनेट पर कुछ भी Browse में Search करते हैं, तब वेब सर्वर का काम जारी रहता है। Web Server में एक HTTP/Hyper Text Transport Protocol होता है जो किसी भी वेब सर्वर को Internet पर मौजूद Data सेर्च करने में मदद करता है, और किसी भी फाइल को Manage और Control करता है। सीधे अर्थों में हम ये कह सकते हैं की Web Server आपको इंटरनेट पर मौजूद किसी भी प्रकार की सामग्री दिखाने में मदद करता है। Web Server में किसी भी दूसरे Server से किसी Specific File को लाने के लिये Map बनाया हुआ होता है। Web Server उस File को ढूढ़ने के बाद उसे वापिस Computer को भेजता है, और Computer उस Web Page को आपकी स्क्रीन पर Browser में दिखा देता है।

Web Browser क्या होता है? What is a Web Browser?
Web Browser एक प्रकार का सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है, जिसके माध्यम से हम Computer या Mobile पर इंटरनेट सर्फिंग। Web Browser का काम इंटरनेट के साथ ही शुरू होता है, बिना इंटरनेट के किसी भी वेब ब्राउज़र का कोई काम नहीं होता। असल में वेब ब्राउज़र एक दरवाजे की तरह काम करता है, जिसे खोलकर हम इंटरनेट की दुनिया में प्रवेश कर सकते हैं। वेब ब्राउज़र की मदद से ही हम इंटरनेट पर Video, Image या Text फाइल को देख सकते हैं। Web Browser इंटरनेट के माध्यम से Content तक पहुचने की एक विधि होती है। यह http protocol के बाद वेब पेजो का एक संग्रह है, जिसे दुनिया के किसी भी हिस्से में internet के माध्यम से Access किया जा सकता है। Protocol एक तरह की भाषा है जिसका उपयोग इंटरनेट पर data transfer करने और communicate करने के लिए किया जाता है। आमतौर पर उपयोग किये जाने वाले वेब ब्राउज़र Google Chrome, Safari Browser, Opera Mini, Mozilla Firefox, Internet Explorer इत्यादि हैं।
Search Engine क्या होता है? What is a Serch Engine?
सर्च इंजन एक प्रकार का प्रोग्राम है जो, इंटरनेट पर आपके द्वारा किये या खोजे गए असीमित सवालों के जवाब आपके लिए खोजकर लाता है, और आपके सवाल से सम्बंधित जो भी जानकारी होती है उसे आपकी कंप्यूटर या मोबाइल की स्क्रीन पर आपको दिखाता है। Internet पर जो कुछ भी Search किया जाता है Search Engine उसका बिलकुल सही Result आपके सामने लेकर आता है। आज हमारे पास बहुत से Search Engine मौजूद है जैसे की Google, Yahoo, Bing, Ask.com, AOL.com, Baidu, DuckDuchGo इत्यादि जिनके द्वारा हम इंटरनेट पर कुछ भी सर्च कर सकते हैं।

HTTP क्या होता है? What is HTTP?
HTTP का मतलब होता  है Hyper Text Transport Protocol जो Clint Computer और Web Server के बिच HTTP Request भेजकर और v Respond प्राप्त करके Communication करता है। मन लीजिये आप किसी भी Web Browser में कोई भी URL सर्च करते हैं तो आपकी Request सीधे वेब सर्वर में जाती है, सर्वर आपकी Request को Receive करता है, जिसे प्रोसेस करने के लिए एक Application रन करता है। प्रोसेस पूरा हो जाने के बाद वेब सर्वर उस आउटपुट कप HTTP Response के रूपमें वापिस Browser को भेजता है। इस तरिके से HTTP एक Communicator का काम करता है।

HTML क्या होता है? What is HTML?
HTML एक प्रकार की मार्कअप लैंग्वेज होती है, जिसका पूरा नाम है Hyper Text Markup Language जो वेब पेज के Structure को बनाने के काम आती है। आपने अगर देखा भी हो किसी भी वेब पेज पर URL के अंत में। .html लगा हुआ होता है। इससे होता ये है की आपके कंप्यूटर को पता चल जाता है कि Request HTML फाइल की आयी है। इंटरनेट के सुहृयति दिनों में जब कुछ ही Markup Language का डेवलप्मेंट हुआ था, तब किसी भी वेब पेज को बनाए के लिए HTML का इस्तेमाल किया जाता था। फ़िलहाल और भी मार्कअप लैंग्वेज मौजूद है जैसे .php, .asp.

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 
Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :


No comments:

Post a Comment

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot