What is Super Computer? सुपरकंप्यूटर किसे कहा जाता है और ये क्या कार्य करता हैं? - LS Home Tech

Home Top Ad

Post Top Ad

Thursday, January 24, 2019

What is Super Computer? सुपरकंप्यूटर किसे कहा जाता है और ये क्या कार्य करता हैं?

दोस्तों नमस्कार 
                      हमारे ब्लॉग में आपका स्वागत है, हम अपने आर्टिकल में टेक्नोलॉजी और एजुकेशन से सम्बंधित आपको सम्पूर्ण जानकारी देते हैं, इसी प्रकार की और जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट को ओपन कर जानकारी पा सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं सुपरकम्प्युटर के बारे में। सुपरकंप्यूटर के बारे में आपको पूरी जानकारी दी जाएगी इसलिए आप आर्टिकल को पुरा पढ़ें।  
How to be an IAS officer            How to be an IPS officer           What is web developer?
what is super computer, hybrid computer

सुपरकंप्यूटर किसे कहा जाता है? 
हम आम जिंदगी में जो कंप्यूटर इस्तेमाल करते हैं उसे साधारण कंप्यूटर कहा जाता है। साधारण कंप्यूटर से साधारण कार्य जैसे छोटी-मोटी गणना करना, इंटरनेट इस्तेमाल करना, पिक्चर देखना, टेक्स्ट टाइप करना इत्यादि साधारण काम ही किये जाते हैं, लेकिन सुपरकंप्यूटर का काम इन सब कामों के अलावा बहुत कम समय में बड़े-बड़े कैलकुलेशन, भविष्य गणना और मौसम के बारे में बताना, नेचुरल रिसोर्सेज के बारे जानकारी इकठ्ठा, धरती के अंदर छुपे वैज्ञानिक राजों को जानना इत्यादि का कार्य करता है। 

जहाँ एक आम कंप्यूटर को रखने के लिए छोटी टेबल हम प्रयोग करते हैं, वहीँ सुपरकम्प्युटर को स्थापित करने के लिए बहुत बड़ी वातानुकूलित बिल्डिंग की आवश्यकता होती है।

हमारे इस लेख में माध्यम से हम जानेंगे की सुपरकंप्यूटर क्या-क्या कर सकता है, इसकी कीमत कितनी होती है, और किस देश के पास सबसे तेज सुपरकंप्यूटर है?

दुनिया भर में आये दिन कुछ न कुछ तकनिकी विकास हो रहा है, हर दिन हमे किसी न किसी विषय पर कोई नया अनुसन्धान सुनने को मिलता है। जो भी अनुसन्धान साधारण से हटकर होता है उन्ही कार्यों को पूर्ण करने के लिए सुपरकम्प्युटर का ज्यादा प्रयोग किया जाता है। सुपरकंप्यूटर को वहां पर काम मे लिया जाता है जहाँ पर बहुत ज्यादा पॉवर और तेज गति के साथ रियल टाइम में गणना करने की जरूरत होती है। किसी भी कंप्यूटर को इस काबिलियत के आधार पर सुपर कहा जाता है कि वह कितना बड़ा कैलकुलेशन या गणना कितनी जल्दी कर लेता है। सुपरकंप्यूटर की गति की गणना फ्लॉप्स (Floating Points Operation Per Second/ FPOPS) में की जाती है।  साधारण कंप्यूटर कार्य की गणना "प्रति सेकेंड लाखों निर्देश" या Million Instructions Per Second (MIPS) में की जाती है। 
How to be an IAS officer            How to be an IPS officer           What is web developer?
जैसा की आपको पता ही होगा की एक साधारण कंप्यूटर को चलने के लिए प्रोसेसर की जरुरत होती है, ठीक उसी प्रकार एक सुपरकंप्यूटर में सिंगल प्रोसेस्सर की जगह हजारों प्रोसेसर होते हैं जो प्रति सेकंड अरबों और ट्रिलियन गणना करने में सक्षम होते हैं। सुपरकंप्यूटर समांतर प्रसंस्करण (parallel processing) के आधार पर काम करते हैं।  प्रत्येक काम को कई भागों में विभाजित किया जाता है, और प्रत्येक माइक्रोप्रोसेसर हर भाग में दिए गए कार्य को करता है। 

आईबीएम(IBM), पेपाल (PayPal) जैसी कई बड़ी कंपनियों द्वारा सुपरकंप्यूटर का उपयोग किया जाता है। ये कंप्यूटर ऑनलाइन लेनदेन में धोखाधड़ी को रोकने में मदद करते हैं। साथ ही कई कम्पनियाँ लोगों की पसंद और नापसंद के बारे में जानने के लिए भी सुपर कंप्यूटर का प्रयोग करतीं हैं। इसके अलावा ईंधन की खपत जानने और अच्छे उत्पादों की डिजाइन निर्माण के लिए कई ऑटोमोबाइल कंपनियां इन कंप्यूटरों का उपयोग करती हैं। सुपरकंप्यूटर, चिकित्सा क्षेत्र में शोध करने हेतु भी प्रयोग किये जाते हैं। 


सुपरकंप्यूटर की कीमत क्या होती है?
सुपरकंप्यूटर की कीमत इस बात पर निर्भर करती है कि यह कितनी फ्लोटिंग पॉइंट पर सेकंड्स(Floting point/second) की गति से गणना कर सकता है। सुपरकंप्यूटर जितना तेज होगा वह उतना ही महंगा होगा इसलिए सुपरकंप्यूटर को बनाने और इस्तेमाल करना इतना आसान नहीं होता है। सामान्य सुपरकंप्यूटर लगभग भारतीय मुद्रा के अनुसार 15 लाख में भी खरीदा जा सकता है लेकिन बड़े सुपरकंप्यूटर की कीमत 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुँच जाती है यानि करोड़ों-अरबों भारतीय रूपये। 

सुपरकंप्यूटर में  कोनसा ऑपरेटिंग सिस्टम होता है?
नए ज़माने के सुपरकंप्यूटर में Linux  “लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम” का इस्तेमाल किया जाता है। हालाँकि मैन्युफैक्चरर अपनी जरुरत के हिसाब से ऑपरेटिंग सिस्टम को चेंज भी कर लेते हैं। Linux/लिनक्स के आलावा Bullx SCS, SUSE Cent OS और Cray लिनक्स जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल भी किया जाता है। 

सुपरकंप्यूटर से किस प्रकार के काम किये जाते हैं?
सुपरकंप्यूटर की जरुरत वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग प्रयोगों जिनमें बहुत ज्यादा डेटाबेस और हाई लेवल के कैलकुलेशन या गणना के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन बदलते समय के साथ सुपरकंप्यूटर से लिया जाने वाला काम भी बदल गया है। सुपरकंप्यूटर बहुत तेज, शक्तिशाली और महंगे होते हैं, इसलिए इनका उपयोग वहीँ पर किया जाता है जहाँ पर बहुत बड़ा और तेजी से कैलकुलेशन करना होता इसके अलावा स्पेशल ऑपरेशनों में भी इसकी जरूरत होती है। 

सुपरकंप्यूटर से किये जाने वाले प्रमुख कार्य!

  • जलवायु अनुसंधान (Climate Research)
  • मौसम की भविष्यवाणी (Weather Forecasting)
  • तेल और गैस की खोज (Oil and Gas Exploration)
  •  शारीरिक सिमुलेशन (Physical Simulations)
  • आणविक मॉडलिंग (Molecular Modeling)
  • क्वांटम यांत्रिकी (Quantum Mechanics)
  • एनिमेटेड ग्राफिक्स (Animated Graphics)
  • परमाणु ऊर्जा अनुसंधान (Nuclear Energy Research)
  • तरल गतिशील गणना (Fluid Dynamic Calculations)
  • कोड ब्रेकिंग (Code-Breaking)
  • जेनेटिक एनालिसिस (Genetic Analysis)

विश्व के सबसे तेज सुपरकंप्यूटर। Sunway Taihu Light Super  Computer 
साल 2018 तक विश्व का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर चीन का सनवे ताइहुलाइट (Sunway Taihu Light) था, जिसका अनुमानित मूल्य 273 मिलियन अमेरिकी डॉलर है। विश्व का दूसरा सबसे तेज सुपर कंप्यूटर भी चीन का टियान -2 (Tianhe-2) है। इसकी कीमत लगभग 367 मिलियन अमेरिकी डॉलर है। 

अमेरिका ने पिछले साल "समिट" Summit Supercomputer नाम का एक सबसे बड़ा और अत्याधुनिक सुपर कंप्यूटर अनवील किया था। इस सुपरकंप्यूटर की परफॉर्मेंस सुनकर लोगों के होश उड़ गए थे। दरअसल इस कंप्यूटर की पीक परफॉर्मेंस स्पीड 200 petaflops के बराबर है। दूसरे शब्दों में कहें तो यह कंप्यूटर प्रति 1 सेकेंड में 200 quadrillion यानि (1,000,000,000,000,000) कैलकुलेशन कर सकता है। यह आंकड़ा सच में बहुत बड़ा है इसे आगे विस्‍तार से समझिए। फिलहाल अमेरिका के इस नए सुपर कंप्यूटर "समिट"Summit Supercomputer ने चाइना के सबसे बड़े और दुनिया के अब तक के सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर Sunway TaihuLight को भी पीछे छोड़ दिया है। इस तरह से सुपर कंप्‍यूटर के क्षेत्र में अमरीका एक बार फिर नंबर वन गया है।

भारत का सबसे तेज सुपरकंप्यूटर। Pratyush Supercomputer
आपको बता दें कि प्रत्यूष (Cray XC40) भारत में सबसे तेज़ सुपरकंप्यूटर है। इसकी मैमोरी 1.5 टेरा बाइट है। प्रत्यूष का उद्घाटन (8 जनवरी 2018) केन्द्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्षवर्धन द्वारा किया गया था और यह पुणे में 'भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान' (IITM) में स्थित है। भारत के सुपरकंप्यूटर की टॉप स्पीड 42.56 TFLOPS/s है जबकि चीन के सुपरकंप्यूटर की टॉप स्पीड 125,436 TFLOPS/s है। 

भारत में सुपर कंप्यूटर के नाम इस प्रकार हैं। 

  1. प्रत्यूष (Cray XC40),
  2. मिहिर (Cray XC40)
  3. InC1 - Lenovo C1040
  4. SERC - Cray XC40
  5. iDataPlex DX360M4

भारत की परम सीरीज (वर्तमान में “परम ईशान”  लेटेस्ट सीरीज है)

आसान शब्दों में यह कहा जा सकता है कि सुपरकंप्यूटर आज के ज़माने की आवश्यकता बन चुका है, और कुछ क्षेत्र तो इन पर इतने आश्रित हो गये हैं कि इन सुपरकंप्यूटर कि अनुपस्तिथि में उनका काम ही ठप पड़ जायेगा। 

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आयी होगी। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। आप हमें कमेंट करके बता भी सकते हैं कि आपको किसी विषय पर हमारी वेबसाइट पर जानकरी चाहिए, हम जल्द से जल्द वो जानकारी हमारी वेबसाइट पर आपके लिए उपलब्ध करने की कोशिश। हमरी इस जानकारी को दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद 


Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

No comments:

Post a Comment

Featured Post

5G टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान। Advantages and Disadvantages of 5G Technology.

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का विकास होता जा रहा है, टेक्नोलॉजी हमारे जीवन को समृद्ध बना रही है, इसके बहुत से फायदे होने के साथ ही कुछ नुकसान भी ...

Contact Form

Name

Email *

Message *

Newsletter

Advertisement

Post Top Ad

Your Ad Spot