Skip to main content

सैनिक स्कूल होता क्या है? दाखिले सम्बन्धी सम्पूर्ण जानकारी। What is a Sainik School? Complete admission information.

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम आपको भारतीय सैनिक स्कूल में बच्चों के एडमिशन से सम्बंधित पूरी जानकारी देने वाले हैं। कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं, या फिर आप साइट के दाईं और दिए गए लेबल को सेलेक्ट कर पढ़ सकते हैं। 
Sainik School Admission date

सैनिक स्कूल होता क्या है? दाखिले सम्बन्धी सम्पूर्ण जानकारी। Sainik School 
सैनिक स्कूल/Sainik School या सैनिक स्कूल सोसाइटी देशभर में रक्षा मंत्रालय द्वारा संचालित किये जाते हैं। इसके अंदर आने वाले दिनों के लिए सभी भारतीय सेनाओं के लिए सैनिक या अफसर तैयार होते है जो आगे चलकर किसी भी भारतीय सेना में अपना योगदान देते है। सैनिक स्कूल का एक मकसद रक्षा अकादमियों के लिए बेतरीन सैनिक तैयार करना होता है। सैनिक सोसाइटी द्वारा हर साल एक परीक्षा का आयोजन किया आता है, जिसमें छठी से नौवीं तक के बच्चे ही दाखिला पा सकते हैं।इसके लिए बच्चो की कुछ आयु सीमा भी निर्धारित की गई है। बाकि की पूरी जानकारी हम आपको आगे चलकर देने वाले हैं। भारत में फिलहाल 33 ऐसी सैनिक अकादमी है जो NDA और INA के लिए काम करती है। ये सभी अकादमी या स्कूल राज्य सरकारों और रक्षा मंत्रालय के अधीन आते हैं। सैनिक स्कूल में दाखिले के लिए सैनिक स्कूल सोसाइटी/Sainik School Socity हर साल जनवरी में इस परीक्षा का आयोजन करती है। इनसे सम्बंधित और अधिक जानकारी के लिए आप सैनिक स्कूल की आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लीक करें "सैनिक स्कूल सोसाइटी

अब लड़कियां भी ले सकती है दाखिला। 
साल 2018 तक सैनिक स्कूलों में केवल लड़के ही दाखिला पा सकते थे, लेकिन 2019 में लड़कियों के लिए भी प्रवेश परीक्षा ली गई थी, लेकिन तब लड़कियों के लिए उचित आवासीय प्रबंध न होने के कारण सुचारु रूप से  कार्य न हो सका। साल 2020-21 के लिए लड़कियों के लिए सभी उचित आवासीय प्रबंध कर लिए गए हैं।  

सैनिक स्कूल/Sainik School पूर्ण रूप से इंग्लिश माध्यम और आवासीय स्कूल होते हैं। सभी सैनिक स्कूलों में CBSE नई दिल्ली से समबन्धित पाठ्यकर्म लागू किया गया है। किसी भी सैनिक स्कूल में किसी भी विषय के स्टाफ की कोई कमी नहीं होती। सैनिक स्कूलों में प्रशिक्षण देने के लिए समस्त बुनियादी ढांचा और स्टूडेंट को अनुकूल वातावरण में ढलने के लिए व्यापक जमीन होती है।
सैनिक स्कूल के उद्देश्य। 
  • सैनिक स्कूल/Sainik School आधिकारिक रूप से देश की रक्षा सेवाओं के लिए छात्रों में नेतृत्व करने की क्षमता पैदा करने के लिए बनाये गए हैं। 
  • इनका दूसरा उद्देश्य समाज में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के बच्चों को देश के सशस्त्र बलों और दूसरे प्रसिद्ध सैन्य सेवाओं के लिए अधिकारी के रूप में शानदार करियर बनाने में छात्रों को सक्षम बनाना है। 
  • सैनिक स्कूल/Sainik School छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए कार्य करते हैं, ताकि वो माता-पिता और रास्त की अपेक्षाओं पर खरे उतर सके। 
  • सैनिक स्कूल/Sainik School छात्रों के तन, मन और चरित्र के गन विकसित करते हैं ताकि आज के छात्र कल के सम्मानित नागरिक बन सकें। 
  • ग्रामीण बच्चों को भी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ देश में आगे लाया जाना सैनिक स्कूल के मुख्य उद्देश्यों में से एक है।
  • इन स्कूलों का उद्देश्य बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से NDA/National Defence Academy के लिए तैयार करना होता है।  
AISSEE/All India Sainik School Entrance Exam द्वारा हर साल कक्षा 6 और 9 के लिए दाखिले किये हेट हैं। आइये अब जान लेते हैं सैनिक स्कूल में दाखिले से सम्बंधित जानकारी जैसे Schedule/अनुसूची, योग्यता/Eligibility, प्रवेश परीक्षा/Entrance Exam का पैटर्न/Pattern, सीटों की संख्या/Number of Seats और स्कूलों के फ़ीस स्ट्रक्चर/Fee Structure के बारे में पूरी जानकारी। 

सैनिक स्कूलों में दाखिले के लिए Eligibility Criteria/पात्रता मापदंड:
कक्षा 6:
छात्र ने कक्षा 5वीं CBSE द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल से उत्तीर्ण की हो। छात्र की आयु 10-12 वर्ष तक होनी चाहिए 
कक्षा 9:
छात्र ने कक्षा 8वीं CBSE द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल से उत्तीर्ण की हो। छात्र की आयु 13-14 वर्ष तक होनी चाहिए।

सैनिक स्कूलों में दाखिले के लिए आरक्षण नीति: 
सैनिक स्कूलों में 67% सीट उसी राज्य के लड़कों के लिए आरक्षित जहाँ सैनिक स्कूल स्थित है। और 33% अन्य राज्यों के लड़कों के लिए। 
इसके साथ-साथ आरक्षित सीटों में 25% रक्षा कर्मियों के बच्चों के लिए, 15% SC/अनुसूचित जाति, ST/अनुसूचित जनजाति के बच्चों के लिए आरक्षित होती हैं। 

सैनिक स्कूलों/Sainik School में दाखिले/Addmission के लिए प्रवेश परीक्षा का पैटर्न/Pattern :
कक्षा 6 के लिए :
विषय             गणित/Math 
कुल प्रश्न         50
कुल मार्क्स     150

विषय             सामान्य ज्ञान/GK 
कुल प्रश्न         25 

कुल मार्क्स      50 

विषय             भाषा/Language
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50

विषय             बुद्धि/Intelligence
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50

कुल प्रश्न /Total Questions     125
कुल अंक/Total Marks          300  

कक्षा 9 के लिए :
विषय             गणित/Math 
कुल प्रश्न         50
कुल मार्क्स     200 


विषय             भाषा/Language
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50

विषय             बुद्धि/Intelligence
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50

विषय             विज्ञान/Science 
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50


विषय             सामाजिक अध्यन /Social Studies  
कुल प्रश्न         25 
कुल मार्क्स     50

कुल प्रश्न /Total Questions     150
कुल अंक/Total Marks          400 

सैनिक स्कूलों के नाम सहित उनमे मौजूद में सीटों की संख्या सहित :


सैनिक स्कूल का नाम   कक्षा 6 के लिए सीट संख्या    कक्षा 9 के लिए सीट संख्या 
सैनिक स्कूल अमरवतीनगर 
90
06
सैनिक स्कूल अंबिकापुर 
85
05
सैनिक स्कूल बालाछड़ी 
60
05
सैनिक स्कूल कोरुकोण्डा 
60
25
सैनिक स्कूल घोड़ाखाल 
65
20
सैनिक स्कूल कुंजपुरा 
79
31
सैनिक स्कूल भुवनेश्वर 
80 to 100
03 to 05
सैनिक स्कूल चित्तौरगढ़ 
100
10
सैनिक स्कूल बीजापुर 
95
05
सैनिक स्कूल गोपालगंज 
70
12
सैनिक स्कूल कज़हाकूतम 
80
10
सैनिक स्कूल नागालैंड 
60
10
सैनिक स्कूल कोडागु 
85
30
सैनिक स्कूल पुरुलिअ 
66
14
सैनिक स्कूल रिवाड़ी 
90
20
सैनिक स्कूल रेवा 
70
15
सैनिक स्कूल तिलैया  
95
10
सैनिक स्कूल छिंगछिप 
60
60
सैनिक स्कूल सुजानपुर तिरा 
80
10
सैनिक स्कूल इम्फाल 
-
-
सैनिक स्कूल सतारा 
100
05
सैनिक स्कूल पुंगलवा 
110
20
सैनिक स्कूल गोलपारा 
115
15
सैनिक स्कूल नगरोटा 
55
-
सैनिक स्कूल लखनऊ 
-
-
सैनिक स्कूल झाँसी 
60
-
सैनिक स्कूल मैनपुरी 
-
-
सैनिक स्कूल चंदरपुर 
90
90
सैनिक स्कूल कालिकिरी 
70
-
सैनिक स्कूल कपूरथला 
-
-
सैनिक स्कूल कित्तूर 
-
-
सैनिक स्कूल ईस्ट सिआंग 
-
-
सैनिक स्कूल झुंझुनू 
100
-







हो सकता है कि आने वाले दिनों में कुछ और नए सैनिक स्कूल खुल जाएँ तो हम आपको उनकी जानकरी भी देंगे। मेरा ब्लॉग लिखने का मकसद यही है की मैं ज्यादा से ज्यादा जानकारी लोगों तक पहुंचा सकूं। हमारी इस जानकारी को लोगो तक पहुंचाने के लिए आप सभी पाठकों का सहयोग अपेक्षित है। आप ही इसे शेयर करके लोगों तक पहुंचा सकते हैं। तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर इससे सम्बंधित आप कोई सलाह या सुझाव हमें देना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आप हमारे दूसरे आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब भी कर सकते हैं। 
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…