कंप्यूटर ड्राइव विस्तृत जानकारी। Computer Drive Full Detail. - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, September 1, 2020

कंप्यूटर ड्राइव विस्तृत जानकारी। Computer Drive Full Detail.

कंप्यूटर ड्राइव विस्तृत जानकारी। Computer Drive Full Detail.

स्वागत है आपका हमारे वेब पेज LSHOMETECH पर जिसमे आपको COMPUTER ओर TECHNOLOGY से संबंधित हर प्रकार की जानकारी मिल जाएगी। आज के इस आर्टिकल में भी हम एक ऐसे ही विषय को लेकर आये हैं आपके जिसमे आपके बहुत से प्रश्नों का हल हो जाएगा जैसे कि, कंप्यूटर ड्राइव क्या होती है, ओर कंप्यूटर ड्राइव C ड्राइव से ही क्यों शुरू होती है, A ओर B से क्यों नहीं। आखिर इसके पीछे क्या माजरा है। इस संबंध में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें, ताकि आपके हर कंफ्यूज़न दूर हो जाये। आइये पहले जान लेते हैं, कंप्यूटर ड्राइव क्या होती है?
What is computer drive

कंप्यूटर ड्राइव क्या होती है? What is Computer Drive?
कंप्यूटर ड्राइव किसी भी कंप्यूटर के अंदर बने Hard Disk में बनाये गए पार्टीशन होते है, जिनको हार्ड डिस्क की क्षमता के अनुसार छोटा या बड़ा किया जा सकता है। मैन्युअल तरीके से आप इनकी Properties को बदल भी सकते हैं। इन्ही ड्राइव के अंदर कंप्यूटर का किसी भी तरह का Data सेव किया जाता है। इसमे C Drive को Operating System के लिए रिज़र्व रखा जाता है। C ड्राइव के अंदर Operating System ओर किसी भी Application Software के Backup Data के अलावा किसी भी अन्य तरह का डाटा अमूमन रखा ही नहीं जाता है। बाकी की ड्राइव जैसे D, E, F इत्यादि को अन्य डाटा को सेव रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

कंप्यूटर ड्राइव C ड्राइव से ही क्यों शुरू होती है?
ये प्रश्न सभी के लिए महत्वपूर्ण है, ओर इसे जानना भी बेहद जरूरी है, क्योंकि आप किसी भी कंप्यूटर में देखेंगे तो आपको कंप्यूटर ड्राइव की शुरुआत C ड्राइव से ही मिलेगी, इसके पीछे एक कारण है, जो बहुत ही रोचक है। दरअसल कंप्यूटर Hard Disk कंप्यूटर की शुरुआत के बहुत बाद में आयी थी, इससे पहले कंप्यूटर के अंदर किसी भी तरह के Data को सेव रखने के लिए कोई विशेष ड्राइव नहीं थी, तब डाटा को एक प्रकार की छोटी DATA STORAGE DEVICE जिसे FLOPPY  के नाम से जाना जाता है, उसका इस्तेमाल किया जाता था, ओर इस डिवाइस को चलाने के लिए Floppy Disk Driver का इस्तेमाल किया जाता था, ओर इसे Drive A के नाम के साथ कंप्यूटर में विस्थापित किया जाता था। ये तो हो गयी Drive A की बात, अब बात आती है Drive B की, तो जो फ्लॉपी डिस्क होती थी उसके भी दो Version होते थे, जिनमे पहले Version को Drive A के नाम से जाना जाता था ओर दूसरे को Drive B के नाम से। Floppy Disk की सबसे बड़ी समस्या उसकी मेमोरी का कम होना था, जिसके कारण इसकी जगह Hard Disk का इस्तेमाल किया जाने लगा, ओर ड्राइव A or B की जगह C ड्राइव भी कंप्यूटर में नज़र आने लगा, क्योंकि A ओर B ड्राइव पहले से ही Floppy के लिए रिज़र्व था तो Hard Disk Drive की शुरुआत C से करनी पड़ी। आज भी पुराने कंप्यूटर के अंदर A ड्राइव ओर B ड्राइव होता है, जिनमे से A ड्राइव कंप्यूटर के अंदर आपको Floppy Drive A के नाम से मिल जाएगा। इसे BIOS के अंदर जाकर आप Disable भी कर सकते हैं। अब चूंकि फ्लॉपी का प्रचलन बंद हो चुका है तो कंप्यूटर ड्राइव C से ही शुरू हो गए है, ओर लोगों ने भी इसे Operating System ड्राइव के रूप में स्वीकार कर लिया है।

किसी भी कंप्यूटर में Hard Disk Drive पार्टीशन के बाद जो भी ड्राइव होती है, वो CD/DVD ड्राइव या  USB/PEN DRIVE के लिए आरक्षित होती है।

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमारी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 
Join us :
My Facebook:  Lee.Sharma
My YouTube: LS Home Design

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :





No comments:

Post a Comment

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot