Skip to main content

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, इसके प्रकार और महत्व क्या है? What is digital marketing, what is its type and importance?

डिजिटल मार्केटिंग/Digital Marketing
डिजिटल मार्केटिंग/Digital Marketing नये ग्राहकों तक पहुंचने का सरल माध्यम है। यह विपणन/व्यापर  गतिविधियों को पूरा करता है। इसे ऑनलाइन मार्केटिंग भी कहा जाता है। कम से कम समय में अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच कर विपणन करना ही डिजिटल मार्केटिंग है। यह प्रोध्योगीकि विकसित करने वाला विकासशील क्षेत्र है। डिजिटल मार्केटिंग/Digital Marketing में मुख्य रूप से ज्यादा से ज्यादा लोगों से जुड़ने के लिए Google Search, Social Media, email,mobile messages, mobile apps, podcasts page, electronic billboards, Radio channels और अन्य Websites का इस्तमाल किया जाता है। आजकल ऑनलाइन शॉपिंग/Online shopping, टिकट बुकिंगTicket booking, रिचार्ज/Recharges, बिल पेमेंट/Bill payments, ऑनलाइन ट्रांसक्शन्स/Online Transactions आदि जैसे कई काम हम इंटरनेट के ज़रिये कर सकते है। इंटरनेट के प्रति Users के इस  रुझान की वजह से  कंपनी अपने बिज़नेस के लिए Digital Marketing/डिजिटल मार्केटिंग को अपना रही हैं। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, इसके प्रकार और महत्व क्या है? What is digital marketing, what is its type and importance?

डिजिटल मार्केटिंग करने के लिये "Internet" ही एक मात्र साधन है, जिसके माध्यम से हम अलग-अलग तरीकों से अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते हैं। Digital Marketing कुछ प्रकार के बारे में हम आपको यहाँ बता रहे हैं। 

⇨ सर्च इंजन औप्टीमाइज़ेशन/SEO
⇨ सोशल मीडिया/Social Media
⇨ ईमेल मार्केटिंग/Email Marketing
⇨ यूट्यूब चेनल/YouTube Channel
⇨ अफिलिएट मार्केटिंग/Affiliate Marketing
⇨ पे पर क्लिक ऐडवर्टाइज़िंग या PPC marketing
⇨ एप्स मार्केटिंग/Apps Marketing

सर्च इंजन औप्टीमाइज़ेषन या SEO
Digital Marketing का यह एक ऐसा तकनीकी माध्यम है, जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन के परिणाम पर सबसे ऊपर जगह दिलाता है। जिसके कारण दर्शकों की संख्या में बढ़ोतरी होती है। इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट को की-वर्ड Key-Words और SEO guidelines के अनुसार बनाना होता है।

सोशल मीडिया/Social Media
सोशल मीडिया आज के जमाने में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला माध्यम है जो कई वेबसाइट से मिलकर बना है – जैसे Facebook, WhatsApp, Twitter, Instagram, LinkedIn आदि। सोशल मीडिया के माध्यम से व्यक्ति अपने विचार लाखों लोगों के समक्ष रख सकता है। जब हम कोई भी शोशल मीडिया या साइट देखते हैं तो इस पर कुछ-कुछ अन्तराल पर हमे अला-अलग प्रकार के विज्ञापन दिखते हैं। यह प्लेटफार्म विज्ञापन के लिये कारगार व असरदार जरिया होता है।

ईमेल मार्केटिंग/Email Marketing
किसी भी कंपनी द्वारा अपने उत्पादों को जनता तक ई-मेल के द्वारा पहुंचाना ई-मेल/Email मार्केटिंग कहलाता है। ईमेल/Email मार्केटिंग हर प्रकार से हर कंपनी के लिये आवश्यक है, क्योकी कोई भी कंपनी नये प्रस्ताव और छूट ग्राहको के लिये समय-समय पर देती हैं जिसके लिए ईमेल मार्केटिंग एक सही उपाय है।

यूट्यूब चेनल/YouTube Channel
यह सोशल मीडिया का सबसे प्रभावी माध्यम है, जिसमे उत्पादक अपने उत्पादों को लोगों के समक्ष प्रत्यक्ष रुप से पहुंचाना है, या प्रोयोगिक रूप से उसका इस्तेमाल जनता को दिखता है। लोग इस पर अपनी अभिव्यक्ति भी व्यक्त कर सकते हैं। ये आधुनिक जमाने का सबसे सफल माध्यम है जहां बहुत से लोगो की भीड़ रह्ती है। किसी भी कम्पनी द्वारा अपने उत्पाद को लोगों के समक्ष वीडियो बना कर दिखाने का सुलभऔर लोकप्रिय माध्यम है।

अफिलिएट मार्केटिंग/Affiliate Marketing
वेबसाइट, ब्लोग या लिंक के माध्यम से उत्पादनों के विज्ञापन करना Affiliate Marketing कहलाता है। इसमें आप किसी भी कंपनी के प्रोडक्ट को किसी वेबसाइट या ब्लॉग के अंदर लिंक के माध्यम से लोगों तक पहुंचाते हैं। ग्राहक उस लिंक को दबाकर उस प्रोडक्ट के मूल पेज पर पहुँच जाता है और वहां से उसे खरीद सकता है।

पे/Pay पर क्लिक ऐडवर्टाइज़िंग या PPC marketing
जिस किसी भी विज्ञापन को देखने के लिए आपको भुगतान करना पड़ता है, उसे ही पे पर क्लिक ऐडवर्टीजमेंट/Advertisement कहा जाता है। जैसा की इसके नाम से ज्ञात हो रहा है की इस पर क्लिक करते ही पैसे कटते हैं । यह हर प्रकार के विज्ञापन के लिये है। यह विज्ञापन जब आप कुछ देखते हैं उसके बीच में आते रह्ते हैं। यह भी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक प्रकार है।

एप्स मार्केटिंग/Apps Marketing
आजकल इंटरनेट पर अलग-अलग ऐप्स/Apps बनाकर लोगों तक अपना उत्पाद पहुंचाने और उस पर अपने उत्पाद का प्रचार करने को ऐप्स मार्केटिंग कहते हैं। यह डिजिटल मार्केटिंग का बहुत ही उत्तम माध्यम है। आजकल बड़ी संख्या में लोग स्मार्ट फ़ोन का उपयोग कर रहे हैं। बड़ी-बड़ी कंपनी अपने एप्स बनाती हैं और एप्स को लोगों तक पहुंचाती है। इनमे Flipkart, Amazon इत्यादि प्रमुख हैं। 

डिजिटल मार्केटिंग की उपयोगिताएं/Usability of Digital Marketing - in Hindi
आप अपनी वेबसाइट पर ब्रोशर/Browser बनाकर उस पर अपने उत्पाद का विज्ञापन लोगों के लेटेर-बॉक्स पर भेज सकते हैं। इसके माध्यम से कितने लोग आपको देख रहे हैं, यह भी पता लगाया जा सकता है।

वेबसाइट ट्रेफ़िक - ये जरूर देखें की सबसे ज्यादा दर्शकों की भीड़ किस वेबसाइट पर है, फिर उस वेबसाइट पर ही अपना विज्ञापन डाल दें ताकी आपको अधिक लोग देख सकें, और आप तक पहुँच सकें। 

Attribution मॉडलिंग - इसके द्वारा हम यह पता कर सकते है की आजकल लोग किस उत्पाद में रुचि ले रहे हैं या किन-किन विज्ञापनों को ज्यादा देख रहे हैं। इसकी जानकारी के लिए कुछ विशेष टूल का प्रयोग करना होता है जो की एक विशेष तकनीक के द्वारा किया जा सकता है। इसके माध्यम से हम अपने उपभोक्ताओं की हरकतें यानी उनकी रुचि पर नज़र रख सकते हैं।

आप अपने उपभोक्ता से किस प्रकार से सम्पर्क बना रहे हैं यह विषय अत्यंत ही महत्वपूर्ण है। आप उनकी आवश्यक्ता के साथ पसंद पर भी नजर बनाकर रखें। ऐसा करने से व्यापार में वृद्धि निश्चित रूप से होती है। 

तो दोस्तों ये तो थी Digital Marketing  सम्बंधित कुछ जानकारी, बाकि की सभी जानकारी हम आपको अपने पिछले लेख में दे चुके हैं जिसमें हमने आपको डिजिटल मार्केटिंग के बारे में विस्तार से बताया है। साथ ही डिजिटल उपयोगिता के बारे में भी बताया है। आप सभी से अनुरोध करूँगा की आप इसके लिए हमारे पिछले लेख को जरूर पढ़ें।  ये रहा पिछले लेख का लिंक : डिजिटल मार्केटिंग क्या है विस्तार से पढ़ें। 

दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :

Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…