दीनार/Dinar क्या होता है? What is Dinar? - LS Home Tech

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, January 12, 2020

दीनार/Dinar क्या होता है? What is Dinar?

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है। आज के इस लेख में हम मुगलकालीन भारतीय मुद्रा दीनार के बारे में जानेंगे। साथ ही टेक्नोलॉजी  से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।
दीनार/Dinar क्या होता है? What is Dinar?

दीनार/Dinar क्या होता है?What is Dinar?
दीनार मुगलकाल में एक सोने का सिक्का होता था, जो की प्राचीन काल में एशिया और यूरोप में बहुत चलता था। उस वक़्त में दीनार और मोहर मुद्रा ही ज्यादा प्रसिद्ध थी। उन दिनों दीनार दरअसल एक सोने का सिक्का होता था। संस्कृत भाषा के ग्रंथों में दीनार का उल्लेख दीनार: के रूप में प्रयोग किया गया है। कुषाण काल में दीनार का वजन 124 ग्रेन यानि 8.35 ग्राम होता था, जबकि गुप्त काल में दीनार का वजन 144 ग्रेन यानि 9.33 ग्राम होता था। आज भी दुनिया के कई देशों में दीनार मुद्रा के रूप में प्रचलित हैं। लेकिन दीनार अब कागज के बने नोटों के रूप में प्रचलन में है। कुवैत, इराक, अल्जीरिया, बहरीन, जॉर्डन, लीबिया, मैसेडोनिअ, सर्बिआ और टुनिसिया ये वो देश हैं जहाँ आज दीनार धातु की मुद्रा के रूप में नहीं बल्कि कागज के नोटों के रूप में चलता है। मुस्लिम शाशकों के आने से पहले यह मुद्रा भारत में भी चलती थी। दीनार सिक्के का प्रयोग किसी समय यूरोप और एशिया के कई भागों में था। दीनार कहीं पर सोने से बना होता था तो कहीं पर चाँदी से बना होता था। भारत की तरह ही अरब और फारस में भी दीनार ही ज्यादा प्रचलित था।  

 World's most expensive currency, 
आज के दिन दीनार मुद्रा दुनिया की सबसे महंगी मुद्रा है, फ़िलहाल 1 कुवेती दीनार की कीमत 233.88 भारतीय रूपये है। यहाँ आपको ये भी बता दें की कुवेती दीनार/Kuwait Dinar ही सबसे महंगा है। 


दीनार का इतिहास। History Of Dinar 
"दीनार" शब्द को भारतीय इतिहास में मुगल हमलावरों के साथ आया हुआ माना जाता है। दीनार शब्द का मतलब "एक स्वर्ण/सोने की मुद्रा " या "मोहर" या "अशरफ़ि "होता है। दीनार शब्द की उत्त्पति रोमन इतिहास से भी जुडी हुई है। लगभग तीन शदी ईशा पूर्व स्वर्ण मुद्रा के तौर पर "रोमन गणतंत्र/Roman Republic" में इसकी शुरुआत हुई थी। रोम से ही "दिनारियस" अरब क्षेत्र में "दीनार"के रूप में पहुंचा था। अरबी फ़ारसी कोशकारों ने इसे सर्बी ही बताया है। वैसे फारस में भी दीनार का प्रचलन प्राचीन काल से ही था। अगर दीनार शब्द के धात्विक अर्थ को देखा जाये तो ये शब्द संस्कृत भाषा का लगता है। अब हमारे सामने सवाल ये है की क्या ये सिक्का/मुद्रा भारत से फारस और अरब होते हुए रोम में गया या फिर रोम से इस और आया होगा! 

दीनार/Dinar का संस्कृत में उल्लेख। 
भारतीय संस्कृति में दीनार किस हद तक रची-बसी थी, इसका उल्लेख आठवी सदी में लिखे गए 'दशकुमारचरित' में मिलता है। संस्कृत में दीनार का उल्लेख दीनारः के रूप में मिलता है। जिसमें "द्यूतक्रीड़ा" के संदर्भ में उल्लेख किया गया है कि 16000 दीनारों की बाजी में "द्यूत" अध्यक्ष के निर्णयानुसार आधी राशि जीतने वाले को और बाकी आधी राशि द्यूत अध्यक्ष व द्यूत सभा के कर्मचारी आपस में बांट सकते हैं।


रोम/Rome का दिनारियस/Dinyarish। 
रोम में भारतीय मसाले और मलमल की प्राचीन काल से ही बेहद मांग रही थी। क़रीब पहली सदी ईसा पूर्व से लेकर चौथी-पांचवीं सदी तक रोमन साम्राज्य से भारत के कारोबारी रिश्ते रहे है। 98 ई. में कुषाण सम्राट कनिष्क के जमाने का एक रोमन उल्लेख महत्त्वपूर्ण है- "भारतवर्ष हर साल रोम से साढ़े पांच करोड़ का सोना खींच लेता है।" जाहिर है यह आंकड़ा रोमन स्वर्ण मुद्रा दिनारियस के संदर्भ में बताया गया है। भारत के पश्चिमी समुद्र तट के जरिये ये व्यापार चलता था। भारतीय माल के बदले रोमन अपनी स्वर्ण मुद्रा दिनारियस/Dinyarish में भुगतान करते थे। ये कारोबारी रिश्ते इतने फले-फूले की दिनारियस दीनार के रूप में लंबे अर्से तक लेन-देन का जरिया बनी रही।


तो दोस्तो दीनार/Dinar क्या होता है? What is Dinar? आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।


Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे द्वारा लिखित और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :






No comments:

Post a Comment

About Me

My photo
दोस्तो नमस्कार मैं सुनिल/ली. शर्मा हमारे इस वेब पोर्टल का Technical Author और Founder हूँ। मेरा इस वेबसाइट को चलाने का मकसद है कि मैं लोगों को कंप्यूटर और आधुनिक जमाने की डिजिटल टेक्नोलॉजी के बारे में हर प्रकार की जानकारी दूँ, ताकि लोग आधुनिक तकनिकी के बारे में और ज्यादा जान सकें, मैं आप सभी से भी प्रार्थना करूँगा की आप लोग भी हमारे इस मुहीम से जुड़ें और अन्य दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ हमारे आर्टिकल शेयर करें। मैं YouTube पर भी एक चैनल चलाता हूँ जहाँ पर आप किसी भी प्रकार के कंप्यूटर के सामान्य सॉफ्टवेयर से लेकर एडवांस लेवल के 3D सॉफ्टवेयर को सिख सकते हैं।

Featured Post

आधुनिक जीवन और कंप्यूटर शिक्षा। Modern Life and Computer Education.

दोस्तों सबसे पहले तो आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार, जैसा की आप सभी को पता ही होगा की हम अपनी इस वेबसाइट पर Technology और Education से ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Follow Us Here

Post Top Ad

Your Ad Spot