LS Home Tech: फास्टैग क्या है, यह कैसे काम करेगा और इसके लिए अप्लाई कैसे करें! पूरी जानकारी। What is Fastag?
You can search your text here....

Monday, December 2, 2019

फास्टैग क्या है, यह कैसे काम करेगा और इसके लिए अप्लाई कैसे करें! पूरी जानकारी। What is Fastag?


भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा एक दिसंबर 2019 से राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजरने वाले सभी चार पहिया  वाहनों पर FASTAG लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। इस तकनीक का इस्तेमाल देशभर के नेशनल हाईवे/राष्ट्रीय राजमार्ग के टोल प्लाजा पर होगा। अभी आपके जेहन में यह सवाल जरूर होगा कि फास्टैग है क्या ओर इसे कैसे ओर कहां से लिया जाए। आइये हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दे देते हैं। पूरी जानकारी लेने के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

फास्टैग क्या है?
फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन या टोल राशि भुगतान करने की तकनीक है जिसमे आपको टोल प्लाजा पर अपनी गाड़ी रोकने की आवश्यकता नहीं होती। फास्टैग एक प्रकार का डिजिटल कार्ड होता है जिसमे RFID/रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन का इस्तेमाल होता है। इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन/सामने के शीशे पर लगाया जाता है। जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा की फास्टैग लेन पर लगे फास्टैग रीडर के नीचे से गुजरती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक या रीड कर लेता है। इसके बाद आपके फास्टैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है। इसमे आपको फायदा ये होगा कि आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाएंगे। आपके वाहन में लगा यह टैग/कार्ड आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना काम शुरू कर देगा। यहां ये बात भी ध्यान रखें कि आपके फास्टैग एकाउंट में टोल प्लाजा पर करते वक़्त जरूरी राशि या बैलेंस हो। जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा।


2 साइड का कैसे कटेगा फास्टैग/FASTAG चार्ज?
देखिए इसमे ज्यादा चिंता करने वाली कोई बात नहीं है आपको वही सुविधा मिलेगी जो अभी नगद भुगतान के वक़्त मिलती है जैसे अभी एक तरफ ही टोल प्लाजा से जाना हो तो उसी फीस 100 रुपये हो। अगर आपको उसी टोल प्लाजा पर 24 घण्टे के अंदर वापिस आना हो तो आपको दोतरफा चार्ज इकट्ठा देने पर इसमे काफी छूट दी जाती है। उदहारण के लिए आपको एक साइड ही जाना है तो उसके 100 रुपये अगर वापिस भी आना है तो उसके भी 100, अगर आप ये फीस अलग-अलग देते हैं तो आपको 200 रुपये देने होंगे। लेकिन अगर आप एक बार मे ही दोनों तरफ की पर्ची कटवाते हैं या फीस देते हैं तो आपको 200 की 140 रुपये ही देने होंगे। यहाँ आपको 60 रुपये दोतरफी पर्ची बनवाने पर डिस्कोउन्ट मिलेगा।


किसको जरूरत है फास्टैग की?
फिलहाल जो नया वाहन खरीद रहे हैं उन मालिकों को FASTAG के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि ये रजिस्ट्रेशन के समय पहले से ही उपलब्ध कराए जाएंगे। वाहन मालिक को बस FASTAG अकाउंट को एक्टिवेट और रिचार्ज करना होगा। यदि आपके पास पुरानी कार या अन्य चार पहिया वाहन है, तो आप उन बैंकों से FASTAG खरीद सकते हैं जो सरकार के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह/NETC कार्यक्रम से अधिकृत हैं।



कहां से ओर कैसे लें FASTAG?
 ये है उन बैंकों के नाम जहां से आप फास्टैग ले सकते हैं या ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। इनमें सिंडिकेट बैंक/Sindicate Bank, एक्सिस बैंक/Axis Bank, आईडीएफसी बैंक/IDFC Bank, एचडीएफसी बैंक/HDFC BAnk, भारतीय स्टेट बैंक/State Bank of India, आईसीआईसीआई बैंक/ICICI Bank, और इक्विटास बैंक/Equitas Bank शामिल हैं। आप पेटीएम/Paytm से भी FASTAG खरीद सकते हैं।


ऐसे करें अप्लाई फास्टैग के लिए। 
FASTAG को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल/POS लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन खरीदा जा सकता है, आप चाहें तो इसे घर बैठे ऑनलाइन भी बनवा सकते हैं। लंबी-लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना आसान है। FASTAG आवेदन करने की प्रक्रिया अलग-अलग बैंकों में थोड़ी अलग होती है। फिर भी आवेदन की मुख्य बातें लगभग सभी में समान होती हैं।

ऑनलाइन या ऑफलाइन लेने की प्रक्रिया।
1. FASTAG प्रीपेड खाता खोलने के लिए अधिकृत बैंक की ऑनलाइन FASTAG एप्लिकेशन वेबसाइट पर जाएं। FASTAG अकाउंट की खातिर ऑनलाइन आवेदन के लिए बैंक के साथ संबंध होना जरूरी नहीं है। बेशक आपका एकाउंट उस बैंक में न हो तो भी आप उस बैंक से फास्टैग ले सकते हैं।
2. ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आपको अपना निजी विवरण जैसे नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि फॉर्म में भरना होगा।
3. KYC/केवाईसी दस्तावेज विवरण जरूर डालें जैसे: ड्राइविंग लाइसेंस/DL, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या आधार कार्ड इत्यादि।
4. साथ ही इसमे आपको जिस वाहन के लिए फास्टैग लेना हो उसकी पंजीकरण विवरण जरूर दर्ज करें। वाहन पंजीकरण का मतलब वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट/RC ओर वाहन के नंबर से है।
5. जो भी दस्तावेज आपसे मांगे गए हो उन सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करें। इनमें केवाईसी दस्तावेज, वाहन मालिक की 1 पासपोर्ट साइज फोटो और RC शामिल हैं।
आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपका FASTAG अकाउंट बन जाएगा। आप अपने FASTAG खाते को ऑनलाइन या FASTAG ऐप के जरिए एक्सेस कर सकते हैं। आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/ एनईएफटी/आरटीजीएस का उपयोग करके या नेट बैंकिंग/Net Banking के माध्यम से अपने FASTAG खाते को रिचार्ज कर सकते हैं। रिचार्ज की जाने वाली अधिकतम राशि 1 लाख रुपये तक निर्धारित की गई है।


टोल प्लाजा ट्रांजेक्शन एलर्ट।
आपके सभी FASTAG लेनदेन के लिए आपको एसएमएस और ईमेल से अलर्ट मैसेज मिलेंगे। अभी सरकार FASTAG का उपयोग करके किए गए सभी राष्ट्रीय टोल भुगतानों के लिए 2.5 प्रतिशत या इससे ज्यादा का कैशबैक दे रही है।

हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए मोबाइल में हमारी पोस्ट ओपन करने के बाद सबसे निचे View Web Version पर क्लीक करें, ताकि आप हमारे बाकि की पोस्ट भी पढ़ सकें।
दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो, इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें जरूर लिखें



Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma




No comments:

Post a Comment