Skip to main content

एम एस वर्ड/M.S. Word क्या है/ Microsoft Word क्या है?

दोस्तों नमस्कार, हम अपने इस वेब पोर्टल पर Technology और Education से जुड़े आर्टिकल लिखते हैं। हमारे सभी आर्टिकल आप सभी लोगों द्वारा बहुत पसंद किये जा रहे हैं, इसलिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद। आज के इस आर्टिकल में हैं जानेंगे की एम एस वर्ड/M.S. Word क्या है/ Microsoft Word क्या है?
एम एस वर्ड/M.S. Word क्या है/ Microsoft Word क्या है?

एम एस वर्ड/M.S. Word/Microsoft Word इसको इन सभी नामों से जाना जाता है, M.S. Word/ Microsoft Word एक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है, जो कंप्यूटर पर वर्ड प्रोसेसिंग अर्थात कुछ लिखने से सम्बंधित काम हेतु प्रयोग में लाया जाता है। यह माइक्रोसॉफ्ट/Microsoft कंपनी का सॉफ्टवेयर हैं। जो कंप्यूटर के BASIC पैकेज के अंदर Office बंडल के अंदर आता है। ये सॉफ्टवेयर किसी भी भाषा में वर्ड प्रोसेसिंग के साथ सारे काम करें में सक्षम होता है। पूरी दुनिया में कंप्यूटर पर ऑफलाइन लिखने से सम्बंधित सारा काम इसी सॉफ्टवेयर पर  किया जाता है। आप इस सॉफ्टवेयर से डीटीपी/DTP का काम भी कर सकते हैं। 


कहाँ मिलगे कंप्यूटर में ये सॉफ्टवेयर आपको। 
सबसे पहले तो आपको ये बता दूँ की ये सॉफ्टवेयर आपको अपने कंप्यूटर में इनस्टॉल करना होगा या करवाना होगा, ये सॉफ्टवेयर अकेला नहीं आता, इसका पूरा बण्डल आता है जिसे Microsoft Office के नाम से जाना जाता है। आपको इसे इनस्टॉल करना होगा उसके बाद आप इस सॉफ्टवेयर को प्रयोग कर पाएंगे। इनस्टॉल करने के बाद आपको सबसे पहले Start मेनू में जाना होगा उसे बाद Programs को   खोलना होगा उसके बाद Microsoft Office को खोलना होगा यहाँ पर आपको M.S. Word मिलेगा जिस पर क्लीक करके आप इसे खोल सकते हैं। आप चाहें तो इस सॉफ्टवेयर का डेस्कटॉप/Desktop पर शॉर्टकट भी बना सकते हैं। Windows 8 और 10 में इसे आप Desktop पर Right Click करके भी सीधे इसे खोल सकते हैं। 

म एस वर्ड/M.S. Word की कुछ खासियतें। 
  • एम एस वर्ड/M.S. Word की सहायता से आप किसी भी प्रकार का टेक्स्ट डॉक्यूमेंट बना सकते हैं, आप इन डाक्यूमेंट्स को आससनी से एडिट कर सकते हैं। 
  • एम एस वर्ड/M.S. Word की सहयता से आप पीडीऍफ़/PDF बना सकते हैं। 
  • आप इसमें पेज मार्जिन और पेज बॉर्डर लगा सकते हैं, उनमे बदलाव कर सकते हैं। 
  • आप इसमें विभिन्न प्रकार के फॉण्ट/Font यानि लिखावट के डिज़ाइन प्रयोग कर सकते हैं। 
  • इसमें स्पेलिंग की गलतियां अपने आप ठीक हो जाती है या वो आपको खुद गलत स्पेलिंग के बारे में अक्षरों के निचे लाल लाइन देकर आगाह कर देता है। 
  • इसमें आप किसी भी डॉक्यूमेंट में पेज नंबर के साथ हैडर/Hadar और फूटर/Footer का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। 
  • आप इसमें किसी भी प्रकार की टेबल बना सकते हैं और उसे सम्पादित भी कर सकते हैं। 
  • एम एस वर्ड/M.S. Word में आपको मेल मर्ज/Mail Marge की सुविधा भी मिलती है। 
  • एम एस वर्ड/M.S. Word में आप एक पूरी पुस्तक भी लिख सकते हैं Table Of Content के साथ। 


एम एस वर्ड/M.S. Word प्रयोग हेतु कुछ जानकारी। 
  • मेन्यू /Menu बार : जैसे ही आप एम एस वर्ड/M.S. Word खोलेंगे आपको स्क्रीन पर Title Bar के थोड़ा निचे Menu Bar दिखाई देगा। यही से आप सभी प्रकार के टूल प्रयोग कर सकते हैं। एम एस वर्ड/M.S. Word टूल आपको Drop-down लिस्ट में मिलेंगे। 
  • टाइटल/Title बार : डॉक्यूमेंट के सबसे ऊपर होता है, यहाँ पर आपको Microsoft Word लिखा दिखाई देगा, साथ ही वो नाम भी दिखाई देगा जिस नाम से आपने उस डॉक्यूमेंट को सेव कर रखा होगा। 
  • फॉर्मेटिंग/Formatting टूलबार : इस टूलबार का प्रयोग हम किसी भी प्रकार के टेक्स्ट को व्यस्थित करने के लिए किया जाता है। जैसे की टेक्स्ट का फॉण्ट, आकर, टेक्स्ट का स्टाइल (Bold, Italic,Underline) इत्यादि होते हैं। 
  • रूलर/Ruler बार : जैसे ही हम ब्लेंक डॉक्यूमेंट फील खोलते हैं तो हमे पेज के ऊपर और बाईं तरफ एक पैमाने जैस लाइन दिखाई देती है, जिसे हम हटा भी सकते हैं और लगा भी सकते हैं। इस रूलर बोलै जाता है जो किसी भी पेज के साइज को बताने में हमारी मदद करता है। 
  • इनसेरटॉन/Insertion पॉइंट : जब भी आप वर्ड डॉक्यूमेंट ब्लेंक पेज खोलेंगे तब आपको एक ब्लिंकिंग करती हुई लंबवत रेखा दिखाई देगी, इसी रेखा को हम इनसेरटॉन/Insertion पॉइंट कहते हैं।  इसी रेखा के पास ही लिखे का काम शुरू किया जाता है, इस रेखा को हम अपने हिसार से कहीं भी इन्सर्ट कर सकते हैं। 
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…