कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने/How to become Computer Engineer - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Sunday, August 30, 2020

कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने/How to become Computer Engineer

 कंप्यूटर इंजीनियर कैसे बने/How to become Computer Engineer 

नमस्कार, हमारे Technology और Educational वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है। आपको हमारे इस पोर्टल पर Latest Technology और Educational ब्लॉग पढ़ने को मिलेंगे जिसमें आपके लिए बहुत जानकारी होती है। इसी जानकारी भरे आज के ब्लॉग में हम आपके लिए कंप्यूटर से जुड़े हुए फिल्ड की ही बात करने वाले हैं। तो आइये जान लेते हैं इसके बारे में। Computer Engineer Full Detail

जिंदगी में हर किसी का सपना होता है, की वो पढ़-लिखकर कुछ अच्छा काम या नौकरी करे। बहुत से ऐसे फिल्ड हैं, जहाँ आप काम कर सकते हैं। इन्ही में से एक फिल्ड होता है इंजीनियरिंग का, जिसमें भी विभिन्न प्रकार के इंजीनियर जॉब होते हैं, और इन्ही जॉब में एक होती है Computer Engineer को जॉब, जो की बहुत ही Technical होती है। देखिये इंजीनियर बनना हर किसी के बस की बात नहीं होती, हाँ अगर आप ठान लें तो आप कुछ भी कर सकते हैं। इसके लिए आपमें लगन और होंसला होना चाहिए। सबसे पहले आपको ये तय करना होगा की आपको कोनसी Engineering लाइन में जाना है। अगर आपकी रूचि कंप्यूटर इंजीनियरिंग में है, तो आपको हमारे इस ब्लॉग में पूरी जानकारी मिलेगी। इसमें हम आपको बताएंगे की आप कैसे एक सफल कंप्यूटर इंजीनियर बन सकते हैं।  

Computer Engineering क्या है?

कंप्यूटर इंजीनियरिंग कंप्यूटर टेक्नोलॉजी से जुड़ा हुआ फिल्ड है, जिसमें आपको केवल कंप्यूटर से सम्बंधित ज्ञान ही दिया जाता है, जिसमें कंप्यूटर के Hardware और Software शामिल होते हैं। दरअसल कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग/Electronic Engineering और कंप्यूटर साइंस/Computer Science का ही एक कॉम्बिनेशन होता है, जिसका फोकस सिर्फ कंप्यूटर के हार्डवेयर/Hardware और सॉफ्टवेयर/Software को डिजाईन करने में इस्तेमाल किया जाता है। यदि आप एक कंप्यूटर को किसी भी तरह से डिज़ाइन करना चाहते हैं, तो आपको इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का ज्ञान होना बेहद जरुरी होता है। कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको Computer Hardware और Software में से एक को चुनना होता है, जिसके बाद आप उसमें Specialization हासिल कर सकते हैं। साथ ही कुछ और चीजें भी शामिल होती हैं जिनके बारे में आपको हम आगे जानकारी दे रहे हैं।  

सॉफ्टवेयर इंजीनियर/Software Engineer 
Software इंजीनियरिंग में आपको सॉफ्टवेयर डेवलप्मेंट करने के लिए, सॉफ्टवेयर बनाने से जुडी हर बारीकी और Coding या Programming Language को सीखना पड़ता है। इनको सिखने के बाद ही आप कोई सॉफ्टवेयर डिज़ाइन कर सकते हैं। साथ ही सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में आपको हर वो चीज सिखाई जाती है, जिससे आप किसी भी सॉफ्टवेयर को उपयोगी और उन्नत बना सकें। 

हार्डवेयर इंजीनियरिंग/Hardware Engineering 
हार्डवेयर इंजीनियरिंग में आपको Computer के Physical पार्ट जैसे Keyboard, Mouse, Motherboard, CPU और अन्य Component के बारे में बताया और सिखाया जाता है, जिसमें रिसर्च और डिज़ाइन करना भी शामिल होता है। Networking ये जुड़ा हुआ काम भी हार्डवेयर इंजीनियरिंग के अंतर्गत ही आता है। आप स्पेशल नेटवर्किंग सिख कर भी नेटवर्क इंजीनियर बन सकते हैं। 

कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता/Qualification to become a Computer Engineer
कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए आपको 12वीं कक्षा साइंस और मैथ विषय के साथ कम से कम 60 प्रतिशत अंकों के साथ पास की हुई होनी चाहिए। आप 10 वीं कक्षा के बाद भी किसी Polytechnic या ITI में दाखिला ले सकते हैं। हाँ इसके लिए भी आपको एक टेस्ट को पास करना होता है, जिसके बाद ही आपको दाखिला मिल पाता है। इण्डिया में कई सारे एग्जाम है, जैसे की बीटेक/B.Tech, आईआईटी,IIT, या AIEEE ये आल इंडिया लेवल के एग्जाम होते हैं,  जिसके बाद ही आप इंजीनियरिंग पूरी कर सकते हैं।  

12वीं पास होने के बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करना होता है, जो हर साल कंडक्ट किये जाते हैं। इस एग्जाम में आपको पहले ही मेंशन करना होगा की आप CS यानि Computer Science के लिए फॉर्म अप्लाई कर रहे हैं। एग्जाम में पास होने के बाद ही आप किसी भी अच्छे कॉलेज में रैंकिंग के आधार पर CS में दाखिला पा सकेंगे। इसमें आपके नंबर जितने ज्यादा होंगे आपको अच्छे कॉलेज मिलने के चांस उतने ही ज्यादा होंगे। 

उपरोक्त सभी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद Computer Science and Engineering कोर्स में दाखिला ले सकते हैं, और कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए पढाई पूरी कर सकते हैं। Computer Engineering कोर्स 4 साल का होता है। कंप्यूटर इंजीनियर बनने के Pre Course आईटीआई/ITI और Polytechnic में 3 साल के होते हैं, जिसे आप 10 वीं के बाद कर सकते हैं। 

4 साल की Computer Science and Engineering की पढाई पूरी करने के बाद, आप एक कंप्यूटर इंजीनियर बन जायेंगे। लेकिन अगर आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग में Master Degree हासिल करना चाहते हैं तो आपको M. Tech में दाखिले के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होगा और इसे क्लियर करना होगा। इसके बाद आप इसमें दाखिला पा सकेंगे। कंप्यूटर इंजीनियर का कोर्स पूरा हो जाने के बाद आप किसी भी अच्छी Software, Hardware या Networking से सम्बंधित कंपनी में काम कर सकते हैं।    

यहाँ हम कुछ इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम की लिस्ट दे रहे हैं, जिनको क्लियर करके आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढाई कर सकते हैं..... 
  • AIEEE/All India Engineering Entrance Exams 
  • BITSAT/Birla Institute Of Technology and Science Admission Test  
  • DUCEE/Delhi University Combined Entrance Examination
  • EAMCET/Engineering, Agriculture and Medicine Common Entrance Test
  • GCET/Goa Common Entrance Test
  • IIT JEE/Indian Institute of Technology Joint Entrance Exam 
तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 

Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : LS Home Design

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

No comments:

Post a Comment

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot