कमर्शियल पायलट कैसे बने पूरी जानकारी, How to become commercial airline pilot. - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, February 14, 2019

कमर्शियल पायलट कैसे बने पूरी जानकारी, How to become commercial airline pilot.


दोस्तों जैसा की आपको पता ही होगा की हम अपनी इस वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं जो उन युवाओं के लिए बहुत उपयोगी होते हैं जो अभी पढ़ रहे हैं और आगे आने वाले जीवन में कुछ खास करना चाहते हैं। उन्ही के लिए हम अच्छी से अच्छी नौकरी से सम्बंधित लेख इस वेबसाइट पर डालते हैं ताकि जो लोग इस बारे में कुछ जानना चाहें तो वो सीधे हमारी वेबसाइट से पूरी जानकारी पा सकें। 
आज हम जो आपके लिए लेकर आये हैं वो है पायलट बनने से सम्बंधित पूरी जानकरी। एयरलाइन पायलट दो प्रकार के होते एक तो कमर्शियल पायलट और दूसरे एयरफोर्स पायलट। आज के इस लेख में हम कमर्शियल पायलट कैसे बनते है पूरी जानकारी देंगे। साथ ही अगले लेख में हम आपको बताएंगे की एयरफोर्स पायलट कैसे बनते हैं।  

How to become commercial pilot.

कोन से होते हैं कमर्शियल पायलट। Commercial Pilot
कमर्शियल पायलट वो होते हैं जो किसी सरकारी या गैरसरकारी एविएशन या उड्डयन कंपनी के हवाई जहाज उड़ाते हैं। जो सवारी या मॉल को इधर-उधर लेकर जाते हैं। जैसे Air India, Indigo, Indian Airlines इत्यादि। आप विभिन्न विदेशी कंपनियों में भी पायलट की जॉब पा सकते हैं जहाँ आप महीने के एक से चार लाख रूपये सैलेरी के रूप में कमा सकते हैं। 
कमर्शियल पायलट कैसे बने पूरी जानकारी। 
जिंदगी में कुछ बनना हर किसी का सपना होता है कुछ लोग इंजीनियर बनना चाहते है कुछ डॉक्टर, तो कुछ लोग पायलट बनना चाहते है। अगर आपको भी इस लाइन में इंटरेस्ट है, एक पायलट बनने में और आगे जाके आप भी हवाई जहाज उड़ाना चाहते है, लेकिन आप ये नहीं जानते की आखिर पायलट बने कैसे? एक पायलट बनने के लिए कितना खर्चा आता है। और साथ ही  इसके लिए हमें किस तरह की पढाई करनी चाहिए। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको स्टेप बाई स्टेप बताएँगे की कैसे आप पायलट बन सकते है, इसके लिए कोनसी पढाई आपको करनी चाहिए, और पायलट बनने के लिए एलिजिबिलिटी (Pilot Eligibility/Qualification)क्या होनी चाहिये। 

अगर सीधे शब्दों में बात की जाये तो पायलट बनना इतना आसान काम नही है, इसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी होती है। जैसा की हम ऊपर बता चुके हैं की पायलट भी दो तरह के होते कुछ एयर फ़ोर्स पायलट होते कुछ कमर्शियल पायलट होते है। जो पायलट हवाई जहाज उड़ाते है, एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए इन सभी के लिए अलग अलग प्रक्रिया है तो यहाँ पर हम आपको कमर्शियल पायलट (Commercial pilot) कैसे बने  इसकी पूरी जानकारी दे रहे है। 

कमर्शियल पायलट बनने के लिए योग्यता (eligibility criteria to become a pilot)

  1. 12th पास होना चाहिए(PCM) फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स सब्जेक्ट के साथ। 
  2. 12वी में कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए। 
  3. आपको भारत का नागरिक होना चाहिए। 
  4. हाइट (Height) कम से कम 5 फीट होनी चाहिए। 
  5. आपकी दृस्टि विज़न (Eye Vision) सही होना चाहिए। 

अगर उपरोक्त योग्यता आपके पास है तो आप एक पायलट बन सकते हैं। आगे पढ़े इन सब चीजों की पूरी डिटेल। 
  • 12वी पास करे साइंस विषय से

अगर आपको 12वी के बाद पायलट बनना है तो इसके लिए सबसे पहले आपको 12वी परीक्षा पास करनी होगी और वो भी साइंस संकाय में (PCM Combination) फिजिक्स (Physics) , केमिस्ट्री (chemistry) और मैथ्स (Maths) सब्जेक्ट के साथ। अगर आप अभी 10th की पढाई कर रहे है, तो दसवी पास करने के बाद सीधा साइंस सब्जेक्ट चुने तभी आप एक पायलट बन सकते है। 
साथ ही अगर आपने 12 वीं पास कर ली है तो आपके कम से कम 50% अंक होने चाहिए।  अगर आपके अंक 50%से कम है तो आप पायलट नहीं बन पाएंगे। 

  • इंग्लिश भाषा सीखें और परननसिएशन बेहतर बनाये। 
एक पायलट बनने के लिए आपको इंग्लिश भाषा में भी अच्छा होना चाहिए।क्यूंकि एक कमर्शियल पायलट को हर दिन देशों की यत्रकरणी पद सकती है। उस देश के हवाई नियंत्रण कक्ष के संदेश समझने के लिए  इंग्लिश अनिवार्य है। क्यूंकि इंग्लिश अंतर्राष्ट्रीय भाषा है जो पुरे विश्व में एविएशन अथॉरिटी  द्वारा प्रयोग की जाती है। 
  •  स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई करे। 

जैसे ही आप 12वी पास कर लेते है इसके बाद आपको पायलट बनने  के लिए सीधा SPL(Student Pilot License) यानि स्टूडेंट पायलट लाइसेंस  के लिए अप्लाई करना होगा। इसके लिए आपको DGCA यानि की Directorate General of Civil Aviation, Government of India के अंडर जो भी कॉलेज है, पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) को क्लियर करना होगा उसमे एडमिशन लेना होगा। इसके बाद आपको मेडिकल टेस्ट भी देना होता है।

स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए कुछ जरुर बाते है जो आपको पता होनी चाहिए। 
  1. 12वी में आपके पास (PCM) फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ्स होना चाहिए। 
  2. आपकी उम्र कम से कम 16 साल होनी चाहिए। 
  3. DGCA कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। 
  4. मेडिकल पास करना होगा। 
  5. आपके पास अच्छा खासा बैंक बैलेंस भी होना चाहिए। 

  • उपरोक्त पासिंग के बाद अब प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई करे। 

जैसे ही एसपीएल (SPL) क्लियर कर लें  इसके बाद आपको PPL यानि  प्राइवेट पायलट लाइसेंस (Private Pilot License) के लिए अप्लाई करना होगा। यहाँ पर भी आपको एक एग्जाम देना होगा और अपनी पायलट बनने की ट्रेनिंग पूरी करनी होगी। ये दूसरा स्टेप्स है पायलट बनने के लिए। SPL सर्टिफिकेट के बाद आपको PPL का सर्टिफिकेट चाहिए होगा। ये SPL से थोड़ा मुश्किल होता है, लेकिन अगर आप कुछ करने की ठान ले तो आप सबकुछ कर सकते हैं।
  • उसके बाद आपको कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए करना होगा। 

जैसे ही आप (SPL) और (PPL) की ट्रेनिंग पूरी कर लेते है, इसके बाद अब आपको सीधा डायरेक्ट एक कमर्शियल पायलट बनने के लिए CPL(Commercial Pilot License) यानि कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होगा। इसमें भी आपको कुछ एग्जाम देने होते है, कुछ टेस्ट देने होते है।  जैसे ही आप इस एग्जाम को भी क्लियर कर लेते है, इसके बाद आप एक कमर्शियल पायलट (Commercial pilot) बन जाते हैं।

अब सवाल आता है को एक कमर्शियल पायलट बनने के लिए कितना खर्च आ जाता है?
अगर आपको पायलट बनना है तो इसके लिए काफी खर्चा आता जाता है।  ये खर्च करीब 20 से लेकर 25 लाख तक हो सकता  है। ऐसा इसलिये होता है क्योंकी  इसमें आप ट्रेनिंग के दौरान जितनी भी बार प्लेन उड़ाओगे आपको उसके हिसाब से पैसे देने होते है। इसके साथ ही आपको कुछ दूसरे खर्च भी देने पड़ते हैं जो ट्रेनिंग के दौरान आपसे लिए जाते हैं। 


दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें कमेंट सकते है।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

3 comments:

  1. Replies
    1. IEEE Final Year projects Project Centers in Chennai are consistently sought after. Final Year Students Projects take a shot at them to improve their aptitudes. IEEE Final Year project centers ground for all fragments of CSE & IT engineers hoping to assemble.Final Year Projects for CSE

      Spring Framework has already made serious inroads as an integrated technology stack for building user-facing applications. Spring Framework Corporate TRaining .

      Specifically, Spring Framework provides various tasks are geared around preparing data for further analysis and visualization. Spring Training in Chennai

      The Angular Training covers a wide range of topics including Angular Directives, Angular Services, and Angular programmability.Angular Training

      Delete
  2. If you are not in a rush and want to save money more then keep your travel time options open. Consider arriving later or earlier during the day on even arriving or departing on different days. ucuz uçak bileti

    ReplyDelete

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot