कंप्यूटर की 10 खास विशेषताएं - LS Home Tech

Tuesday, March 29, 2022

कंप्यूटर की 10 खास विशेषताएं

कंप्यूटर की 10 खास विशेषताएं

आज का युग कंप्यूटर का युग है, ओर ये हमारे जीवन के साथ इस तरह से जुड़ चुके हैं, जैसे इनके बिना हमारा काम अधूरा हो जाये। आज कंप्यूटर का इस्तेमाल घर से लेकर स्कूल, प्राइवेट ओर सरकारी कार्यालय में लगभग सारे काम कंप्यूटर पर हो रहा है। कंप्यूटर ने हमारे जीवन को बहुत ही सरल बना दिया है। इसी कारण हम आज कंप्यूटर पर बहुत हद तक आश्रित हो गए हैं। कंप्यूटर क्रांति के बाद से हमारे देश ने बहुत ही तरक्की की है। आज हम इसी विषय को आगे बढ़ाते हुए जानेंगे कंप्यूटर की विशेषताएं क्या-क्या है? What are the Computer characteristic
What are the Computer characteristic

1. Speed
स्पीड यानी कि गति कंप्यूटर की पहली और सबसे खास विशेषता है, क्योंकि कंप्यूटर एक सेकंड से पहले ही करोड़ों-अरबों गणनाएं कर सकता है। उदहारण के लिए अगर कोई भी इंसान किसी भी तरह की गणना करता है तो उसे इसको करने में कुछ मिनटों का समय भी लग जाता है। जैसे कि 345x546x786x876 इसको अगर कोई इंसान कैलकुलेट करता है तो उसे इसके लिए कुछ समय चाहिए, लेकिन कंप्यूटर इसे तुरंत यानी Neno Second में करके आपको देता है। कंप्यूटर की स्पीड या गति को Mega Hertz/MHz ओर Gega Hertz/GHz में मापा जाता है। कंप्यूटर की इसी विशेषता के कारण हमें मोशम का पूर्वानुमान लग जाता है और हम कठिन से कठिन आंकड़ों को कुछ की पल में संसाधित कर सकते हैं।

2. Accuracy
एक्यूरेसी यानी सटीकता, कंप्यूटर की दूसरी सबसे बड़ी विशेषता है, क्योंकि कंप्यूटर Speed के साथ-साथ Accuracy भी देता है। इसका मतलब ये है कि कंप्यूटर गति के साथ सही परिणाम भी देता है, वो भी बिना किसी त्रुटि यानी Error के। कंप्यूटर तभी गलत परिणाम दिखाता है जब हमारे द्वारा उसके अंदर गलत डाटा डाला जाता है। देखिए कंप्यूटर भी एक मशीन है, इसके अंदर अगर हम सही Data डालेंगे तो ही ये सही परिणाम हमे देगा। यानी इसकी 100% एक्यूरेसी के लिए डाटा की एक्यूरेसी भी बहुत जरूरी होती है।

3. Storage
स्टोरेज यानी संग्रहण क्षमता, कंप्यूटर की तीसरी सबसे बड़ी विशेषता होती है। कंप्यूटर में हम बहुत ही बड़ी मात्रा में डाटा यानी आंकड़ों को संग्रहित या स्टोर कर सकते हैं। कंप्यूटर के अंदर स्टोर डाटा को कभी भी आसानी से Access किया जा सकता है। कंप्यूटर के अंदर Data को Store करने की क्षमता/Capacity को Kilobyte/KB, Megabyte/MB, Gigabyte/GB ओर Terabyte/TB में मापा जाता है। कंप्यूटर में स्टोरेज के लिए Harddisk, SSD ओर आजकल M.2 का इस्तेमाल किया जाता है। कंप्यूटर के शुरुआती दिनों में डाटा को स्टोर करने के लिए Megnatic Tape ओर Floppy Drive का इस्तेमाल किया जाता था।  

4. Diligence
डिलिजेंस यानी अनवरत/लगातार काम करने वाला। कंप्यूटर की ये भी एक खास खूबी है कि ये बिना रुके लगातार बिना किसी थकावट के काम करता रहता है। कंप्यूटर पर आप कितना भी काम करें, ओर लगातार कितने ही समय तक काम करें, या बदल-बदलकर काम करें, तो आपको थकान हो सकती है, लेकिन कंप्यूटर अपनी उसकी गति, सटीकता ओर एकाग्रता के साथ काम करेगा।

5. Versatility
वेर्सटीलिटी यानी बहुगुण योग्यता। कंप्यूटर एक Versatile मशीन है, जिसे आजकल हर क्षेत्र में इस्तेमाल किया जा रहा है। हर प्राइवेट ओर सरकारी संस्थान, स्कूल, कॉलेज, मेडिकल, विज्ञान संस्थान ओर मनोरंजन और जानकारी के लिए घर में इस्तेमाल किया जा रहा है।  

6. Autometic
Auto Working Ability भी कंप्यूटर की एक खास विशेषता है। कंप्यूटेट बिना यूजर के दखलंदाजी के भी सुचारू रूप से कार्य करने में सक्षम होता है। किसी भी प्रकार के परिणाम को प्राप्त करने के लिए यूजर को केवल इसमे डाटा ही डालना होता है, बाकी काम कंप्यूटर ऑटोमेटिक ही करता है, ओर आपके द्वारा डाले डाई डाटा के अनुसार आपको उचित परिणाम देता है। यानी हमारे कहने का अभिप्राय ये है कि कंप्यूटर की अंदरूनी कार्यप्रणाली अपने आप काम करती है।

7. Processing
देखिए कंप्यूटर तभी है, जब उसके अंदर प्रोसेसिंग का गुण है, बिना प्रोसेसिंग के कंप्यूटर शब्द का कोई महत्व नहीं रह जाता है। प्रोसेसिंग से हमे Output के के परिणाम मिलते हैं। कंप्यूटर प्रोसेसिंग के दौरान बहुत से आपरेशन को मैनेज करता है, जिसमे अलग-अलग तरह के डाटा को अलग-अलग तरीके से प्रोसेस किया जाता है।

8. Non Intelligent
कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है, जिसमे कोई Emotion नहीं होता, यानी इसे हम Dumb Machine भी बोल सकते हैं। इसमे अपने स्तर पर काम करने की समंझ नहीं होती। मतलब ये है कि जब तक इसमे कोई भी यूजर Instructions इनपुट नही करेगा, ये तब तक कोई काम नहीं करेगा।

9. Communication
कंप्यूटर के अंदर कम्युनिकेशन करने की क्षमता तो होती है, लेकिन एक अकेला कंप्यूटर किसी तरह का कोई भी कम्युनिकेशन नहीं कर सकता। निश्चित रूप से इसके लिए दूसरे कंप्यूटर और तार/Wire या बेतार/Wireless कनेक्शन की जरूरत होती है। 2 या 2 से ज्यादा कंप्यूटर ही आपस मे कम्युनिकेशन कर सकते हैं। कंप्यूटर कम्युनिकेशन का सबसे बड़ा उदाहरण है इंटरनेट। शुरुआत में इंटरनेट का इस्तेमाल कंप्यूटर से ही किया जाता था, जो कि आजकल हम मोबाइल से भी कर सकते हैं। इंटरनेट की मदद से हम कंप्यूटर पर किसी भी तरह का डाटा शेयर कर सकते हैं, बातचीत कर सकते हैं। यही कंप्यूटर कम्युनिकेशन की सबसे बड़ी उपलब्धि है।

10. Multitasking
कंप्यूटर के अंदर एक ही समय में एक से ज्यादा काम करने की क्षमता होती है। कंप्यूटर की इसी क्षमता को Multitasking कहा जाता है। कंप्यूटर में हम एक ही समय मे फ़िल्म या अन्य सॉफ्टवेयर इत्यादि डाउनलोड कर सकते हैं, साथ ही गाना भी सुन सकते हैं और साथ कि किसी भी तरह का अन्य काम जैसे कोई डॉक्यूमेंट तैयार कर सकते है, फोटो एडिट कर सकते हैं।

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी" "पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 

Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma
My YouTube: LS Home Design

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :





1 comment:

Advertisement

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Advertisement

Contact Form

Name

Email *

Message *

Wikipedia

Search results

Post Top Ad