Skip to main content

सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते हैं? Types of CPU in Hindi

दोस्तों नमस्कार, हमारे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है, हम अपने इस पोर्टल पर Technology और Education से जुड़े आर्टिकल/पोस्ट लिखते हैं जो आपके बहुत काम के होते हैं। आप हमारे और आर्टिकल पढ़ने के लिए पेज के दाईं/Right तरफ जहाँ आपको आर्टिकल की लिस्ट मिलेगी वहां से हमारे सभी आर्टिकल पढ़ सकते हैं। आज का जो हमारा विषय है वो कंप्यूटर टेक्नोलॉजी से ही जुड़ा हुआ है जिसमे हम जानेंगे CPU कितने प्रकार के होते हैं। 
सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते हैं?

क्या होता है सीपीयू/CPU?
दरअसल सीपीयू/CPU कंप्यूटर को चलाने के लिए एक छोटा सा पुर्जा होता है। जिसे कंप्यूटर का मस्तिष्क/दिमाग कहा जाता है। सीपीयू/CPU का पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट/Central Processing Unit है। ये कंप्यूटर के अंदर मदरबोर्ड/Motherboard पर लगाया जाता है। सीपीयू/CPU का काम बिलकुल हमारे Brain यानि दिमाग जैसा ही होता है। जैसे हमारे शरीर में हमारा मस्तिष्क हमारे सारे प्रक्रियाओं/Functions को Control करता है, ठीक वैसे ही एक कंप्यूटर में भी सीपीयू/CPU उसके भीतर और बाहर हो रहे सभी फंक्शन्स को नियंत्रित करता है। इसकी इसी खासियत की वजह से इसे Brain of Computer कहा जाता है। सीपीयू/CPU को Processor, Central Processor, या Microprocessor इत्यादि नामों से भी जाना जाता है।

जब भी आप कोई नया कंप्यूटर या लैपटॉप खरीद रहे हो तो दुकानदार की और से आपको सबसे पहले सीपीयू/CPU के बारे में ही पूछा जाता है की आपको कोनसा सीपीयू/CPU चाहिए। इसलिए आप सभी का कंप्यूटर खरीदने से पहले ये जान लेना बेहद जरुरी है की सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते है। सीपीयू/CPU को उनकी गति/Speed के आधार पर कोर/Core के हिसाब से अलग-अलग केटेगरी में बांटा गया है। आप अपने काम के हिसाब से सीपीयू/CPU का चुनाव कर सकते हैं। दुनिया में कंप्यूटर प्रोसेसर निर्माता दो ही मुख्य कंपनियां हैं जो सीपीयू/CPU का निर्माण करती है एक है Intel और दूसरी है AMD .  

सीपीयू/CPU कितने प्रकार के होते हैं? Types of CPU in Hindi

सिंगल कोर/Single Core CPU
सिंगल कोर/Single core CPU पुराने ज़माने के सभी कंप्यूटर में लगते थे या जिनके पास आज भी पुराने कंप्यूटर मौजूद हैं उनमे आज भी हैं। कंप्यूटर में सबसे पहले सिंगल कोर/Single core CPU का ही प्रयोग किया गया था इस Processor द्वारा एक समय में एक ही Operation किया जा सकता था। सिंगल कोर प्रोसेसर Multi-Tasking के लिए सही विकल्प नहीं थे। इनमे जब भी User एक से ज्यादा Application run करता था तभी इनकी Performance बहुत ही धीमी हो जाती थी। इन प्रोसेसर की Clock-Speed बहुत ही कम होती थी। और किसी भी CPU की फंक्शन गति उसकी Clock-Speed के ऊपर ही निर्भर करती है। Single core CPU में Processor को Different sets of Data Streams में Switch Back और Forth करना होता है। 

डुएल कोर/Dual Core CPU
डुएल कोर/Dual Core CPU असल में Single CPU ही होता है, लेकिन इसमें दो Cores होते हैं। इसी कारण ये CPU दो CPU की तरह Function करता है। डुएल कोर/Dual Core CPU बड़े ही आराम से Multitasking को Manage कर सकता है वो भी efficiently के साथ। इस प्रोसेसर की Clock-Speed भी लगभग दुगनी हो जाती है जिसके कारण मल्टीटास्किंग आसान हो जाती है। Dual Core का ज्यादा Advantage लेने के लिए दोनों सीपीयू Operating system और जो Programs उसमें Run कर रहा है, दोनों में एक Special Code या Script का लिखा होना बहुत ही जरुरी है। इस कोड को SMT/Simultaneous Multi-Threading Technology कहा जाता है।  

क्वॉड कोर/Quad Core CPU
क्वॉड कोर/Quad Core CPU चार Single कोर CPU के बराबर काम करता है, क्यूंकि इसमें चार कोर एक साथ काम करती है। जिस पार्ककर से एक डुएल कोर/Dual Core CPU Work load को दो कोर में बाँट देता है ठीक उसी प्रकार से यह वर्क लोड को चार कोर में बाँट देता है। इसका मतलब ये नहीं है की ये किसी एक या Application की स्पीड को चार गुना कर देगा, ये सिर्फ Multitasking वर्क को ही जल्दी करेगा। जब एक साथ कंप्यूटर पर बहुत सारे काम करने हो तब इस प्रकार के सीपीयू का इस्तेमाल करते हैं जैसे - Video Editing, Designing, Game इत्यादि। 

हैक्सा कोर/ Hexa Core CPU 
हैक्सा कोर/ Hexa Core CPU में क्वॉड कोर/Quad Core के मुकाबले छः Cores होते हैं। इसलिए इसके काम करने की Speed और ज्यादा तेज होगी और मल्टीटास्किंग के लिए भी ज्यादा उपुक्त रहेगा। 

ओक्टा कोर/Octa Core CPU 
ओक्टा कोर/Octa Core CPU में आठ Cores होते हैं, जो मल्टीटास्किंग की गति को एक अलग ही स्तर तक ले जाते हैं। 

डेका कोर/Deca Core CPU 
जैसे जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हो रहा है आये दिन CPU में कुछ नया जुड़ रहा है, डेका कोर/Deca Core CPU इसमें दश Cores होते हैं, यह अब तक का सबसे Powerful CPU है जो, जो बड़े और लम्बे Project की Rendering या 3D, VFX मॉडलिंग के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है। 

दोस्तों यहाँ हमने जाना की सीपीयू/CPU कितने प्रकार हैं। हमारे अगले आर्टिकल में हम आपको CPU के कंपोनेंट्स के बारे में पूरी जानकारी देंगे। उपरोक्त जानकारी के बाद आप जान ही गए होंगे की सीपीयू/CPU एक Computer के लिए कितना महत्वपूर्ण है। अगर इसमें हमसे कुछ छूट गया हो तो कृपया हमें जरूर अवगत करवाएं ताकि हम इसमें सुधार कर सकें। 

Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…