Skip to main content

माइक्रो निश ब्लॉग क्या होता है? What is Micro Niche Blogging?

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज हम आपके लिए जो Micro Niche Blogging विषय की जानकारी लाये हैं जिसमें हम बताएंगे की माइक्रो निश ब्लॉग क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।
Micro Niche

सबसे पहले तो मैं आपको ये बता देता हूँ की जो आप अभी पढ़ रहे हैं वो मेरे ब्लॉग पढ़ रहे हैं। इंटरनेट पर किसी विशेष वेबसाइट विशेष विषय पर लिखित जानकारी को ब्लॉग कहते हैं। जैसे मैं आपको ये जानकारी अपने ब्लॉग के माध्यम से दे रहा हूँ। ब्लॉग्गिंग उन लोगों के लिए बहुत अच्छा काम है जो लोग स्वतंत्र रूप से किसी भी विषय पर लिखना चाहते हो, या ब्लॉगिंग के माध्यम से किसी भी प्रकार की जानकारी लोगों तक पहुँचाना चाहता हो। ब्लॉग्गिंग के लिए आप कोई भी विशेष विषय चुन सकते हैं जिसका आपको पूर्ण ज्ञान हो। जैसे की मैं ज्यादातर ब्लॉग Technology और Education से जुड़े लिखता हूँ। आज के जमाने में ब्लॉगिंग एक अच्छा पेशा है जिसमे आप खूब कमाई कर सकते हैं। अगर आप इंग्लिश में लिख सकते हैं तो ये फील्ड आपके लिए सबसे बेस्ट हो सकता है। अगर आप लोगों तक अच्छी जानकारी पहुंचा रहे हैं और आपकी वेबसाइट Google में रैंक कर जाती है तो आप महीने के लाखो रूपये कमा सकते हैं। आप ब्लॉग्गिंग में किसी भी विषय का चुनाव कर सकते हैं जैसे की मेडिकल, शिक्षा, तकनिकी, सरकारी योजना, बायोग्राफी, निबंध, भाषा, कंप्यूटर भाषा, दवाई, या अन्य कोई भी विषय जो आपके दिमाग में है उस पर विस्तृत रूप से ब्लॉग लिख सकते हैं। 

What is Micro Niche Blogging?  माइक्रो निश ब्लॉग क्या होता है?
अब बात करते हैं की Micro Niche Blogging क्या होती है? माइक्रो निश ब्लॉग्गिंग वो ब्लॉग्गिंग होती है, जिसमे किसी भी एक ही विषय पर या एक ही Keyword पर आपको अपने आर्टिकल लिखने होते हैं, इसमें आप उस विषय से सम्बंधित पूर्ण जानकरी अपने पाठकों को उपलब्ध करवाते हैं। इसे बनाने से पहले ये सुनिश्चित कर लें की आपको किस विषय की पूर्ण जानकारी है जिस पर आप Micro Niche ब्लॉग लिख सकते हैं, क्यूंकि इसमें आपको सभी पोस्ट उसी विषय से जुडी हुई लिखनी होती है। मान लीजिये आप मोबाइल से जुडी माइक्रो निश वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आपको केवल मोबाइल से सम्बंधित पोस्ट ही उस पर लिखनी होगी। स्वतंत्र ब्लॉगिंग में आप किसी भी विषय पर लिख सकते हैं। मैं आपको यहाँ यही सुझाव दूंगा की आप उसी विषय पर लिखें जिसकी आपको पूरी जानकारी हो। 

Micro Niche Blogging फायदे। 
इसकी सबसे बड़ी खूबी तो यही है की इसके लिए आपको रोज आर्टिकल लिखने की आवश्यकता नहीं होती, आप एक हफ्ते में एक पोस्ट भी लिख सकते हैं। 
Micro Niche Blog गूगल में बहुत ही जल्दी रैंक करते हैं, अगर आपका SEO ठीक तरिके से हुआ हो तो। 
Micro Niche Blogging में एक ही बार में आप 20 से 30 आर्टिकल पब्लिश कर सकते हैं। 
Micro Niche Blog सिर्फ एक ही टॉपिक पर लिखना होता है, जिसमे आपको महारत हो। 
Micro Niche वेबसाइट बनाकर आप लम्बे समय तक घर बैठे पैसे कमा सकते हैं। 
इसमें आपको एक सबसे बड़ा फायदा ये भी होता है की आपका ब्लॉग जितना पुरना होगा, आपकी वेबसाइट की रैंकिंग टॉप में आएगी। 

अगर आप भी बनना चाहते हैं एक अच्छे Micro Niche Blogger तो आपको निचे दी गई कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा। ब्लॉग वेबसाइट बनाने के लिए सबसे अहम होता है, एक अच्छे Keyword का होना जिस पर आप अपना Micro Niche Blog लिख सकें। आपका Niche Keyword जिसे आपने चुना है, उसके सर्च रिजल्ट अच्छे होने चाहिए। आपके ब्लॉग का चलना उसी Keyword पर डिपेंड करता है, कि आप कितना ट्राफिक अपने ब्लॉग पर ला सकते हैं। नीश ब्लॉग बनाते समय आप ऐसे टॉपिक का चयन करें जिस पर बहार के देशों से भी ट्रैफिक आता रहे, इसका आपको बहुत ज्यादा फायदा मिलेगा। अगर आप विदेशों से अपनी साइट पर ट्रेफिक ला सकें तो आप और भी ज्यादा कमाई कर पाएंगे। क्योंकि विदेश से आए ट्रेफिक और हाई सीपीसी/CPC पर अधिक इनकम जनरेट होती है। 

  • सबसे पहले एक अच्छा Keyword सर्च करें जिसकी सर्च कम से कम 5000 हो।  
  • Micro Niche Blog के लिए एक अच्छा डोमेन खरीदें। पहले आप blogger.com पर फ्री में शुरुआत कर सकते हैं। डोमेन समबन्धित आर्टिकल यहाँ पढ़ें :  डोमेन क्या होता है?
  • हमेशा अपने डोमेन को ब्लॉग कंटेंट से मिलता-जुलता ही खरीदें।
  • एक बात का हमेशा ध्यान रखें की आपका कीवर्ड किसी इ-कॉमर्स वेबसाइट के रिजल्ट में ना आता हो। 
  • आपके द्वारा प्रयोग किये जाने वाले Keyword पर Competition मध्यम या उच्च हो।  काम ना हो। 
  • Keyword के लिए आप Google Trendes Planner का इस्तेमाल कर सकते हैं।   

अगर आप ब्लॉग की दुनिया में नए-नए हो तो ब्लॉग का SEO हमेशा अच्छे तरिके से करें, क्योंकि उससे आपको ज्यादा ट्राफिक मिलने के चांस बढ़ जाते हैं। और आपके Keyword ब्लॉग का अच्छे से SEO होगा तो गूगल में जल्दी आपके पोस्ट रैंक करेंगे।  

SEO करने का सही तरिका।   यहाँ पढ़ें : SEO क्या होता है?
SEO दो तरीकों से होता है। ऑन पेज और ऑफ पेज। 

ऑन पेज/On Page SEO – 

  • अपने ब्लॉग को अच्छे तरीके से कम से कम दो हजार शब्दों से ऊपर लिखकर ही पब्लिक्स करें। 
  • अपने ब्लॉग में नियम अनुसार हेडिंग/Heading और सब हेडिंग/Sub Heading को क्रम अनुसार लगाएं। 
  • अपने ब्लॉग का पोस्ट टाइटल/Title, परमालिंक/Permalink और मेटा डिस्क्रिप्शन/Meta Description मैं अपने कीवर्ड/Keyword का इस्तेमाल जरूर करें। 
  • अपने ब्लॉग के अंदर इमेज/तस्वीर  में अल्ट/Alt टेक्स्ट/Text का इस्तेमाल जरूर करें।

ऑफ पेज/Off Page SEO –

  • अपनी ब्लॉग पोस्ट को किसी भी दूसरे शोशल मीडिया जैसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम,व्हाट्सप्प और अन्य सोशल नेटवर्क साइटों पर शेयर जरूर करें। 
  • अपनी ब्लॉग पोस्ट का या वेबसाइट का बैकलिंक/Backlink जरूर बनाएं। 
  • किसी अन्य वेबसाइट पर जाकर मिलते-जुलते आर्टिकलों पर कमेंट करें और अपना लिंक छोड़ें। 

ब्लॉग से पैसा कैसे कमाएं? How to earn money from Blog?
अगर आपका ये सारा काम हो जाता है, आपकी ब्लॉग साइट बन गई अच्छा SEO कर दिया आपने कुछ पोस्ट  या आर्टिकल भी लिखे और पब्लिश कर दिए। तो अब बात आती है पैसा कमाने की, कि पैसा किस तरीके से कमाया जाये इस साइट से!!!!! 

सबसे पहले अपननी ब्लॉग साइट को मोनेटाइज/MONETIZE करें।
ब्लॉग साइट त्यार होने के बाद आपको उस पर काम से काम 12 से 14 आर्टिकल लिखकर पोस्ट या पब्लिश करने होते हैं जिसके बाद आप Google Adsanse पर मॉनेटाइजशन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। जैसे ही आपकी वेबसाइट को Adsanse से अप्रूवल मिल जायेगा तो आप अपने कंटेंट पर Adsanse कोड लगाकर पैसा कमा। मॉनेटाइजशन के लिए आपको कुछ और बाते भी ध्यान रखनी होती है, जैसे की आपको अपनी साइट पर About Me और Terms And Conditions भी दिखानी होती है, लेकिन ये चीजे सिर्फ औपचारिकता के लिए ही होती है। एक बार आपके ब्लॉग पर ऐड/Add आने लग जाएँगी तो आपकी कमाई शुरू हो जाएगी। 

अगर आपको पैसे कमाने के लिए ऐडसेंस/Adsanse से  अप्रूवल नहीं मिला, तो आप मीडिया एंड ऐड नेटवर्क का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा आप और भी ऐड नेटवर्क और अन्य रिलेटेड एफिलिएट/Affiliate  प्रोडक्ट को प्रमोट कर उससे भी पैसा कमा सकते हैं।

दोस्तो आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी हमें जरूर लिखे, आप पोस्ट के नीचे Comment Box  में अपनी प्रतिक्रियाएं ओर अगर कोई सुझाव है तो वो भी लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही आप हमें हमारे द्वारा प्रकाशित नए लेख पढ़ने के लिए Subscribe भी कर सकते हैं।
Join us :
My Facebook :  Lee.Sharma
My YouTube : Home Design !deas

हमारे और आर्टिकल यहाँ पढ़ें :



Comments

Popular posts from this blog

आर्मी ऑफिसर कैसे बने। how to become Indian Army officer, what is NDA?

प्यारे बच्चो नमस्कार
में हमारी इस ब्लॉग वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी ओर एजुकेशन से संबंधित आर्टिकल लिखता हूँ, ऐसे आर्टिकल जो बच्चों के आने वाले भविष्य में काम आ सकें। हमारे आर्टिकल आपको किसी भी जॉब की पूर्ण जानकारी देने वाले होते हैं। हमारी इस जानकारी के माध्यम से बच्चे सही दिशा का चुनाव कर अपने भविष्य को सफल बना सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं कि आप भारतीय सेना में एक ऑफिसर कैसे बन सकते हैं, बेशक वो थल सेना, वायु सेना या जल सेना ही क्यों न हो। अगर आपमे देश सेवा करने का जज्बा है तो आप इस क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं, ऐसा नही की आपमे देश सेवा का जज्बा हो और आप इसमें जा सकते हैं, इसके लिए आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ेगी। अगर आप पढ़ाई में बहुत अच्छे हैं तभी आप इसमें सेलेक्ट हो सकते हैं। आइये जान लेते हैं NDA क्या है?
NDA यानी "National Defense Academy" ओर हिंदी में इसे "राष्ट्रीय रक्षा अकादमी" कहा जाता है, NDA दुनिया की पहली ऐसी अकादमी है जिसमे तीनो विंगों के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है।
आर्मी अफसर कैसे बने!
भारतीय सेना की तीन विंग हैं, army, air force and navel, अ…

Architecture क्या है ? Architect कैसे बने!

दोस्तों नमस्कार, हमारी वेबसाइट/Website LSHOMETECH पर आपका स्वागत है, हम अपने इस Portal पर Technology और Education से सम्बंधित आर्टिकल लिखते हैं, जो आपके लिए ज्ञान और जानकारी के प्रयाय होते है, आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Architect क्या होता है? कृपया पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट को पढ़ें, साथ ही टेक्नोलॉजी से जुडी किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट के बाईं/Left और दिए गए दूसरे आर्टिकल भी पढ़ सकते हैं।

आज का जो हमारा विषय है वो है आर्किटेक्ट कैसे बने और आर्किटेक्चर है क्या?  सबसे पहले इन दोनों शब्दों का हिंदी में अगर अनुवाद करे तो  आर्किटेक्चर का मतलब है - वास्तुकला
और  आर्किटेक्ट का मतलब है - वास्तुकार
यदि आपकी भी रुचि आर्किटेक्ट बनने की है, या फिर आपको भी नए-नए प्रारूप /डिजाइन बनाने का शौक है या फिर आप नई-नई इमारतों के बारे में प्लान या नक्शे बनाने का शौक रखते हैं तो आर्किटेक्चर इंजीनियरिंग आपके लिए सबसे बढ़िया रास्ता है जो आपको आपकी मनचाही मंजिल तक ले जाने में आपकी सहायता करेगा।
पहले जान लेते हैं आर्किटेक्चर या वास्तुकला क्या है?
दोस्तो वास्तुकला ललितकला की ही एक शाखा है, व…

DPC क्या होती है? What is DPC?

दोस्तों नमस्कार
                        आज के इस लेख में हम बात करेंगे की डीपीसी क्या होती है? और इसकी घर बनाते वक्त क्या जरूरत है यानी दीवारों के ऊपर डीपीसी लगाने की हमें क्या जरूरत पड़ती है किस कारण या किस चीज़ की रोकथाम के लिए हम डीपीसी लगाते हैं। साधारण दीवार के ऊपर भी आप इसको लगा सकते हैं।
डीपीसी क्या होती है?
दोस्तों आइए पहले जान लेते हैं कि डीपीसी का मतलब क्या होता है डीपीसी का मतलब होता है "Dump Proofing Course" यानी नीवं ओर ऊपरी दीवार के बीच  का जुड़ाव कहे  या व्यवधान कह सकते हैं जो कि आप के घर की सीलन या नमि को दीवारों में ऊपर चढ़ने से रोकता है और आपकी जो दीवारें हैं सदैव अच्छी बनी रहती है। सीलन नहीं होगी तो आप जो प्लास्टर करते हैं पेंट करते हैं वह कभी नहीं झडेगा या उखड़ेगा,वह बिल्कुल सही रहता है हमेशा हमेशा लंबे समय तक टिकाऊ बना रहता है। 
डीपीसी की जरूरत क्या है हमें!
प्यारे मित्रों जो डीपीसी होती है वह दो प्रकार की आप यूज़ कर सकते हैं दोनों डीपीसी के प्रकार में आपको बताऊंगा कि कौन-कौन से प्रकार होते हैं देखिए सबसे पहले जब भी हम हमारे घर की नींव का निर्माण करते हैं उ…