LS Home Tech: भारतीय रेलवे का इतिहास सम्पूर्ण जानकारी Indian Railways History with full detail.
You can search your text here....

Thursday, February 7, 2019

भारतीय रेलवे का इतिहास सम्पूर्ण जानकारी Indian Railways History with full detail.

भारत एक विशाल देश है, साथ ही हमारे देश की आबादी भी बहुत ज्यादा है, आज हमारे देश में यातायात के बहुत पर्याय उपलब्ध है, लेकिन जो सबसे सस्ता और आम आदमी के लिए है वो है "इंडियन रेलवेज" जहाँ एक तरफ हमारे पास साधारण रेल है वहीँ हमारे पास बहुत सारी तीव्र गति की रेल भी है, और हर दिन रेलवे तरक्की के नए कृतिमान रच रहा है, अभी हम एक साधारण ट्रैन से बुलेट ट्रैन तक तो पहुँच ही गए हैं, अगर भारत के महानगरों की बात की जाये तो यहाँ पर मेट्रो ट्रैन आपके स्वागत के लिए हैं। तो आइये विस्तार से जान लेते हैं भारतीय रेल के इतिहास के बारे में। 
History of Indian railways full detail

भारतीय रेलवे को एशिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क के रूप में जाना जाता है। यह दुनिया का दूसरा सबसे विशाल रेल नेटवर्क है जो एक ही मैनेजमेंट के अंतर्गत चलाया जा रहा है। रेलवे के लिए देश में 115,000 किमी से भी ज्यादा लम्बाई के ट्रैक बनाए जा चुके हैं। हर दिन करीब 12,500 ट्रेनों पर 23 से 25 लाख यात्री सफर करते हैं। भारतीय रेल ट्रैक की कुल लंबाई 64 हजार किलोमीटर से भी ज्यादा है। वहीं अगर यार्ड, साइडिंग्स वगैरह सब जोड़ दिए जाएं तो यही लंबाई 1 लाख 10 हजार किलोमीटर से भी ज्यादा हो जाती है। भारतीय रेलवे का नेटवर्क दुनिया में अमेरिका, रूस और चीन के बाद चौथा सबसे बड़ा नेटवर्क है। हां, यह बात जरूर है कि तकनीक के मामले में ये तीनों देश भारत से कुछ आगे हैं, किंतु भारतीय रेलवे भी इनसे किसी भी मामले में आज कम नहीं है। 
भारत में सबसे पहले रेल 1853 में दौड़ी थी, सर्वप्रथम भारत में रेलगाड़ी को 16 अप्रैल 1853 को मुंबई और पुणे के बिच 35 किलोमीटर लम्बे रेलमार्ग पर चलाया गया था। इसे भाप के इंजन के साथ 14 डिब्बों के साथ चलाया गया था। इस पहली रेल के साथ ही भारत में रेलवे का जबरदस्त शुभारम्भ हुआ था। आज भारतीय रेलवे को विश्व की गिने चुने रेलवे मैनेजमेंट में गिना जाता है। जबकि चीन में इसके 23 साल बाद यानी 1876 में। जब भारत आजाद हुआ तो भारत में रेल नेटवर्क की कुल लंबाई 53,596 किमी० थी, जबकि चीन का रेल नेटवर्क सिर्फ 27,000 किमी०  ही था। आजादी के इन 65 वर्षों में भारत में केवल 10,000 किमी०  की या उसे कुछ ही अधिक बढ़ोतरी हो पाई है, जबकि चीन 78,000 किमी के रेल नेटवर्क के साथ भारत से काफी आगे निकल गया है तथा उसका रेल नेटवर्क भारत की तुलना में फैलता ही जा रहा है। चीन ने ठेठ तिब्बत की पहाड़ी तक रेल लाइन डाल दी है। 
History of Indian railways full detail

भारत की सबसे पहली हाई स्पीड ट्रेन : 
आपको याद दिलादें  कि वर्ष 2014 में प्रति घंटे 160 किलोमीटर की दर से ट्रेन चलाने के लिए एक सफल परीक्षण हुआ था। इसके कुछ महीनों बाद फिर सेमी हाई स्पीड ट्रेन 'गतिमान एक्सप्रेस' का परीक्षण हुआ। इस ट्रेन ने मात्र 90 मिनट में दिल्ली और आगरा के बीच की दूरी पूरी की थी और इस दौरान करीब 30 मिनट की बचत की गई।
भारतीय रेलवे के मुख्यालय एवं स्थापना दिवस

1 उत्तर रेलवे (उरे) 14 अप्रैल — 1952 दिल्ली
2 पूर्वोत्तर रेलवे (एनईआर) –1952 गोरखपुर
3 पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) –1958 गुवाहाटी
4 पूर्व रेलवे (पूरे) — अप्रैल 1952 कोलकाता
5 दक्षिण-पूर्व रेलवे (दपूरे) — 1955 कोलकाता
6 दक्षिण-मध्य रेलवे (दमरे)–2 अक्टूबर 1966 सिकंदराबाद
7 दक्षिण रेलवे (दरे) –14 अप्रैल 1951 चेन्नई
8 मध्य रेलवे (मरे) –5 नवंबर 1951 मुंबई
9 पश्चिम रेलवे (परे) –5 नवंबर 1951 मुंबई
10 दक्षिण-पश्चिम रेलवे (दपरे) –1 अप्रैल 2001 हुबली
11 उत्तर-पश्चिम रेलवे (उपरे) –1 अक्टूबर 2002 जयपुर
12 पश्चिम-मध्य रेलवे (पमरे) –1 अप्रैल 2003 जबलपुर
13 उत्तर-मध्य रेलवे (उमरे) –1 अप्रैल 2003 इलाहाबाद
14 दक्षिण-पूर्व-मध्य रेलवे (दपूमरे) –1 अप्रैल 2003 बिलासपुर
15 पूर्व तटीय रेलवे (पूतरे) –1 अप्रैल 2003 भुवनेश्वर
16 पूर्व-मध्य रेलवे (पूमरे) –1 अक्टूबर 2002 हाजीपुर
17 कोंकण रेलवे (केआर) –26 जनवरी 1998 नवी मुंबई
History of Indian railways full detail

सामान्य ज्ञान हेतु भारतीय रेलवे प्रश्नोत्तरी
1 भारत में पहली रेल कब चली थी                                             16 अप्रैल 1853 दोपहर 3:35 , दुरी 35 किमी
2 भारत में पहली रेल कहाँ से कहाँ तक चली थी                          बॉम्बे से ठाणे
3 भारत के पहले रेलवे सुरंग का क्या नाम है                               पारसिक सुरंग
4 भारतीय रेलवे का विश्व में कौन सा स्थान है                               दूसरा
5 भारतीय रेलवे का एशिया में कौन सा स्थान है                           पहला
6 भारत के पहले रेलवे पूल का क्या नाम है                                 डैपूरी वायाडक्ट (मुंबई-ठाणे रूट पर)
7 भारत का सबसे बड़ा रेलवे यार्ड कहाँ है                                   मुग़ल सराय
8 भारत का सबसे ज्यादा अक्षरों वाला रेलवे स्टेशन.                    श्री वेंकटानरसिम्हाराजूवरियापेटा (तमिलनाडु)
9 भारत का सबसे कम अक्षरों वाला रेलवे स्टेशन                        आईबी (उड़ीसा)
10 भारत में पहली इलेक्ट्रिक रेल कब चली                                 3 फरवरी 1925
11 भारत की पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन कहाँ से कहाँ तक चली            बॉम्बे वीटी से कुर्ला
12 भारत का सबसे लम्बा रेलवे पूल कौन सा है                           नेहरू सेतु (100,44 फीट)  सोन नदी पर 
13 भारत का सबसे व्यस्तम रेलवे स्टेशन कौन सा है                    लखनऊ
14 भारत की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन का क्या नाम है               शताब्दी एक्सप्रेस
15 भारत का सबसे पुराना चालू इंजन कौन सा है                         फेयरी क्वीन
16 भारत की सबसे रेलवे सुरंग कौन सी है                                   कोंकण रेल लाइन पर कारबुडे सुरंग (6.5 किलोमीटर)
17 भारत का ही नहीं अपितु विश्व का सबसे लम्बा प्लेट्फॉर्म कहाँ है      ख़ड़गपुर (2733 फीट)
18 भारत की सबसे लम्बी दूरी तय करने वाली ट्रेन कौन सी है        हिमसागर एक्सप्रेस जम्मू तवी से कन्याकुमारी
19 भारत में पहली मेट्रो ट्रेन कहाँ चली                                         कलकत्ता
20 भारतीय रेलवे का शुभंकर कौन है                                          भोलू हाथी
21 सबसे कम दूरी तय करने वाली शताब्दी एक्सप्रेस कौन सी है    नई दिल्ली – कालका शताब्दी एक्सप्रेस
22 पहली राजधानी एक्सप्रेस कब चलाई गयी                               1969 नई दिल्ली  से हावड़ा
23 पहली शताब्दी एक्सपेस कहाँ से कहाँ तक चली                      नई दिल्ली से झांसी
24 शताब्दी ट्रेनों का सञ्चालन किस व्यक्ति के जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में शुरू हुआ        पंडित जवाहर लाल नेहरू
25 भारत में रेल चलने की सर्वप्रथम परिकल्पना कहाँ की गयी थी।   मद्रास (वर्तमान चेन्नई )1832
26 सर्वप्रथम रेलवे बजट किसके द्वारा प्रस्तुत किया गया था            जॉन मथाई
History of Indian railways full detail

 भारतीय रेलवे कुछ स्मरणीय बातें :

  • सबसे तेज और धीमी चलने वाली ट्रेन :

नई दिल्ली-भोपाल शताब्दी इस समय सबसे तेज चलने वाली शताब्दी ट्रेन है। यह 150 किमी प्रति घंटे के हिसाब से फैजाबाद से आगरा पहुंचती है। इसके अलावा मेतुपलयम-ऊटी नीलगिरी पैसेंजर ट्रेन देश की सबसे धीमी चलने वाली ट्रेन में है। यह 10 किलोमीटर प्रति घंटे के हिसाब से चलती है। भारतीय रेलें दिन भर में जितनी दूरी तय करती हैं, वह धरती से चांद के बीच की दूरी का लगभग साढ़े तीन गुना है।

  • गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में नाम :

इंडियन रेलवे के नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को दुनिया के सबसे बड़े रूट रिले इंटरलॉकिंग सिस्टम के लिए गिनीज बुक्स में जगह मिली है।

  • पहली बार 1986 में हुआ कम्प्यूटरीकरण :

जुलाई 1986 में भारतीय रेल मंत्रालय ने कंप्यूटर पर भारतीय रेलवे की हर जानकारी और गतिविधि के लिए CRIS और ICRS जैसे संस्थानों की स्थापना की गई थी । इसके करह की घटना के बाद रेलबे के कम्प्यूटरीकरण की शुरुआत की गई थी ऑर इसकी तेजी से कम्प्यूटरीकरण को भी बढ़ावा मिला।  
 How to be an IAS officer            How to be an IPS officer           What is web development ?

  • रेलवे का शुभंकर 2003 में भोलू हाथी को बनाया गया था :

भारतीय रेलवे का शुभंकर भोलू हाथी है, जिसको रेलवे ने गार्ड के रूप में दिखाया है। यह शुभंकर एक हाथी का कार्टून है, जो अपने हाथ में एक ग्रीन लैंप लिए हुए है। इसको रेलवे के द्वारा 150 साल पूरा होने पर 16 अप्रैल 2002 को बेंगलुरु में प्रदर्शित किया गया था। इसके एक साल बाद रेलवे ने साल 2003 में भोलू को आधिकारिक तौर पर अपना शुभंकर घोषित किया।
रेलवे से जुड़ी अन्‍य जानकारी पढ़ें अगले पेज पर..

  • सबसे बड़े, छोटे नाम वाले स्टेशन :

भारतीय रेलवे स्टेशन में सबसे छोटा नाम ओडिशा का इब (IB) रेलवे स्टेशन हैं जो सिर्फ दो शब्दों का है। वहीं सबसे बड़े रेलवे स्टेशन के नाम के रूप में वेंकटनरसिंहराजुवारिपटा (Venkatanarasimharajuvariipeta) रेलवे स्टेशन है। इस नाम में कुल 29 अक्षर हैं।

  • सबसे पुराना भाप का इंजन : 

दुनिया का सबसे पुराने स्टीम इंजन से चलने वाली ट्रेन फेयरी क्वीन नई दिल्ली और राजस्थान के अलवर में चलती है। यह दुनिया का सबसे पुराना भाप वाला इंजन है। इस इंजन का नाम भी 'गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड' में शामिल हो चुका है। इसे अन्तराष्ट्रीय स्तर पर हेरिटेज अवार्ड भी मिल चुका है।

  • 111 जगह रुकती है ये ट्रेन :

हावड़ा-अमृतसर एक्सप्रेस 111 स्टॉपेज पर रुकती है। इसके अलावा दुनिया का सबसे लंबा 1366.33 मीटर का प्लेटफॉर्म गोरखपुर में है। इसके अलावा भारतीय रेलवे दुनिया का 9वां सबसे बड़े नियोक्ता के रूप में भी जाना जाता है। 

  • बिना रुके सबसे लंबी दूरी तक चलने वाली ट्रेन  :

त्रिवेंद्रम-हजरत निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस बिना रुके सबसे लंबी दूरी तक चलने वाली ट्रेन है। यह ट्रेन 528 किलोमीटर (वडोदरा और कोटा) के बीच का सफर बिना रुके तकरीबन 6.5 घंटे में पूरा करती है।

चिनाब रेल ब्रिज दुनिया का सबसे ऊंचा रेल ब्रिज :
जम्मू कश्मीर के रियासी जिले में चिनाब नदी पर बना रेलवे ब्रिज यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेल ब्रिज है। यह ब्रिज दिल्‍ली के कुतुबमीनार से पांच गुना ऊंचा और फ्रांस के एफिल टावर से भी ऊंचा होगा। 1315 मीटर लंबा यह अंडर कंस्ट्रक्शन ब्रिज चिनाब नदी पर बक्कल और कौरी के बीच बनाया जा रहा है। यह 2016 में बनकर तैयार होगा।
History of Indian railways full detail


  • आईआरसीटीसी के हिट्स 12 लाख प्रति मिनट तक :

भारतीय रेलवे की सहयोगी संस्‍था इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) को एक मिनट में 12 लाख हिट्स मिले थे। वहीं, 1 अप्रैल, 2015 को ऑनलाइन ट्रेन टिकट की बुकिंग के दौरान यह संख्या करीब 13.45 लाख प्रति मिनट के करीब पहुंच गया था।

  • भारतीय रेलवे के 4 साइट वर्ल्ड हेरिटेज में :

यूनेस्को ने भारतीय रेलवे के 4 साइट को वर्ल्ड हेरिटेज साइट के तौर पर शामिल किया है। यूनेस्को की सूची में दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे को 1999 में, मुंबई सीएसटी बिल्डिंग को 2004 में, नीलगिरि माउंटेन रेलवे को 2005 में और कालका-शिमला रेलवे को 2008 में शामिल किया गया।

  • दो राज्यों में बनी नवापुर रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग :

भारतीय रेलवे का नवापुर रेलवे स्टेशन दो राज्यों में बना हुआ है। इस रेलवे स्टेशन का पहला आधा हिस्सा महाराष्‍ट्र में है, जबकि दूसरा आधा हिस्सा गुजरात में है।

दोस्तों आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर हमारे द्वारा दी गई जानकरी अच्छी लगी तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Share करे तथा इस आर्टिकल संबंधी अगर किसी का कोई भी सुझाव या सवाल है तो वो हमें कमेंट सकते है।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma

No comments:

Post a Comment