Skip to main content

भारत में जमीन मापतौल की इकाइयां कोन-कोन सी हैं जाने विस्तार से। land measurement Unit

दोस्तों नमस्कार, हमारे वेब पोर्टल पर आपका स्वागत है। हम अपने इस पोर्टल पर टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से जुड़े आर्टिकल या जानकारी आपके लिए लाते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए लाये है भारत में भूमि/जमीन को मापने से जुड़ी हर वो इकाई या मात्रक जिसके द्वारा जमीन का मापतौल किया जाता है। हमारे देश में जमीन को मापने के लिए बहुत से मात्रक हैं क्यूंकि भारत एक विशाल जनसमूह वाला देश है, इसमें विभिन भाषाएँ और संस्कृति हैं, सभी के जमीन मापने के अलग-अलग मात्रक/इकाइयां हैं, इसलिए समपूर्ण देश में विविधताएं है। देश के अलग-अलग भागो में खेतों या जमीन के माप के लिए अलग-अलग-अलग नाप प्रचलित हैं जैसे - गज, बीधा, किल्ला, एकड, हेक्टेअर, मरला, कनाल  हाथ, गट्ठा, जरीब, बिस्सा,बिस्वॉनसी, उनवांनसी, कचवानसी, इत्यादि मात्रक या इकाइयों का प्रयोग होता है। इन सभी इकाइयों का मान पुरे देश में अला-अलग होता है।
land measurement Unit

गज land measurement Unit
गज भारतीय लम्बाई मापन में क्षेत्रफ़ल की सबसे प्रचलित इकाई है। इसके मान भारत के भिन्न क्षेत्रों में कुछ-कुछ बदलता है।
36 इंच (91.44 cm) बंगाल में
27 इंच (68.58 cm) मुम्बई में
33 इंच (83.82 cm) चेन्नई
33 इंच (83.82 cm) सरकारी सर्वेक्षण हेतु

एक बीघा land measurement Unit
सबसे प्रचलित बीघा भारत के कुछ हिस्सों तथा नेपाल एवं बांग्लादेश में जमीन की माप करने का पारम्परिक पैमाना है, इसका प्रयोग अब भी किया जाता है। भारत के  बंगाल, बिहार, गुजरात, असम इत्यादि में इसका प्रयोग होता है। एक बीघा 1500 से 2500 वर्ग मीटर तक होता है और यह भारत के अलावा नेपाल में भी प्रचलित है। राजस्थान में एक बीघा एक एकड़ से छोटा होता है, जबकि हरियाणा में एक एकड़ में 5 बीघे होते हैं। हर राज्य के हिसाब से बीघा में जमीन कम या ज्यादा है।

एक कट्ठा land measurement Unit
कठ्ठा वैदिक काल की लम्बाई मापन की इकाई रही है। यह न कि लम्बाई, वरन पुरे क्षेत्रफल के माप की इकाई है। यह भारत के साथ साथ नेपाल में भी प्रयुक्त होती है। यहाँ एक योजन् बराबर होता है चार कोस के। यानि 13.16 कि.मी. 100 योजन से एक महायोजन बनता है।
मुग़ल काल के 31वें वर्ष लगभग 1587 ई. में जमीन की पैमाइश हेतु पुरानी मानक ईकाई सन/सण की रस्सी से निर्मित "सिकन्दरी गज़" के स्थान पर "इलाही गज़" का प्रयोग शुरू किया। इलाही गज़ लगभग 41 अंगुल या 33 इंच के बराबर होता था। यह "तनब" तम्बू की रस्सी एवं "जरीब" लोहे की कड़ियों से जुड़ी हुई बाँस द्वारा निर्मित होती थी। अलग-अलग शासकों ने अपने शाशन काल में नए मापों का इज़ाद किया। शाहजहाँ के काल में भी दो नई मापों का प्रचलन हुआ, बीघा-ए-इलाही और दिरा-ए-शाहजहाँनी/बीघा-ए-दफ़्तरी। औरंगज़ेब के शासन काल में "दिरा-ए-शाहजहाँनी" का प्रयोग बंद कर दिया गया था, परन्तु "बीघा-ए-इलाही" का प्रयोग मुग़ल साम्राज्य के अंत तक चलता रहा।
कठ्ठा का मान भारत मे अलग अलग स्थानो पर अलग अलग है, जैसे-
एक कठ्ठा=1361.25 वर्ग फ़ीट (बिहार मे)
एक कठ्ठा= 2,880 वर्ग फ़ीट (267.56 m²).
एक कठ्ठा = 720 वर्ग फ़ीट

भारत में जमीन मापतौल की इकाइयां land measurement Unit
1 Gaj (एक गज) = 1 Yard (एक यार्ड)
= 0.91 Meters (0.91 मीटर)
= 36 Inch (36 इंच)
= 3×3 Feet (9 वर्ग फीट)
1 Hath (एक हाथ) =½ Gaj (आधा गज)
= 18 Inch (18 इंच)
1Gattha (एक गट्ठा) = 5 ½ Hath (साढे पांच हाथ)
= 2.75 Gaz (पौने तीन गज)
= 99 Inch (99 इंच)
1 Jareeb (जरीब) = 55 Gaj (55 गज)

क्षेत्रफल मापने के मात्रक
1 Unwansi (एक उनवांसी)
=24.5025 Sq Inch (24.5025 वर्ग इंच)
1 Kachwansi (एक कचवांसी)
=20 Unwansi (20 उनवांसी)
1 Biswansi ( एक बिसवांसी)
=20 Kachwansi (20 कचवांसी)
= 1 Sq. Gattha (एक वर्ग गट्ठा)
= 7.5625 Sq.Yard (7.5625 वर्ग गज)
= 9801 Sq Inch (9801 वर्ग इंच)
1 Bissa (एक बिस्सा) =20 Biswansi (20 बिस्वांसी)
= 20 Sq.Gattha (20 वर्ग गट्ठा)
1 Kaccha Bigha (एक कच्चा बीघा)
= 6 2/3 Bissa (6 2/3 बिस्से)
= 1008 Sq.Yard and 3Sq Feet (1008 वर्ग गज और 3वर्गफुट)
= 843 Sq. Meters (843 वर्ग मीटर)
1 Pakka Bigha (एक पक्का बीघा)
= 1 sq. Jareeb (एक वर्ग जरीब)
= 3 Kaccha Bigha (तीन कच्चे बीघे)
=20 Bissa (20 बिस्सें)
= 3025 Sq. Yard (3025 वर्ग गज)
= 2529 Sq. Meters 2529 वर्ग मीटर)
= 27225 Sq. Feet (27225 वर्ग फुट)
=165×165 Feet
=55×55 यार्ड
= 0.625 Acre (0.625 एकड)
= 0.253 Hectare (0.253 हेक्टेअर)
= 5 कनाल (एक कनाल में 20 मरला)
= 100 मरला
1 Acre (एक एकड) किला  = 4840 Sq. Yard (4840 वर्ग गज)
= 4046.8 Sq.Meters (4046.8 वर्ग मीटर)
= 43560 Sq. Feet (43560 वर्ग फुट)
= 0.4047 Hectare (0.4047 हेक्टेअर)
= 1.6 बीघा
= 8 कनाल
= 160 मरला
1 Hectare (एक हेक्टेअर)
= 2.4711 Acre (2.4711 एकड)
= 3.95 बीघा
= 11960 यार्ड
= 10000 Sq meters ( 10000 वर्ग मीटर)
1 Bigha एक बीघा 2529.2 वर्ग मीटर (27,225 वर्ग फिट) या २० कट्ठा(बिहार) में,
=2500वर्ग मीटर (राजस्थान) में1333.33 वर्ग मीटर (बंगाल)में
=14,400 वर्गफ़ीट(1337.8 m²) या 5 कट्ठा (आसाम) में,कट्ठा (कठ्ठा क मान भारत मे अलग अलग स्थानो पर अलग अलग है, जैसे)एक कट्ठा =1361.25 वर्ग फ़ीट (बिहार मे)एक कट्ठा= 2,880 वर्ग फ़ीट (267.56 m²).एक कट्ठा = 720 वर्ग फ़ीट1 बीघा= 20 कट्ठा (लगभग 2,603.7 m²)1 कट्ठा = 20 धुर (लगभग 130.19 m²)1 बीघा= 13.9 रोपनी1 रोपनी = 16 आना (लगभग 508.72 m²)1 आना= 4 पैसा (लगभग 31.80 m²)1 पैसा= 4 दाम (7.95 m²) गज

तो ये थी भारत में जमीन को मापने की विभिन्न इकाइयां, आशा करता हूँ आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी।  अगर इसमें हमसे कुछ छूट गया है तो कृपया हमे जरूर बताएं। अगर जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…