LS Home Tech: फिंगरप्रिंट क्या है, फिंगरप्रिंट सेंसर का अविष्कार किसने किया ओर ये कितने प्रकार के होते है? What is fingerprint?
You can search your text here....

Tuesday, November 19, 2019

फिंगरप्रिंट क्या है, फिंगरप्रिंट सेंसर का अविष्कार किसने किया ओर ये कितने प्रकार के होते है? What is fingerprint?


दोस्तों नमस्कार, आज के इस आर्टिकल में हम विस्तृत रूप से जानेंगे की फिंगरप्रिंट टेक्नोलॉजी क्या है और कैसे काम करती है। इस बारे में अच्छी तरह जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें। 
फिंगरप्रिंट क्या है, फिंगरप्रिंट सेंसर का अविष्कार किसने किया ओर ये कितने प्रकार के होते है?


फिंगरप्रिंट क्या है?
फिंगरप्रिंट यानि अंगुलछाप या हम ये कह सकते है की हमारे हाथ की उँगलियों और अंगूठों के ऊपर बनी नाख़ून की विपरीत दिशा में बने लाइननुमा निशान होते है, पूरी दुनिया में ये निशान प्रत्येक व्यक्ति के अलग-अलग होते है। आजकल इन फिंगरप्रिंट की मदद से हम अपने किसी भी प्रकार के डिजिटल डॉक्यूमेंट को खोल सकते हैं। या बहुत सारे ऐसे काम हैं जो हम टेक्नोलॉजी स्तर पर इनसे कर सकते हैं। 

फिंगरप्रिंट सेंसर क्या है?
फिंगरप्रिंट सेंसर एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसके अंदर आप अपनी अंगुली से कीसी भी इलेक्टट्रॉनिक डिवाइस को डिजिटली खोल या बंद कर सकते है, आजकल शायद ही कोई अछूता हो इस टेक्नोलॉजी से। इस टेक्नोलॉजी से आप अपने फोन को अनलॉक कर सकते अपने लैपटॉप को ुनलिक कर सकते हैं और उसके अंदर भी आप बहुत कुछ काम कर सकते है। आधुनिक स्कूलों और दफ्तरों में अटेंडेंस के लिए फिंगरप्रिंट सेंसर मशीन का इस्तेमाल किया जाता है।  इस मशीन के द्वारा फिंगरप्रिंट से अटेंडेंस/हाजिरी लगती है। आजकल तो इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा उन चीजों में किया जाता है जिनको चुराए जाने का बहुत खतरा हो जैसे बैंक लॉकर , तिजोरी घर के दरवाजे इत्यादि उन सभी चीजों में इसका इस्तेमाल किया जाता है जिनको आप दूसरे लोगों से सुरक्षित रखना चाहते हो। फिंगरप्रिंट ही एक ऐसा उपाय है जिसे कोई दूसरा कॉपी नहीं कर सकता यानि बिना आपके फिंगरप्रिंट के कोई दूसरा आपके डिवाइस या अन्य उपागम को नहीं खोल सकता। 

कितना सुरक्षित है फिंगरप्रिंट !!
अगर आपका पर्सनल मोबाइल हो जिसमे इम्पोर्टेन्ट फाइल या नेटबैंकिंग या वो सभी एप्लीकेशन जिनका उपयोग आप अपने लेनदेन में करते हो तो आपके लिए ज्यादा सही है फिंगरप्रिंट पासवर्ड। देखिये पासवर्ड या पैटर्न को बाईपास या किसी भी तरह से कॉपी किया जा सकता है, लेकिन आप किसी के फिंगरप्रिंट को कॉपी नहीं कर सकते। फिंगरप्रिंट सेंसर को हम किसी भी तरीके से चकमा नहीं दे सकते। फिंगरप्रिंट पासवर्ड लगाने के बाद हम अपने स्मार्टफोन या अन्य डिवाइस को ज्यादा सिक्योर कर सकते हैं। आजकल फिंगरप्रिंट सेंसर तो लगभग सभी हाई क्लास डिवाइस में कंपनी देने लगी है। फिलहाल फ़िंगरप्रिंट सेंसर से युक्त लगभग 200 से ज्यादा डिवाइस एलेक्ट्रोइस स्टोरों पर उपलब्ध है। निश्चित तौर पर हम यही कह सकते हैं की फिंगरप्रिंट आग के जमाने की सबसे सुरक्षित टेक्नोलॉजी है। 


फिंगरप्रिंट सेंसर का अविष्कार किसने और कब किया?
वैसे तो फिंगरप्रिंट का इतिहास बहुत पुराण है। फिंगरप्रिंटिंग का पहला उपयोग 9वीं शताब्दी चीन में हुआ था, चीन के व्यापारियों ने अपने फिंगरप्रिंट्स को लोन के डॉक्यूमेंट की वेरिफिकेशन के लिए पहली बार इस्तेमाल किया गया था। 
उसके बाद  जोओ डे बर्रोज़/Joao De Barros  नामक एक यूरोपियन ने 14 सदी में फिंगरप्रिंटिंग का पहला नमूना रिकॉर्ड किया था। 

डिजिटल डिवाइस में फिंगरप्रिंट का उपयोग। 
सबसे पहले फिंगरप्रिंट सेंसर का उपयोग स्मार्टफोन निर्माता कंपनी मोटोरोला ने साल 2011 में अपने 4G स्मार्टफोन में दिया और बाद में एप्पल कंपनी ने 10 सितंबर 2013 को आईफोन 5S स्मार्टफोन के साथ दिया था। आजकल तो लगभग सभी कंपनी के फोन में फिंगरप्रिंट सेंसर आते है। आप देख ही रहे होंगे की सभी एटीएम से लेकर अटेंडेंस मशीन तक फिंगरप्रिंट सेंसर का इस्तेमाल  करते हैं। 

फिंगरप्रिंट सेंसर कितने प्रकार के होते है?
फिंगरप्रिंट स्कैनर या सेंसर इनको Biometric Fingerprint Scanner भी बोला जाता है। फिंगरप्रिंट सेंसर सामान्यत तीन प्रकार के होते हैं,  ऑप्टिकल फ़िंगरप्रिंट सेंसर, कैपेसिटिव फ़िंगरप्रिंट सेंसर
,अल्ट्रासोनिक फिंगरप्रिंट सेंसर। इनमे सबसे ज्यादा प्रयोग में ऑप्टिकल फ़िंगरप्रिंट सेंसर और कैपेसिटिव फ़िंगरप्रिंट सेंसर ही होते हैं।

ऑप्टिकल फ़िंगरप्रिंट सेंसर/Optical Fingerprint Sensor
इसमें आपके उंगली या अंगूठे की फोटो केप्चर की जाती है और उससे जब भी आप अपने मोबाइल या अन्य डिवाइस में अनलॉक करने के लिए अपनी उंगली लगाते हैं तो आपके फिंगर के जो निशान और लाइन को उस फोटो से मैच करा कर फोन या अन्य डिवाइस को अनलॉक किया जाता है। सामान्यत यह टेक्नोलॉजी/Technology हमारी उंगली या अंगूठे की फोटो लेकर और उससे सेव किये गए फिंगरप्रिंट से मैच/मिलान करा कर फिर हमारे Fingerprint को वेरीफाई करती है, अगर फिंगरप्रिंट सही मैच हो जाते हैं तो डिवाइस खुल जाती है। 
फिंगरप्रिंट क्या है, फिंगरप्रिंट सेंसर का अविष्कार किसने किया ओर ये कितने प्रकार के होते है?


कैपेसिटिव फ़िंगरप्रिंट सेंसर/Capacitive Fingerprint Sensor 
कैपेसिटिव फ़िंगरप्रिंट सेंसर ऑप्टिकल सेंसर से एडवांस Technology है, जिसमें इमेज सेंसर की जगह Capacitive plate और कैपेसिटर/Capacitor का उपयोग किया जाता है। सरल शब्दों में आपको समझाएं तो यह आपकी Fingerprint की लाइन और उन लाइनों के बीच में जो जगह होती है उनको इलेक्ट्रॉनिक चार्ज के रूप में capacitor में स्टोर कर लेता है। जैसे आप जब भी अपनी फिंगर को Capacitive प्लेट पर रखते हैं तो उस समय candector plate आपके फिंगर की लाइन और उन लाइन के बीच के स्पेस को अलग-अलग इलेक्ट्रॉनिक्स चार्ज के रूप स्टोर करेगा। इसके बाद में स्टोर चार्ज से आपके फिंगरप्रिंट को वेरीफाई करके आपके फोन  डिवाइस को अनलॉक कर देगा। 

अल्ट्रासोनिक फिंगरप्रिंट सेंसर/Ultrasonic Fingerprint Sensor
आज के युग की ये सबसे आधुनकि टेक्नोलॉजी/Technology है जिसको की Qualacom Snapedragon/क्वालकॉम स्नैपड्रैगन नाम की कंपनी ने बनाया है। यह एक प्रकार की 3D Fingerprint Technology है जिसका उपयोग सबसे पहले LeTv  Max Pro स्मार्टफोन में किया गया था।  इस Technology में हार्डवेयर में Ultrasonic ट्रांसमीटर और रिसीवर लगा हुआ होता है। जैसे ही आप Scanner पर अपनी उंगली रखते हैं तो Ultrasonic ट्रांसमीटर तुरंत सिग्नल भेजता है, जो आपके उंगली को टच करती है जिसमें से कुछ सिग्नल उंगली पर रह जाते है और बची हुई सिग्नल वापस डिवाइस पर आ जाते हैं। ये टेक्नोलॉजी वापस आने वाले सिग्नल को रिसीवर से रिसीव करके उससे 3D इमेज बनाता है। जो बाद में आपके मोबाइल में या अन्य डिवाइस में आपका Fingerprint store और वेरीफाई करता है। सिग्नल वेरीफाई करने के बाद आपका फोन या अन्य डिवाइस तुरंत अनलॉक हो जाता है।

हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें



Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma







No comments:

Post a Comment