Skip to main content

कंप्यूटर की मूल यूनिट, संक्षिप्त विवरण। Basic unit of computer, overview.

साथियों नमस्कार, मैं आपके अपने वेब पोर्टल LSHOMETECH पर आपका स्वागत करता हूँ। हमारे इस पोर्टल पर Technology ओर Education से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी आपको दी जाती है। हमारे सभी आर्टिकल Digital Technology बेस्ड होते हैं। आपको हमारी वेबसाइट पर कंप्यूटर से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी मिल जाएगी, इसके लिए आपको हमारी वेबसाइट पर मौजूद सभी Category में से Computer का चुनाव करना होगा, उसके बाद कंप्यूटर से संबंधित सभी पोस्ट आपके सामने पेज पर मौजूद होगी। तो चलिए आज के विषय के बारे में बात कर लेते है। आज हमारा कंप्यूटर से संबंधित विषय है कंप्यूटर की मूल यूनिट।  
All units of a computer

कंप्यूटर एक अकेला कॉम्पोनेन्ट नहीं है, बल्कि ये कुछ कॉम्पोनेन्ट का समूह जो सभी मिलकर एक कंप्यूटर कहलाते हैं, अगर आपने कंप्यूटर के अंदर कभी देखा हो तो वहां पर Cabinet के अंदर बहुत से Hardware लगे हुए होते हैं, जिनमें कुछ सामान्य और कुछ जटिल होते हैं। आइये इन सभी Hardware की जानकारी आपको दे देते हैं।    

कंप्यूटर की मूल यूनिट/Computer Ki Mul Unit in Hindi 

मदरबोर्ड/Motherboard 
कसीस भी कंप्यूटर के Main Circuit बोर्ड को ही Motherboard कहा जाता है। यह एक पतली प्लेट की तरह होता है जिस पर सभी Components (CPU, RAM, HDD Connector) लगे हुए होते हैं, और साथ ही कुछ Input और Output यूनिट, डिस्प्ले यूनिट भी लगी होती है। कंप्यूटर का Motherboard हर प्रकार के हार्डवेयर से सीधे तौर पर जुड़ा हुआ होता है, और कंप्यूटर की हर कार्यवाही Motherboard से ही शुरू होती है।   

CPU/Processor
CPU जिसे Central Processing Unit कहा जाता है, ये कंप्यूटर कैबिनेट के अंदर Motherboard के ऊपर लगाया जाता है।CPU को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। CPU ही सभी Computer के भीतर हो रही सारी गतिविधियों को Manage करता है। CPU की स्पीड जितनी ज्यादा होगी उतनी जल्दी ही आपका कंप्यूटर किसी भी काम को प्रोसेस करता है। 

RAM/रैम 
RAM का पूरा नाम Random Acess Memory  होता है। Computer System की Short Term Memeory होती है। जब भी कंप्यूटर किसी भी प्रकार की Calculations करता है तो RAM उस Result को Temporarily सेव कर लेती है। ये तभी तक उस रिजल्ट को Save रखती है जब तक आपका कंप्यूटर On रहता है, कंप्यूटर के Off होते ही इसकी Memory डिलीट हो जाती है। RAM को GB में मापा जाता है। रैम की Capecity जितनी ज्यादा होगी आपके कंप्यूटर की Performance भी उतनी ही बढ़िया होगी। 


HDD/हार्ड डिस्क ड्राइव 
HDD यानि Hard Disk Drive कंप्यूटर में Data को स्टोर करने के लिए सबसे जरुरी Hardware होता है, इसकी Capecity जितनी ज्यादा होगी, आप इसमें उतना ही ज्यादा Data स्टोर कर सकते हैं। आप इसमें Software, Document और अन्य Files स्थाई रूप से सेव कर सकते हैं। आजकल HDD की जगह लोग SSD Card का इस्तेमाल भी कर रहे हैं, SSD कार्ड की Technology HDD से उन्नत होती है। 

SMPS/सिस्टम मैन पावर सप्लाई/Power Supply Unit
इसे System Main power Supply, System Mode Power Supply और  Power Supply Unit के नाम से जाना जाता है। इसके द्वारा कंप्यूटर मदरबोर्ड को पावर सप्लाई दी जाती है। ये हर कॉम्पोनेन्ट को उसकी Capecity के अनुसार ही Power Supply करता है।  

Expansion Card/पीसीआई स्लॉट 
सभी Computers के Motherboard पर Expansion Slots होते हैं, इन्हे PCI/Peripheral Components Interconnect Card भी कहा जाता है। इन पर हम भविष्य में कोई भी Expansion Card जोड़ सकते हैं,  जैसे किVideo Card, Sound card, Network Card, Bluetooth Card (Adapter) इत्यादि। लेकिन आजकल के Motherboard में पहले से ही बहुत सारे Slots होते हैं। 

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 
Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :



Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…